--Advertisement--

MBA कर खोली फर्जी बीमा कंपनी, रकम दोगुना करने का लालच दे ठगे डेढ़ करोड़

2.57 करोड़ रुपए की ठगी की जांच कर रही स्पेशल टास्क फोर्स ने दिल्ली से दो लोगों को गिरफ्तार किया है।

Danik Bhaskar | Feb 14, 2018, 07:41 AM IST

ग्वालियर . मुरैना में एक कारोबारी से बीमा कंपनी में रुपए जमा कराने के नाम पर 2.57 करोड़ रुपए की ठगी की जांच कर रही स्पेशल टास्क फोर्स ने दिल्ली से दो लोगों को गिरफ्तार किया है। ये दोनों फर्जी बीमा कंपनी चलाकर लोगों को तीन साल में रकम दोगुना करने का सांझा देकर लोगों को अपने जाल में फंसाते थे। पकड़े गए दोनों युवकों ने ग्यारह महीने में डेढ़ करोड़ रुपए की ठगी करने की बात स्वीकार की है। पकड़े गए युवकों का नाम रोहित उर्फ सिद्धार्थ मिश्रा निवासी खोड़ा कॉलोनी गाजियाबाद आैर दूसरा अंकुर तोमर निवासी संतनगर बुराडी दिल्ली बताया गया है। इनमें रोहित एमबीए पास है, जबकि अंकुर ने दिल्ली से ही बीकॉम किया है। मुरैना के जिस कारोबारी के साथ ठगी की वारदात की जांच एसटीएफ कर रही है उसके 90 हजार रुपए ही इन दोनों ने अपने खाते में ट्रांसफर किए हैं। पुलिस ने दोनों आरोपियों को 16 फरवरी तक की रिमांड पर लिया है। इनके गिरोह के साथियों को पकड़ने के लिए एसटीएफ दिल्ली जाएगी।


- एसटीएफ के इंस्पेक्टर चेतन सिंह बैस ने बताया कि कोतवाली मुरैना में कारोबारी मोहन लाल गर्ग ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि बीमा एजेंट बनकर कुछ लोगों ने उन्हें कॉल किया था और अलग-अलग फर्माें में 2.57 करोड़ रुपए जमा करा लिए थे।

- इस मामले में शिकायत पर एसपी एसटीएफ सुनील कुमार शिवहरे ने पड़ताल शुरू की तो पता चला कि कारोबारी ने जिन फर्मों में रुपए जमा कराए हैं उनमें से एक पॉवर इफेक्ट सर्विसेस हैं। इस फर्म के बारे में जानकारी जुटाई तो पता चला कि यह दिल्ली के संतनगर बुराडी में रहने वाले अंकुर तोमर के नाम पर रजिस्टर्ड है।

- इस जानकारी के सहारे एसटीएफ अंकुर तोमर तक पहुंची और पूछताछ की शुरू की तो पता चला कि उसने रोहित उर्फ सिद्धार्थ मिश्रा निवासी खोड़ा कॉलोनी गाजियाबाद के साथ मिलकर यह फर्म 2015 में बनाई थी।

- इसके बाद बीमा के नाम पर इसमें इन्वेस्टमेंट कराने लगे। कंपनी के लोग 3 साल में धन दोगुना करने का झांसा देकर रुपए जमा कराते थे। वह कहते थे उनकी कंपनी मल्टीनेशनल है इसलिए लोगों को उनकी जमा रकम पर ज्यादा फायदा दे रहे हैं।


दो पार्ट में काम करती हैं कंपनी, ठगी का हिस्सा आधा-आधा

- पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ में पता चला है कि उन्होंने कंपनी बनाने के बाद फोन कर झांसा देने वाले ट्रेंड कॉलर्स को कंपनी से जोड़ा। इन्होंने लोगों को झांसा देकर 11 महीने में लगभग डेढ़ करोड़ रुपए कंपनी के अलग-अलग लोगों के एकाउंट में जमा करा लिए।

- ठगी के रुपयों में कंपनी शुरू करने वाले और ट्रेंड कॉलरों का आधा हिस्सा-हिस्सा रहता था। आरोपियों ने बताया कि दिल्ली के लक्ष्मी नगर इलाके में चलने वाली ज्यादातर कंपनियां इसी तरह का कारोबार कर रही हैं।

पत्नी को दूध में जहर देकर हत्या करने का आरोपी पकड़ा गया

- पिंटो पार्क इलाके में 6 महीने पहले पत्नी को दूध में जहर देकर हत्या करने के आरोपी पति को पुलिस ने मंगलवार की रात को गिरफ्तार कर लिया। टीआई गोला का मंदिर अजीत सिंह चौहान के अनुसार पिंटो पार्क में रहने वाली नर्स भावना बघेल की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी।

- इस मामले में भावना के बेटे आशीष (15) ने पुलिस को बयान दिया था कि उसकी मां को पिता वीरेंद्र बघेल ने दूध में जहर मिलाकर दिया था जिससे उनकी मौत हो गई। यही बयान आशीष ने न्यायालय में भी दिया था। इसके बाद पुलिस ने 25 अगस्त को वीरेंद्र बघेल के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया था अौर तलाश शुरू कर दी थी। श्री चौहान के अनुसार मंगलवार को उसके पिंटो पार्क सब्जी मंडी में सब्जी खरीदने की सूचना मिली थी इस सूचना पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया।