--Advertisement--

ऐसे बीहड़ के जंगलों में कठिन ट्रेनिंग से गुजरते हैं देश के जवान, देखें PHOTOS

सीआरपीएफ के जम्मू- कश्मीर से आए 410 नए कांस्टेबल को 7 दिन की कठिन ट्रेनिंग दी गई।

Danik Bhaskar | Feb 08, 2018, 03:30 AM IST
सीआरपीएफ के जम्मू- कश्मीर से आए 410 नए कांस्टेबल को 7 दिन की कठिन ट्रेनिंग दी गई। सीआरपीएफ के जम्मू- कश्मीर से आए 410 नए कांस्टेबल को 7 दिन की कठिन ट्रेनिंग दी गई।

पोहरी (ग्वालियर). दुश्मनों के दांत कैसे कट्टे करे या उन्हें मुहं तोड़ जवाब देने के लिए सीआरपीएफ के जम्मू- कश्मीर से आए 410 नए कांस्टेबल को 7 दिन की कठिन ट्रेनिंग दी गई। जिसमें उन्हें थोड़ा भोजन और कम सुख- सुविधाओं बीच रहना सीखाया। दुश्मनों से लंबे समय तक मुकाबला करना, भीषण सर्दी में कम कपड़ों में रात गुजरना सहित बाकि सुविधाओं के अभाव में 7 दिन तक जंगल में रहकर उन्हें कठिन घने जंगलों में रहना बताया। उप कमांडेंट के मुताबिक, सभी जवानों को जंगल में किस तरह रहना है के लिए ये कठिन ट्रेनिंग दी गई। जिसमें जवानों को सभी तरह की दुश्मनों से निपटने के लिए प्रशिक्षण देकर परिपक्व किया गया है।

1 माह की ट्रेनिंग के बाद दी ये 7 दिन की कठिन ट्रेनिंग
- आरटीसी जम्बू- कश्मीर से सीआरपीएफ के 410 जवान नए जवानों 1 माहीने की ट्रेनिंग देने के बाद उन्हें ये 7 दिन की कठिन ट्रेनिंग दी गई।

- यह ट्रेनिंग 103 बेच के सीटीसी, शिवपुरी में चल रही था।

- जिन्हें जंगल में सर्वाइव ट्रेनिंग पोहरी के ग्राम ककरा के घने जंगल में 1 से 7 फरवरी तक सीआरपीएफ के उप कमांडेंट, सदाराम सिंह, हिमांशु विंग कमांडर की ट्रेनिंग दी गई।

- इसके बाद इन जवानों को सीटीएटी का ट्रेनिंग दी गई। जिसके माध्यम से इन जवानों को देश के कोने- कोने में भेजा जाएगा।

- ट्रेनिंग के समापन पर 2 किमी की दूरी पर सभी जवानों को एसडीओपी अशोक घनघोरिया, थाना प्रभारी राजेंद्र शर्मा अन्य लोगों ने मौजूद थे।

जवानों को थोड़ा भोजन और कम सुख- सुविधाओं बीच रहना सीखाया। जवानों को थोड़ा भोजन और कम सुख- सुविधाओं बीच रहना सीखाया।
यह ट्रेनिंग 103 बेच के सीटीसी, शिवपुरी में चल रही था। यह ट्रेनिंग 103 बेच के सीटीसी, शिवपुरी में चल रही था।
ट्रेनिंग के बाद जवानों को देश के कोने- कोने में भेजा जाएगा। ट्रेनिंग के बाद जवानों को देश के कोने- कोने में भेजा जाएगा।
जवान जवान
जवान जवान