--Advertisement--

जान बचाने के लिए चिल्ला भी नहीं पाए ये लोग, फिर JCB से निकाली गई लाशें

एक दिन पहले की खुदाई से रिस रहा था सेप्टिक टैंक से पानी फिर भी उतारे मजदूर

Dainik Bhaskar

Jan 25, 2018, 05:45 AM IST
जेसीबी मशीन की मदद से गड्‌ढे में से मृतक का शव निकालते कर्मचारी। जेसीबी मशीन की मदद से गड्‌ढे में से मृतक का शव निकालते कर्मचारी।

ग्वालियर. नारायण विहार कॉलोनी में एक सीवर लाइन में काम कर रहे दो मजदूरों पर मिट्टी गिर पड़ी। इससे दोनों मजदूर एक घंटे तक दबे रहे और दोनों की मौत हो गई। बाद में जेसीबी मशीन से दोनों मजदूरों की डेड बॉडी खींचकर निकालनी पड़ी। दोनों मजदूर गुजरात के निवासी हैं और अमृत योजना की सीवर लाइन प्रोजेक्ट में काम कर रहे थे। यह है मामला......

अमृत योजना के तहत 27 दिसम्बर से नारायण विहार कॉलोनी में सीवर लाइन डालने का काम चल रहा है। गुजरात के मेहसाणा की कंपनी जयंती सुपर कंस्ट्रक्शन ने काम कराने की जिम्मेदारी पेटी कांट्रेक्ट पर गुजरात के बड़ोदरा की कंपनी सहज को दी है। कंपनी के लोगों ने अशोक वाल्मीकि के घर के पास एक दिन पहले खुदाई की थी। इससे उसके सेप्टिक टैंक का पानी पहले से धीरे-धीरे रात भर में नीचे जमीन में बैठ गया। जब ये लोग सुबह काम करने के लिए नीचे उतरे। इस दौरान यह घटना घटित हो गई।

सुरक्षा मानकों की अनदेखी की गई
वर्क मैन्युअल के अनुसार खुदाई के किसी भी काम में जहां एक मीटर से अधिक गहराई हो, वहां ठेकेदार को शोरिंग और प्रेसिंग की व्यवस्था करना होती है। इसके अनुसार गड्ढे में चारों ओर लोहे के गार्डर और लकड़ी के फट्टे लगाए जाते हैं ताकि मिट्टी न धंसे । यहां 3 मीटर से अधिक गहराई होने के बाद भी ऐसी कोई सुरक्षा नहीं की गई। सेप्टिक टैंक की जगह यदि कोई मकान धंसता तो हादसा और बड़ा हो सकता था। हादसे के वक्त मृतक कालू निनामा निवासी महोड़ी (दाहोद) की पत्नी देवली और मृतक कलसिंह निवासी संजली (दाहोद) पत्नी हकली नजदीक में ही काम कर रही थी। जैसे ही घटना की खबर मिली, वे दौड़कर मौके पर पहुंची। जब तक कुछ समझ पाती काफी दे हो चुकी थी। दोनों को रो-रोकर बुरा हाल था।

8 किमी लंबी सीवर लाइन
अमृत योजना के तहत सीवर प्रोजेक्ट में 8 किलोमीटर लंबी सीवर लाइन नारायण विहार कॉलोनी में डाली जा रही है। 27 दिसंबर से काम चालू है। अभी तक 5 किलोमीटर लंबी पाइप लाइन डल चुकी है। ये कंपनी अपने साथ 27 मजदूरों को लेकर आई है। इस घटना के मामले में मौके पर मौजूद प्रत्यक्षदर्शी मुन्नी तोमर ने बताया कि जहां पर घटना घटित हुई है। वहां पर एक दिन पहले काम करते समय एक मजदूर की अचानक तबीयत बिगड़ गई थी। वह कंपकपाने लगा था। तभी उसके साथी उसे लेकर चले गए और काम बंद कर दिया गया था। फिर शाम के वक्त काम थोड़ा कम हुआ और आज सुबह हादसा हो गया।

आगे की स्लाइड्स में देखें फोटोज...

अमृत योजना की सीवर लाइन की मिट्टी में दबकर हुई दो मजदूरों की मौत अमृत योजना की सीवर लाइन की मिट्टी में दबकर हुई दो मजदूरों की मौत
मौके पर पहुंचकर मृतक की पत्नी को ढांढस बंधाती मंत्री माया सिंह। मौके पर पहुंचकर मृतक की पत्नी को ढांढस बंधाती मंत्री माया सिंह।
नाराणय विहार में अमृत योजना में चल रहा है सीवर लाइन का काम नाराणय विहार में अमृत योजना में चल रहा है सीवर लाइन का काम
एक घंटे तक मिट्टी में दबे रहे दोनों मजदूर एक घंटे तक मिट्टी में दबे रहे दोनों मजदूर
जेसीबी मशीन से खींचकर निकाली मजदूरों की डेड बॉडी जेसीबी मशीन से खींचकर निकाली मजदूरों की डेड बॉडी
मरने वाले दोनों मजदूर गुजरात के दाहोद के निवासी थे मरने वाले दोनों मजदूर गुजरात के दाहोद के निवासी थे
जमीन से 20 फीट नीचे मजदूर सीवर लाइन में पाइप डाल रहे थे जमीन से 20 फीट नीचे मजदूर सीवर लाइन में पाइप डाल रहे थे
दबे हुए मजदूरों को मिट्टी से बाहर निकाला गया दबे हुए मजदूरों को मिट्टी से बाहर निकाला गया
X
जेसीबी मशीन की मदद से गड्‌ढे में से मृतक का शव निकालते कर्मचारी।जेसीबी मशीन की मदद से गड्‌ढे में से मृतक का शव निकालते कर्मचारी।
अमृत योजना की सीवर लाइन की मिट्टी में दबकर हुई दो मजदूरों की मौतअमृत योजना की सीवर लाइन की मिट्टी में दबकर हुई दो मजदूरों की मौत
मौके पर पहुंचकर मृतक की पत्नी को ढांढस बंधाती मंत्री माया सिंह।मौके पर पहुंचकर मृतक की पत्नी को ढांढस बंधाती मंत्री माया सिंह।
नाराणय विहार में अमृत योजना में चल रहा है सीवर लाइन का कामनाराणय विहार में अमृत योजना में चल रहा है सीवर लाइन का काम
एक घंटे तक मिट्टी में दबे रहे दोनों मजदूरएक घंटे तक मिट्टी में दबे रहे दोनों मजदूर
जेसीबी मशीन से खींचकर निकाली मजदूरों की डेड बॉडीजेसीबी मशीन से खींचकर निकाली मजदूरों की डेड बॉडी
मरने वाले दोनों मजदूर गुजरात के दाहोद के निवासी थेमरने वाले दोनों मजदूर गुजरात के दाहोद के निवासी थे
जमीन से 20 फीट नीचे मजदूर सीवर लाइन में पाइप डाल रहे थेजमीन से 20 फीट नीचे मजदूर सीवर लाइन में पाइप डाल रहे थे
दबे हुए मजदूरों को मिट्टी से बाहर निकाला गयादबे हुए मजदूरों को मिट्टी से बाहर निकाला गया
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..