--Advertisement--

चोरी में मिले मोबाइल को छिपाने पर था विवाद, ऐसे हुआ इस वारदात का खुलासा

पुरानी छावनी क्षेत्र में 2 माह पहले युवक की हत्या के मामले का खुलासा पुलिस ने किया है।

Danik Bhaskar | Jan 08, 2018, 07:31 AM IST

ग्वालियर. पुरानी छावनी क्षेत्र में 2 माह पहले युवक की हत्या के मामले का खुलासा पुलिस ने किया है। चोरी के माल के बंटवारे को लेकर हुए विवाद में साथियों ने ही हत्या कर दी थी। पुलिस शव की पहचान भी नहीं कर पाई थी, इस बीच युवक के परिजन थाने में युवक के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराने गए तो अज्ञात लाश से इसके हुलिए का मिलान हो गया। परिजन ने उन दोस्तों के नाम भी बता दिए जिनके साथ वह आखिरी बार देखा गया था। जब पुलिस ने इन्हें पकड़ा तो पूरे मामले का खुलासा हो गया। पुलिस ने हत्या के 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।


- एएसपी दिनेश कौशल ने बताया कि 11 नवंबर को पुरानी छावनी इलाके के मंगू का पुरा गांव के कुएं में एक अज्ञात लाश मिली थी। हत्यारों ने उसका चेहरा पत्थर से कुचलकर पहचान मिटाने की कोशिश की थी।

- 6 जनवरी को बहोड़ापुर क्षेत्र में रहने वाली मीराबाई बेटे संतोष प्रजापति के गुमशुदा होने की रिपोर्ट दर्ज कराने थाने पहुंची थी। पुलिस ने उन्हें पुरानी छावनी में 2 माह पहले मिली अज्ञात लाश से मिली जैकेट और चप्पलें दिखाईं तो उन्होंने पहचान लिया।

- मीराबाई ने बताया, उनके बेटे संतोष को आखिरी बार पिंटू कोरी, नदीम खान, जावेद खान तथा बंटी के साथ गया था। पुलिस ने पिंटू कोरी, नदीम खान व जावेद खान को पकड़कर पूछताछ की तो उन्होंने हत्या की वारदात को अंजाम देना स्वीकार कर लिया। पुलिस को बंटी नहीं मिला है, उसकी तलाश की जा रही है।
- संतोष की जेब से मिला था मेमोरी कार्ड: पुलिस को मृतक के कपड़ों से एक मेमोरी कार्ड मिला था। यह मेमोरी कार्ड भी चोरी के मोबाइल का था। जो लाश मिलने के 4 दिन पहले ही चोरी हुए मोबाइल फोन का था।

- इस आधार पर भी पुलिस को हत्या के बारे में सुराग मिले थे। पुलिस इन सुराग को जोड़कर आगे बढ़ रही थी, इसी बीच मृतक संतोष की मां भी पुलिस के पास तक पहुंच गई।

चोरी में मिले मोबाइल को छिपाने पर हुआ था विवाद

- आरोपियों ने बताया, उन्होंने बहोड़ापुर क्षेत्र से एलईडी, दो मोबाइल फोन चोरी किए थे। चोरी के माल के बंटवारे के दौरान एक मोबाइल संतोष ने छिपा लिया था, इस पर ही विवाद हो गया था। इसके चलते चारों ने मिलकर संतोष की हत्या की और शव कुएं में फेंक दिया था।