--Advertisement--

ग्वालियर/ इंदौर

असिस्टेंट प्रोफेसर पद पर नियुक्ति के लिए जरूरी राज्य पात्रता परीक्षा (सेट) इस साल अप्रैल में होगी। मप्र लोक सेवा...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:25 AM IST
असिस्टेंट प्रोफेसर पद पर नियुक्ति के लिए जरूरी राज्य पात्रता परीक्षा (सेट) इस साल अप्रैल में होगी। मप्र लोक सेवा आयोग द्वारा ली जाने वाली यह दूसरी पात्रता परीक्षा होगी। अधिकारियों के मुताबिक यूजीसी की स्टेयरिंग कमेटी ने हरी झंडी दे दी है। आवेदन और परीक्षा की प्रक्रिया एक माह में पूरी कर ली जाएगी।


ग्वालियर/ इंदौर
असिस्टेंट प्रोफेसर की नौकरी के गैर-नेट क्वालिफाइड और बिना पीएचडी वाले उम्मीदवारों के लिए अच्छी खबर है। पीएससी के सेट प्रकोष्ठ ने इसके लिए जरूरी पात्रता परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी है। यदि सब कुछ योजना के मुताबिक रहा तो इस साल की परीक्षा अप्रैल में होगी। अफसरों के मुताबिक विश्वविद्यालय अनुदान आयोग की स्टेयरिंग कमेटी भी परीक्षा के लिए राजी है। बता दें कि मप्र में करीब 20 साल बाद दिसंबर 2016 में सेट का नोटिफिकेशन जारी हुआ था। 5 जनवरी 17 से 25 जनवरी 17 तक आवेदन मंगवाए गए थे। परीक्षा 25 फरवरी से 8 मार्च तक चली थी। तब 46 हजार 565 आवेदन आए थे। 35 हजार अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी थी। दस हजार उम्मीदवार पास हुए थे। कुल उत्तीर्ण परीक्षार्थियों का 15 फीसदी यानी 2296 उम्मीदवारों को क्वालिफाइड घोषित किया गया था।

इस बार भी 19 विषय

दूसरी सेट में भी पिछली परीक्षा की तरह 19 विषय ही शामिल होंगे। अधिकारियों का कहना है कि यूजीसी से इन्हीं विषयों में सेट की अनुमति है। उसका कहना है कि पीएससी को उन्हीं विषयों में परीक्षा कराना चाहिए, जो प्रदेश के सरकारी कॉलेजों में पढ़ाए जाते हैं। ऐसे में ज्यादातर एलाइड सब्जेक्ट वाले पीजी उम्मीदवार इस सेट में भी हिस्सा नहीं ले सकेंगे।


असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए दूसरी राज्य पात्रता परीक्षा अप्रैल में

2017 की तरह इस बार भी 19 विषयों में ही होगी राज्य पात्रता परीक्षा

इसलिए अप्रैल पर ज्यादा जोर

यूजीसी ने पीएससी को 2016 में 2017, 2018 और 2019 यानी तीन साल के लिए सेट कराने की अनुमति दी है। पहली परीक्षा पिछले साल हो चुकी है। अफसरों के मुताबिक यूजीसी की गाइडलाइन के हिसाब से आयोग हर साल जनवरी से दिसंबर के बीच कभी भी परीक्षा करा सकता है। फरवरी-मार्च में बोर्ड की परीक्षाएं हैं। इसलिए अधिकारी सेट की तैयारी अप्रैल के हिसाब से कर रहे हैं। इसी दौरान नोटिफिकेशन जारी होने के साथ आवेदन और परीक्षा तीनों की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी।

अगली भर्ती में मिलेगा मौका

पीएससी ने भले ही असिस्टेंट प्रोफेसर परीक्षा की तारीखों का ऐलान नहीं किया हो, लेकिन इतना तय है कि इस साल सेट में क्वालिफाइड होने वाले उम्मीदवार असिस्टेंट प्रोफेसर की मौजूदा परीक्षा में शामिल नहीं हो सकेंगे। उन्हें आयोग द्वारा होने वाली अगली भर्ती का इंतजार करना होगा। असिस्टेंट प्रोफेसर परीक्षा के लिए आवेदन की अंतिम तारीख 14 फरवरी है। तब तक सेट की प्रक्रिया शुरू नहीं होगी।

15 महीने बाद दूसरा नोटिफिकेशन जारी करने की तैयारी में पीएससी

अप्रैल के हिसाब से तैयारी

 फरवरी-मार्च में स्कूलों की परीक्षा है। इसके अलावा आयोग के पास भी काफी काम हैं। इसलिए हम अप्रैल के हिसाब से सेट की तैयारी कर रहे हैं। यूजीसी की स्टेयरिंग कमेटी ने परीक्षा के लिए मौखिक अनुमति दे दी है। लिखित अनुमति भी जल्द मिलने की उम्मीद है। डॉ. संध्या भार्गव, परीक्षा नियंत्रक, सेट प्रकोष्ठ

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..