--Advertisement--

पैसे दोगुने करने का लालच देकर फंसाया, करोड़ों की ठगी कर गायब हुए पति पत्नी

150 लोग इस ठग दंपति की झांसे में आए और ऐंठी गई रकम भी 4 से 5 करोड़ होना बताई जा रही है।

Dainik Bhaskar

Jan 16, 2018, 06:54 AM IST
Trapped by giving greed for doubling money

ग्वालियर. किसी से पत्ती के नाम पर तो किसी को 16 माह में रकम दोगुनी करने का लालच देकर और किसी से ब्याज पर पैसा उधार लेकर शब्दप्रताप आश्रम पर रहने वाले दंपति ने अपने खास रिश्तेदार और पड़ोसियों से ही 1 करोड़ 62 लाख रुपए ऐंठे और परिवार के साथ घर पर ताला डालकर फरार हो गए। जिस दिन दंपति ने लोगों को पैसा देने के लिए बुलाया, वह उससे एक दिन पहले ही भाग गए। तीन दिन में भी जब पति-पत्नी नहीं मिले तो सोमवार शाम को ठगी का शिकार 21 लोग बहोड़ापुर थाने पहुंचे। पुलिस ने शिकायती आवेदन पर मामला जांच में ले लिया है। आशंका है कि करीब 150 लोग इस ठग दंपति की झांसे में आए और ऐंठी गई रकम भी 4 से 5 करोड़ होना बताई जा रही है।

- शब्दप्रताप आश्रम पर रहने वाला आेमप्रकाश उर्फ कंजे सिकरवार ट्रेवल्स एजेंसी चलाता है। करीब 5 साल पहले उसने और उसकी पत्नी सविता सिकरवार ने पत्ती चलाने का काम शुरू किया।

- सविता ने सबसे पहले अपने रिश्तेदारों को ही इसमें शामिल किया। हर महीने 6 हजार रुपए की पत्ती चलाते थे, जो 25 महीने की होती थी। इसमें हर महीने बोली लगती थी। शुरुआत में इन्होंने लोगों से पत्ती के नाम पर पैसा लिया और लोगों को फायदा होने लगा तो इन्होंने और लोगों को जोड़ा।

- जो लोग जुड़े थे, उनके माध्यम से अन्य लोगों को जोड़ा। क्षेत्र के करीब 200 लोग इनसे जुड़ गए। फिर इन्होंने कुछ लोगों को 16 महीने में रकम दोगुना तो कुछ लोगों को तीन महीने में रकम दोगुनी करने का लालच दिया। कुछ लोगों से व्यापार करने के लिए इन्होंने ब्याज पर पैसा ले लिया।

- पिछले दो-तीन महीने से पैसा देने में आनाकानी करने लगे। बार-बार लोगों को टाल रहे थे। 12 जनवरी को इन्होंने करीब आधा सैकड़ा लोगों को पैसा देने के लिए बुलाया। इससे पहले ही दोनों अपने पूरे परिवार के साथ गायब हो गए। पैसे लेने पहुंचे लोगों को जब ताला डला मिला ताे फोन लगाया। फोन न लगने पर तीन दिन तक तलाश की इसके बाद थाने पहुंचे।

सोशल मीडिया पर डाला पोस्टर

- दोनों पति पत्नी को पकड़ने के लिए सोशल मीडिया पर वांटेेड लिखकर पोस्टर डाला गया है। सूचना देने वाले को इनाम की भी घोषणा की गई है।

पत्ती के नाम पर 10 लाख ले गए
- पत्ती के नाम पर मेरे और मेरे साथियों से पैसे भरवाए। कई व्यापारियों के पैसे पत्ती के नाम पर ऐंठे। मेरे करीब 10 लाख रुपए हैं। साथियों के करीब 15 लाख रुपए हैं।
रविन्द्र गोयल, निवासी शब्दप्रताप आश्रम
दोगुना करने का दिया झांसा

- मुझे 16 महीने में रकम दोगुनी करने का लालच देकर फंसाया और तीन बार में 8 लाख रुपए ठगे। 12 जनवरी को बुलाया था पहुंचे तो भाग गए।
बबीता तोमर, निवासी शब्दप्रताप आश्रम

Trapped by giving greed for doubling money
X
Trapped by giving greed for doubling money
Trapped by giving greed for doubling money
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..