--Advertisement--

अटेर विधायक को फरार बताने वाले एसडीओपी को हटाया, विधायक ने डीजीपी को लिखा लेटर

परेड चौराहा पर फूंका सीएम का पुतला।

Danik Bhaskar | Dec 22, 2017, 07:49 AM IST

भिंड. अटेर विधायक हेमंत कटारे को षड्यंत्र का आरोपी बनाने वाले अटेर एसडीओपी इंद्रवीर सिंह भदौरिया को गुरुवार की दोपहर हटाकर पीएचक्यू अटैच कर दिया। वहीं अटेर विधायक कटारे ने बर्खास्तगी की मांग को लेकर सीएम, गृहमंत्री व डीजीपी को पत्र लिखा है। साथ ही उन्होंने भोपाल में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस की, जिसमें सीधे तौर पर कहा कि उन्होंने रेत का कारोबार रुकवाकर भाजपा की आर्थिक स्थिति को कमजोर कियसा है, जिससे षड्यंत्रपूर्वक उन पर इस तरह की कार्रवाई की जा रही है। इस मामले की जांच एएसपी राजेंद्र वर्मा करेंगे वहीं पूरे मामले की निगरानी जोनल अजाक एसपी करेंगे।

एसडीओपी पर दर्ज हो केस: सिंह
- लहार विधायक डॉ गोविंद सिंह ने अटेर विधायक हेमंत कटारे पर केस दर्ज किए जाने वाले मामले की निंदा की है। इस मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है। यदि ऐसा नहीं हुआ तो शिवराज सरकार के खिलाफ आंदोलन किया जाएगा।
- विधायक कटारे के खिलाफ केस दर्ज करने वाले एसडीओपी भदौरिया के पीएचक्यू अटैच करने के आदेश के बाद शहर में कांग्रेसियों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का पुतला जलाया। इस दौरान पुलिस की कांग्रेसियों से भी झूमाझटकी हुई, जिसमें लोकसभा महासचिव चैतन्य शर्मा के हाथ में चोट आई है। वहीं कांग्रेस नेता डॉ तरुण शर्मा ने कहा कि भाजपा नेता सत्ता के नशे में चूर हो गए हैं।

- वे विपक्ष की आवाज दबाने के लिए झूठे मुकद्दमे दर्ज कराने में लग गए हैं। आए दिन कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं पर झूठे मुकद्दमे पुलिस थानों में दर्ज कराए जा रहे हैं। भोलाराम उपाध्याय ने कहा कि प्रदेश सरकार खाकी वर्दी के द्वारा कांग्रेसियों और आमजनता के साथ गुंडागर्दी कर रही है।

मारपीट की
- पांच मई को खैरी गांव में कल्याण जाटव के साथ विमलेश मिश्रा ने मारपीट कर दी थी। इस पर अटेर थाना पुलिस ने उनके विरुद्ध केस दर्ज कर लिया था। इसके बाद पुन: कल्याण जाटव की फरियाद पर अटेर पुलिस ने विमलेश मिश्रा और उनके भाईयों के विरुद्ध मामला दर्ज किया।

- जांच अटेर एसडीओपी इंद्रवीर सिंह भदौरिया कर रहे थे, जिसमें उन्होंने गुपचुप तरीके से पीड़ित पक्ष के बयानों के आधार पर अटेर विधायक हेमंत कटारे को षड्यंत्र का आरोपी बना दिया। साथ ही बिना प्रक्रिया पूरी करे उन्हें फरार घोषित करते हुए स्पेशल कोर्ट में चालान पेश कर दिया।

कोर्ट ने इस पर आपत्ति करते हुए चालान वापस कर दिया। जब यह मामला खुला तो एसपी प्रशांत खरे ने बुधवार की शाम इस मामले से जुड़ी सभी डायरियां अपने पास तलब कीं और उसकी जांच की। उधर अटेर विधायक हेमंत कटारे ने पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से मामले की शिकायत कर दी।