--Advertisement--

18 साल से भर रहे हैं पेट्रोल, अब पेट्रोलियम कंपनी में ही बेटे बना, 21.4 लाख का पैकेज

मोहित ने 12वीं की परीक्षा विज्ञान विषय में 100 प्रतिशत स्कॉलरशिप पर 9.4 सीजीपी के साथ पास की।

Danik Bhaskar | Jan 22, 2018, 09:15 AM IST
पेट्रोल पंप पर बेटे मोहित के साथ राम मनोहर मंडेलिया। पेट्रोल पंप पर बेटे मोहित के साथ राम मनोहर मंडेलिया।

ग्वालियर. यहां के रहने वाले राम मनोहर मंडेलिया पिछले 18 साल से पेट्रोल पंप पर गाड़ियों में पेट्रोल-डीजल भरने का काम कर रहे हैं। खास बात ये कि इस जॉब से उन्होंने बेटे की ऐसी परवरिश की और एजुकेशन दिलाई कि उनका बेटे मोहित का 21.4 लाख के पैकेज पर एक पेट्रोलियम कंपनी में बतौर सेल्फ ऑफिसर सिलेक्शन हो गया। मोहित IIM शिलांग के स्टूडेंट थे और वहीं उनका कैंपस सिलेक्शन हुआ है।

स्कूल से लेकर IIM तक मिली स्कॉलरशिप

- DainikBhaskar.com से बात करते हुए मोहित ने बताया कि उनके पिता अपनी लाइफ में बहुत कुछ करना चाहते थे लेकिन बीकॉम के बाद परिवार की स्थिति ठीक नहीं थी तो उन्होंने पेट्रोल पंप पर जॉब करना शुरू किया।

- यहां एक बार जुटे तो फिर कुछ और नहीं सोच सके। जब मेरी पढ़ाई की बारी आई तो पापा ने सोचा कि चाहे कुछ भी हो जाए बेटे को अपनी तरह मामूली काम नहीं करने दूंगा और उसे अफसर बनाऊंगा।

- उधर, पिता की स्ट्रगल वाली लाइफ देख मैंने भी पूरी लगन से पढ़ाई की। स्कूल से लेकर आईआईएम तक स्कॉलरशिप मिली। नतीजा... आईआईएम शिलांग के कैंपस प्लेसमेंट में एक पेट्रोलियम कंपनी में 21.4 लाख के सालाना पैकेज पर मोहित का बतौर सेल्स ऑफिसर पोस्ट पर सिलेक्शन हो गया।

- मोहित ने बताया कि अप्रैल के लास्ट वीक या फिर मई के फर्स्ट वीक में वे ज्वाइन कर लेंगे। उन्होंने बताया कि उनका कैंपस सिलेक्शन पिछले साल धनतेरस वाले दिन हुआ था।

अफसर बनने के लिए मोहित ने दो बार छोड़ी सरकारी नौकरी

- राम मनोहर कहते हैं कि मैं जो नहीं कर सका, उसे मेरे बेटे ने कर दिखाया। वह कहते हैं कि मोहित मुझसे हमेशा यही कहता था कि पापा, आप मेरे लिए इतना ज्यादा सोचते हैं तो मैं आपको निराश नहीं होने दूंगा।

- आप भी वादा करो कि जिस दिन मैं अच्छे पोस्ट पर ज्वॉइन करूंगा, उस दिन आप नौकरी से रिटायरमेंट ले लेंगे।

- राममनोहर बताते हैं कि मोहित ने 12वीं के एग्जाम में साइंस सब्जेक्ट में 100 परसेंट स्कॉलरशिप पर 9.4 सीजीपी के साथ पास की। बीएससी बायोटेक में एडमिशन लिया।

- फर्स्ट सेमेस्टर में गोल्ड मेडल मिला। इसके बाद 100 परसेंट वाइस चांसलर स्कॉलरशिप मिली। ग्रैजुएशन के बाद प्रतियोगी परीक्षाएं दीं। उसका चयन मंडी इंस्पेक्टर और रेलवे में हुआ।

सामने आई कई परेशानियां

- मोहित चाहता था कि वह नौकरी ज्वॉइन करके पिता की आर्थिक रूप से मदद करे, लेकिन राम मनोहर चाहते थे कि चाहे कितना भी संघर्ष करना पड़े, मोहित अफसर ही बने।

- उनके समझाने पर मोहित ने कैट की तैयारी करने का निर्णय लिया। अब सवाल था कि कोचिंग की मोटी फीस का इंतजाम कैसे किया जाए। राम मनोहर ने यहां भी हार नहीं मानी। रिश्तेदारों से कर्ज लिया।

- दूसरी ओर मोहित के स्कूल की ओल्ड ब्वॉयज एसोसिएशन ने भी हौसला बढ़ाकर कोचिंग फीस में हेल्प की। पिता के विश्वास और मोहित के परिश्रम का परिणाम था कैट 2015 का रिजल्ट, जिसमें मोहित को आईआईएम (भारतीय प्रबंधन संस्थान), शिलांग में जिसकी 2 साल की कोर्स फीस 15 लाख रुपए थी, में मेधावी छात्र योजना के तहत 100 प्रतिशत स्काॅलरशिप पर एडमिशन मिला।

मुंबई की कंपनी में मिला 21.4 लाख का पैकेज

- बता दें कि देश की 7 बड़ी कंपनियों में शामिल पेट्रोलियम कंपनी का कैंपस प्लेसमेंट मोहित के संस्थान में हुआ। जिसमेें 180 आवेदकों में से जिन 4 स्टूडेंटस का चयन हुआ, उनमें से एक नाम मोहित का था।

- मोहित को अप्रैल 2018 में कंपनी के मुंबई स्थित आॅफिस में 21.4 लाख के सालाना पैकेज पर सेल्स आॅफिसर के पद पर ज्वाॅइन करना है। पिता राम मनोहर बेटे की इस उपलब्धि का श्रेय उसकी लगन को देते हैं।

पिता राम मनोहर मंडेलिया के साथ मोहित। पिता राम मनोहर मंडेलिया के साथ मोहित।
मां के साथ मोहित मंडेलिया। मां के साथ मोहित मंडेलिया।
बहन के साथ मोहित। बहन के साथ मोहित।
मोहित की मां और पापा राम मनोहर मंडेलिया। मोहित की मां और पापा राम मनोहर मंडेलिया।
बहन के साथ मोहित। बहन के साथ मोहित।
आनंद महिंद्रा के साथ मोहित मंडेलिया। आनंद महिंद्रा के साथ मोहित मंडेलिया।
मोहित मंडेलिया के बचपन की फोटो। मोहित मंडेलिया के बचपन की फोटो।
मोहित के पिता राम मनोहर मंडेलिया। मोहित के पिता राम मनोहर मंडेलिया।
दोस्तों के साथ बीच में मोहित। दोस्तों के साथ बीच में मोहित।
मां के साथ मोहित मंडेलिया। मां के साथ मोहित मंडेलिया।
मोहित मंडेलिया की फाइल फोटो। मोहित मंडेलिया की फाइल फोटो।
पेट्रोल पंप पर पिता राम मनोहर मंडेलिया के साथ मोहित। पेट्रोल पंप पर पिता राम मनोहर मंडेलिया के साथ मोहित।
दोस्तों के साथ बीच में मोहित। दोस्तों के साथ बीच में मोहित।