• Home
  • Mp
  • Gwalior
  • एनीमिया के प्रति जागरूक करेंगी बालिकाएंं
--Advertisement--

एनीमिया के प्रति जागरूक करेंगी बालिकाएंं

भास्कर संवाददाता | गिरधपुर/बड़ौदा एकीकृत महिला बाल विकास विभाग द्वारा गिरधरपुर कस्बे के पंजाबी का टपरा पर...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 07:10 AM IST
भास्कर संवाददाता | गिरधपुर/बड़ौदा

एकीकृत महिला बाल विकास विभाग द्वारा गिरधरपुर कस्बे के पंजाबी का टपरा पर किशोरी पोषण साक्षरता कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें किशोरी बालिकाओं ने कुपोषण और एनीमिया (खून की कमी) की समस्या से निपटने के लिए ग्रामीणों को जागरूक करने का संकल्प लिया। इस अवसर पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता करिश्मा राजपूत ने बच्चों में कुपोषण और महिलाओं में एनीमिया रोग के निवारण के लिए पौष्टिक भोजन के साथ सेहत की देखभाल के टिप्स दिए। अंत में सभी किशोरी बालिकाओं को पौष्टिक पंजीरी के पैकेट वितरित किए गए।

पंजाबी टपरा स्थित आंगनबाड़ी केंद्र पर किशोरी पोषण साक्षरता कार्यक्रम में गांव की किशोरी बालिकाए शामिल हुई। इस अवसर पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता करिश्मा राजपूत ने बताया कि कुपोषण और एनीमिया एक गंभीर समस्या है। इससे निपटने के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा लालिमा अभियान एवं किशोरी पोषण साक्षरता कार्यक्रम चलाया जा रहा है। पंचायत स्तर पर लालिमा समूह और शौर्य दल गठित कर गांव की 15 से 49 साल आयु वर्ग की महिलाओं को जागरूक करने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। करिश्मा राजपूत ने बताया कि एनीमिया रोग बालिकाओं को किशोर अवस्था में ही जकड़ लेता है। आयरन युक्त भोजन और आयरन की गोली खाने से इस बीमारी से छुटकारा संभव है। एनीमिया रोग को जड़ से मिटाने में हीमोग्लोबिन का महत्व समझाया।

करीब दो घंटे चले इस कार्यक्रम के दौरान किशोरी बालिकाओं को घर-घर में पोषण वाटिका लगाने के लिए प्रेरित किया। वहीं बालिकाओं ने कुपोषण और एनीमिया को लेकर अपने अनुभव बताए। पंजाबी टपरा से आई सभी किशोरी बालिकाओं ने एनीमिया एवं कुपोषण के कलंक को मिटाने के लिए ग्रामीणों में जागृति लाने का संकल्प लिया। कार्यक्रम के अंत में आंगनबाड़ी सहायिका गीताबाई द्वारा किशोरियों को पौष्टिक पंजीरी के पैकेट वितरित किए।

पोषण अभियान के तहत ललितपुरा आंगनबाड़ी केंद्र पर प्रशिक्षण के समापन अवसर पर सेक्टर सुपरवाइजर रजनी कुशवाह ,आंगनबाड़ी कार्यकर्ता रेखा शर्मा ,रुकमणी गुप्ता ने पोषण आहार, आहारीय विविधता के विभिन्न पहलुओं की जानकारी दी। पर्यवेक्षक रजनी कुशवाह ने कहा कि समाज के लिए कुपोषण कलंक के समान है। कुपोषण को जड़ से मिटाने के लिए विभाग आंगनबाड़ी केंद्रों पर सुपोषण अभियान चला रहा है।

पंजाबी का टपरा पर किशोरी पोषण साक्षरता कार्यक्रम, ललितपुरा मेंं प्रशिक्षण का समापन

ललितपुरा में अांगनबाड़ी कार्यकर्ताअाें काे दिया प्रशिक्षण

बड़ौदा | महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा कुपोषण को जड़ से मिटाने के लिए चलाए जा रहे सुपोषण अभियान के तहत मकड़ावदा सेक्टर के ग्राम ललितपुरा में अांगनबाड़ी कार्यकर्ताअाें का10 दिवसीय शिविर संपन्न हुआ। जिसमें कुपोषित बच्चों की माताओं को पोषण आहार के जरिए सेहत सुधारने के तौर तरीके बताए गए। 2 साल तक के बच्चों का वजन एवं शारीरिक ग्रॉथ मापी गई।