Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Two Heavy Vehicles Entered The No Entry In A Week

शहर में घुसा ट्रक, आधा घंटे सड़कों पर दौड़ा, मशक्कत के बाद पकड़ में आया

एक सप्ताह में दो भारी वाहन नो एंट्री में घुसे।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 10, 2017, 07:36 AM IST

  • शहर में घुसा ट्रक, आधा घंटे सड़कों पर दौड़ा, मशक्कत के बाद पकड़ में आया

    भिंड(ग्वालियर).शहर में भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक नहीं लग पा रही है। ऐसे में नशे में चूर ड्रायवर बेधड़क सिटी की सड़कों पर भारी वाहन दौड़ा रहे हैं, जिससे आए दिन हादसे हो रहे हैं। शुक्रवार की रात भी इसी प्रकार का एक हादसा होते- होते बचा।शाम सात बजे सुभाष तिराहा से नशे में चूर ड्रायवर ने ट्रक क्रमांक यूपी 74 टी 0975 को सिटी में घुसा दिया। जहां तैनात पुलिस ने उसे रोकने का प्रयास किया। लेकिन ड्रायवर पर ट्रक नहीं रोका। पीछा करते हुए ट्रैफिक थाना प्रभारी दीपक साहू ने नगरपालिका के सामने और परेड चौराहा पर रोकने का प्रयास किया। लेकिन वह फिर भी नहीं रुका।

    - इटावा रोड पर सबस्टेशन के सामने ट्रैफिक दीपक साहू चलते ट्रक में छड़ें और चाबी खींचने का प्रयास किया। लेकिन फिर भी दौड़ता रहा। इंदिरा गांधी चौराहा पर डिवाइडर डालकर जैसे तैसे ट्रक रुकवाया। साथ ही ट्रक को थाने में खड़ा करते हुए ड्रायवर के विरुद्ध कार्रवाई की है। इस दौरान बड़ा हादसा होने से टल गया।

    - सुभाष तिराहा से इंदिरा गांधी चौराहा तक शहर की मुख्य सड़क है। इसे शहर की लाइफ लाइन भी कहा जाता है। दिन के समय इस रोड पर सबसे ज्यादा ट्रैफिक का दबाव रहता है। बावजूद इस रोड पर भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक नहीं लग पा रही है, जिससे यहां आए दिन हादसे हो रहे हैं। जबकि प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है।


    नशे की हालत में था ट्रक ड्राइवर
    - ट्रैफिक थाना प्रभारी दीपकसाहू ने बताया कि सात बजे हमारा सुभाष तिराहा पर प्वाइंट लगा था। तभी एक ट्रक का ड्राइवर नशे की हालत में सिटी में घुस आया। हमने उसे रोकने का प्रयास किया। सबस्टेशन के सामने खुद ट्रक की चाबी भी खिंचने का प्रयास किया। लेकिन वह नहीं खिंची। इंदिरा गांधी चौराहा पर डिवाइडर लगाकर बड़ा मुश्किल से ट्रक रुकवा पाया। ट्रक जब्त कर लिया है। साथ ही ट्रक चालक के विरुद्ध कार्रवाई की है।


    नगर पालिका ने तीन महीने में नहीं बन पाया बैरियर, इसलिए घुस आते हैं भारी वाहन
    - लश्कर रोड पर प्राइवेट बसस्टैंड के समीप नगरपालिका भारी वाहनों के प्रवेश को रोकने के लिए बैरियर का निर्माण करा रही है। लेकिन पिछले तीन महीनों से यह बैरियर निर्माणाधीन चल रहा है। बैरियर की मजबूती के नाम पर नगरपालिका बेवजह से उसमें देरी कर रही है, जिससे शहर में आए दिन भारी वाहन हादसों को आमंत्रण दे रहे हैं। जबकि जिम्मेदार नगर पालिका इस ओर ध्यान नहीं दे रही है।


    5 दिन पहले बस ड्राइवर ने कई लोगों को मारी टक्कर, दो जख्मी, दिल्ली में भर्ती
    - 4 दिसंबर को अनिल शर्मा अपने दोस्त योगेश दीक्षित के साथ स्कूटी से जा रहे थे। तभी एक बस रात करीब 11.30 इंदिरा गांधी चौराहा की ओर से शहर में घुस आई। बस के ड्रायवर ने नशे की हालत में ड्राइविंग करते हुए गल्ला मंडी के सामने स्कूटी से जा रहे इन दोनों को टक्कर मार दी, जिससे वे दोनों बुरी तरह से घायल हो गए।

    - जबकि बस ड्रायवर करीब 200 मीटर तक स्कूटी को घसीटते ले गया। बस ड्राइवर यहीं नहीं रुका, उसने व्यापार मंडल धर्मशाला के बगल से अटेर रोड को जाने वाली सड़क किनारे खड़ी दो कारों में टक्कर मारते हुए एक दुकान में बस घुसा दी। आक्रोशित भीड़ ने बस के सभी कांच तोड़ दिए।

    - वहीं पुलिस ने आनन फानन में बस को जब्त कर लिया। बस की टक्कर से गम्भीर घायल हुए, दिल्ली सफदरजंग हॉस्पिटल में भर्ती हैं। ये शहर के महावीरगंज निवासी हैं। इन्हें होश नहीं आया है। 4 दिसम्बर को अनियंत्रित बस ने इन्हें टक्कर मारी थी, बस नो एंट्री में घुस आयी थी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Gwalior News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Two Heavy Vehicles Entered The No Entry In A Week
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×