• Home
  • Mp
  • Gwalior
  • Went to the hotel compromise, returning to fights, then slit the throat
--Advertisement--

होटल वाले से समझौता करने गए थे, लौटकर झगड़े, फिर गला काट की हत्या

उरवाई गेट के पास कुंडी वाली माता मंदिर को जाने वाली रोड पर पत्थर पटककर युवक हिमांशु पचौरी की हत्या का राज खुल गया है

Danik Bhaskar | Feb 03, 2018, 06:59 AM IST

ग्वालियर. उरवाई गेट के पास कुंडी वाली माता मंदिर को जाने वाली रोड पर पत्थर पटककर युवक हिमांशु पचौरी की हत्या का राज खुल गया है। तीन आरोपी भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिए हैं, जबकि चार आरोपी अभी फरार हैं। हिमांशु के दोस्त पिंकी किरार का झगड़ा बड़ागांव में एक होटल संचालक से हुआ था। उससे समझौता करने के लिए यह लोग गए थे। रास्तेभर इन्होंने शराब पी और वापस आकर फिर शराब पी। उरवाई गेट के पास फिर शराब पीने बैठ गए। यहां पहले हिमांशु ने चाकू निकालकर पिंकी पर ताना, क्योंकि इनके बीच भी विवाद हुआ था। इसके बाद झगड़ा बढ़ गया। पिंकी ने अपने साथियों के साथ मिलकर पहले पत्थर मारा और साफी की मदद से उसे गिरा लिया। इसके बाद गला काटा और फिर पत्थर पटक दिया। मुख्य आरोपी पिंकी किरार और अन्य तीन आरोपी अभी फरार हैं।

- आनंद नगर के सी-ब्लॉक में रहने वाले हिमांशु पुत्र रामनिवास शर्मा की लाश गुरुवार सुबह झाड़ियों में पड़ी मिली थी। उसकी हत्या चाकू मारकर व पत्थर से कुचलकर की गई थी। परिजनों ने उसके दोस्तों पर संदेह जताया था। इसके बाद पुलिस ने पड़ताल की तो रात तक कहानी खुल गई। .

- पुलिस ने शुक्रवार को अविनाश उपाध्याय निवासी विनय नगर, संतोष किरार निवासी उरवाई गेट, अनिल किरार निवासी रामपुरी मोहल्ला को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उन्होंने बताया कि दोपहर में अनिल के भाई की इनोवा क्रमांक एमपी 07 बीए 0908 से हिमांशु पचौरी, पिंकी किरार, सन्नी, बंटी किरार और गजेन्द्र के साथ बड़ागांव गए थे।

- बड़ागांव पर पिंकी और एक होटल संचालक के बीच समझौता कराने गए थे। वहां इन लोगों ने बीयर पी। वहां पिंकी और हिमांशु का झगड़ा हुआ। इसके बाद फूलबाग से शराब की बोतल खरीदी। यह लोग उरवाई गेट पर कुंडी वाली माता मंदिर के नीचे गाड़ी लगाकर शराब पीने ऊपर पहुंचे। वहां शराब पी।

- इसी दौरान पिंकी और हिमांशु का फिर से झगड़ा हो गया। हिमांशु ने चाकू निकालकर पिंकी से कहा कि वह उसके जैसे कई लोगों को निपटा कर बैठा है। इसके बाद पिंकी ने पत्थर मारा और उसे पटक लिया। फिर सभी ने मिलकर उसकी हत्या कर दी।

- हत्या कर लाश झाड़ियों में फेंकी और फिर पत्थर पटक दिया। इसके बाद यह लोग भाग गए। पुलिस पिंकी, गजेन्द्र, सन्नी और बंटी की तलाश कर रही है। इनोवा भी पुलिस ने जब्त कर ली है।

पुलिस के जाने के बाद पहुंचा मोबाइल लेने और तह तक पहुंच गई पुलिस
- आधी कहानी तो पुलिस को शील नगर में एक कंप्यूटर की दुकान से खुल गई थी। इसके बाद जहां लाश मिली थी, उस जगह पुलिस के जाने के कुछ देर बाद एक युवक पहुंचा। वह झाड़ियों में कुछ तलाश रहा था तभी उसे पकड़ लिया। पूछताछ में पता चला कि वह भी आरोपियों के साथ था और उसका मोबाइल गिर गया था। इसके बाद तो पूरी कहानी खुल गई।

चार दिन पहले भी हुआ था झगड़ा
- पिंकी और हिमांशु का चार दिन पहले भी उरवाई गेट पर झगड़ा हुआ था। इसके दूसरे दिन पिंकी ने अपने दोस्तों के साथ एक अहाते में बैठकर शराब की थी। उस दिन यह लोग उसे पीटने जा रहे थे। उसके घर जाकर हंगामा किया था। लेकिन वह नहीं मिला था।