--Advertisement--

दिन भर साथ घूमे, रात में दारू पार्टी की, झगड़े तो दोस्त की कर दी हत्या

शहर के पास उरवाई गेट के पास बने कुंडी वाली माता मंदिर रोड पर लड़के की हत्या कर दी गई।

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 05:35 AM IST
इंसर्ट में मृतक। इंसर्ट में मृतक।

ग्वालियर . शहर के पास उरवाई गेट के पास बने कुंडी वाली माता मंदिर रोड पर लड़के की हत्या कर दी गई। हत्यारों ने पहले उसके साथ शराब पार्टी की। इसके बाद उनके बीच झगड़ा हुआ। इसमें हत्यारों ने उसका गला काटा और सिर पर भारी पत्थर पटक दिया। मृतक की जेब से मिले पर्स में निकले ड्राइविंग लाइसेंस से उसकी शिनाख्त हिमांशु के रूप में हुई। मृतक के परिजनों ने उसकी हत्या में तीन दोस्तों पर संदेह जताया है। बुधवार को घर से निकलने के बाद वह इनमें से एक दोस्त के साथ देखा गया था। इसके बाद गुरुवार को उसकी लाश मिली। क्या है मामला...

- गुरुवार सुबह करीब 6.30 बजे मंदिर का सेवक बच्चूलाल मॉर्निंग वॉक के लिए पहाड़ी से नीचे उतर रहा था। रास्ते में उसने एक सफेद रंग की खून से सनी साफी पड़ी देखी। उसके पास में जैकेट भी पड़ी थी। उसकी नजर झाड़ियों में पड़ी तो लाश दिखी। उसने मंदिर के पुजारी को बताया। पुलिस को सूचना दी गई। बहोड़ापुर पुलिस पहुंची।

- पुलिस ने देखा, मृतक के मुंह पर बड़ा पत्थर था और गला कटा हुआ था। इसके बाद पुलिस के कई आला अफसर पहुंचे। एफएसएल टीम ने मौके पर जांच की तो पांच गिलास, शराब की बोतल का कवर, नमकीन के पैकेट और एक चाकू बरामद हुआ। मृतक की जैकेट फटी हुई थी। शरीर पर नाखून के निशान थे। जेब में पर्स और मोबाइल मिला।

- पर्स में रखे आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस में दिए गए पते पर जब पुलिस पहुंची तो मृतक की पहचान हिमांशु पुत्र रामनिवास पचौरी (28) निवासी आनंद नगर ब्लॉक सी मकान नंबर-508 के रूप में हुई। हिमांशु की मां को लेकर पुलिस पहुंची तो शिनाख्त हो गई।

- मां स्नेहलता मानसिक आरोग्यशाला में नर्स और पिता बरौआ में टीचर हैं। परिवार ने उसके दोस्त सोनू श्रीवास्तव गेंडे वाली सड़क, सत्यभान गुर्जर, गरगज कॉलोनी, पिंकी किरार कोटेश्वर कॉलोनी, गजेन्द्र व बल्ली पर संदेह जताया है। पुलिस को पता लगा कि मृतक दिन में पिंकी और सोनू के साथ था। यही लोग रात में भी साथ थे। दो और लोगों के नाम सामने आए हैं।

नशे की लत के कारण अलग रहती थी पत्नी

- हिमांशु की शादी 2009 में रामदास घाटी की रहने वाली जूली से हुई थी। एक बेटा भव्य है। नशे में वह पत्नी को परेशान करता था, जिसकी वजह से वह एक साल से मायके रह रही है। दोस्तों की संगत छुड़वाने परिजनों ने हिमांशु को अलीगढ़ भेज दिया था।

दोपहर में कंप्यूटर की दुकान पर गया था, रात में घर नहीं पहुंचा तो मां ने कॉल किया, वॉट्सएप पर मैसेज आया- ओके
- हिमांशु का परिवार पहले गरगज कॉलोनी में रहता था। पिता रामनिवास ने कहा, वहीं सत्यभान गुर्जर रहता था। सोनू, सत्यभान और पिंकी किरार उसे नशा कराने ले जाते थे। घर से पैसा मंगवाते थे। इसके चलते उन्होंने वहां से मकान बेचकर विनय नगर सेक्टर-4 में मकान लिया।

- यहां भी यह लोग आने लगे तो आनंद नगर में किराए से रहने पहुंचे। यहां भी इन लोगों ने पीछा नहीं छोड़ा। बुधवार दोपहर करीब 1.30 बजे हिमांशु शीलनगर स्थित कंप्यूटर की दुकान पर गया था। वहां वह कंप्यूटर सीख रहा था।

- वहां से सोनू के साथ चला गया। रात 9.30 बजे तक जब नहीं लौटा तो मां ने फोन लगाया लेकिन आवाज कट रही थी। मां ने वॉट‌सएप पर मैसेज भेजकर पूछा कि कब तक आएगा। इस पर सिर्फ ओके रिप्लाय आया।

बहन ने भी पुलिस से की थी शिकायत
- मृतक की बहन रिया शर्मा की शादी हो चुकी है। उसके पति का निधन हो चुका है इसलिए वह बेटे के साथ यहीं रहती हैं। जब हिमांशु अलीगढ़ में था तो उसके दोस्तों ने घर पर रात में हंगामा किया था। इस पर उसने एसपी ऑफिस पहुंचकर शिकायत की थी।

- इस मामले में तीनों दोस्त माफीनामा लिखकर गए थे। हिमांशु के साले नितिन ने बताया, उसने दोस्तों से 20 हजार रुपए उधार लिए थे। इनका ब्याज लगाकर वे लोग करीब 1 लाख रुपया मांग रहे थे।

- इसी को लेकर अक्सर हंगामा करते थे। शादी के समय हिमांशु ट्रेवल एजेंसी चलाता था लेकिन शराब की लत पड़ी तो काम बंद कर दिया। बीच में प्रॉपर्टी डीलिंग का काम किया, वह भी छोड़ दिया।

पुलिस ने जब परिजनों के बताए आधार पर जांच की तो कुछ संदिग्ध हिरासत में आए और पुलिस को कई सुराग हाथ लगे हैं। जिन दोस्तों के साथ वह दिन में घूम रहा था, उन्हीं के साथ मिलकर रात में शराब पार्टी कर रहा था। तभी झगड़ा हुआ और दोस्तों ने ही उसे मौत के घाट उतार दिया।

पार्टी के दौरान हो गया था विवाद। पार्टी के दौरान हो गया था विवाद।
लाश। लाश।
X
इंसर्ट में मृतक।इंसर्ट में मृतक।
पार्टी के दौरान हो गया था विवाद।पार्टी के दौरान हो गया था विवाद।
लाश।लाश।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..