--Advertisement--

मैहर की तरह मां लखेश्वरी पर पहाड़ काटकर बनेगी सड़क, ऐसे मंदिर पहुंचेंगे श्रद्धालु

मंदिर तक दर्शनार्थी आसानी से पहुंच सकें, इसके लिए 6 करोड़ की लागत से यहांं सड़क का निर्माण कराया जाएगा।

Dainik Bhaskar

Jan 01, 2018, 08:13 AM IST
Road constructed by cutting mountains for Lakheshwari temple

ग्वालियर. जिले के भितरवार ब्लॉक के चिटौली गांव में स्थित प्रसिद्ध मां लखेश्वरी के मंदिर पर भक्तों की राहत के लिए पहाड़ काटकर सड़क बनाई जाएगी। 460 फीट ऊंची पहाड़ी पर स्थित मां लखेश्वरी के ऐतिहासिक आैर प्राचीन मंदिर पर मां के दर्शन के लिए अभी भक्तों को पहाड़ी पर बनाई गई 710 सीढ़ियों की खड़ी चढ़ाई चढ़ना पड़ती है। सघन वन आैर पर्वतीय क्षेत्र के बीच बने इस मंदिर की स्थापना को लेकर प्रचलित है कि यहां देवी प्रतिमा की स्थापना राजा नल ने की थी।

बरसों तक खंडहर रहे इस मंदिर का वर्तमान स्वरूप 1995 में रावत समाज की स्थानीय समिति की देन है। क्षेत्र में रावत समाज के 19 गांव हैं, जिन्हें चौैबीसी के नाम से जाना जाता है। रावत समाज में मां लखेश्वरी की खासी मान्यता है। मंदिर के सेवक शरणानंद (70 ) बताते हैं- मंदिर तक सीढ़ियों का निर्माण भी 1981 में बघेल समाज के लोगों ने कराया था। इससे पहले सीधे पहाड़ी चढ़ना पड़ती थी। यहां प्रति सोमवार भक्तों का जमावड़ा होता है। शारदेय आैर चैत्र नवरात्रि में लगने वाले मेला के अलावा चैत्र की नवरात्रि के बाद एकादशी को यहां बड़ा मेला लगता है। इसमें 50 हजार से लेकर एक लाख तक दर्शनार्थी जुटते हैं।

6 करोड़ की लागत से बनेगी सड़क


मंदिर तक दर्शनार्थी आसानी से पहुंच सकें, इसके लिए 6 करोड़ की लागत से यहांं सड़क का निर्माण कराया जाएगा। क्षेत्रीय सांंसद, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर की पहल पर रानीघाटी से लखेश्वरी माता मंदिर तक सड़क स्वीकृत हुई है। 4.75 किमी लंबी सड़क वन क्षेत्र से होते हुए पहाड़ी काटकर बनाई जाएगी। 19 दिसंबर 2017 को इसके कार्यादेश जारी हो चुके हैं। दिसंबर 2018 में सड़क निर्माण पूरा होगा। इसके बाद श्रद्धालुआें के वाहन सीधे मंदिर परिसर के पास तक पहुंच सकेंगे। मप्र ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण द्वारा सड़क निर्माण के लिए 687.28 लाख रुपए की राशि स्वीकृत की गई है।

मैहर में 600 फीट की ऊंचाई पर है शारदा मां का मंदिर
सतना के मैहर में स्थित मां शारदा मंदिर करीब 600 फीट की ऊंचाई पर है। यहां तक पहुंचने के लिए पहले 1063 सीढ़ियां चढ़ना पड़ती थीं। अब यहां सड़क बन जाने से श्रद्धालुआें के वाहन सीधे मंदिर परिसर तक पहुंचने लगे हैं।
डकैत गड़रिया गिरोह ने चढ़ाया था 111 किलो का घंटा

इनामी डकैत दयाराम रामबाबू गड़रिया गिरोह ने 2006 में लखेश्वरी माता मंदिर पर 111 किलो का घंटा चढ़ाया था। गिरोह के खास्ता के बाद परिवार के किसी सदस्य ने इतने ही वजन का दूसरा घंटा 2015 में चढ़ाया जिसे प्रशासन ने हटवा दिया।
प्रक्रिया अंतिम चरण में
मध्य प्रदेश ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण, ग्वालियर के महाप्रबंधक एसएस आध्वर्यु ने बताया कि सड़क निर्माण में 3.24 हेक्टेयर क्षेत्र वन भूमि का आएगा। इस भूमि के हस्तांतरण के लिए प्रकरण मुख्य वन संरक्षक वृत ग्वालियर के माध्यम से प्रधान मुख्य वन संरक्षक (भू-प्रबंध) भोपाल को भेजा है। स्वीकृति की प्रक्रिया अंतिम चरण में हैं।
X
Road constructed by cutting mountains for Lakheshwari temple
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..