• Hindi News
  • Mp
  • Gwalior
  • पहली बार हमारे यहां होगी इलेक्ट्रिक सोलर व्हीकल चैंपियनशिप, आएंगी 110 टीमें
--Advertisement--

पहली बार हमारे यहां होगी इलेक्ट्रिक सोलर व्हीकल चैंपियनशिप, आएंगी 110 टीमें

सिटी रिपोर्टर | ग्वालियर शहर में पहली बार इलेक्ट्रिक सोलर व्हीकल चैंपियनशिप (ईएसवीसी -2018) होने जा रही है।...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:30 AM IST
पहली बार हमारे यहां होगी इलेक्ट्रिक सोलर व्हीकल चैंपियनशिप, आएंगी 110 टीमें
सिटी रिपोर्टर | ग्वालियर

शहर में पहली बार इलेक्ट्रिक सोलर व्हीकल चैंपियनशिप (ईएसवीसी -2018) होने जा रही है। इम्पीरियल सोसाइटी इनोवेशन इंजीनियर्स की ओर से होने वाली चैंपियनशिप की मेजबानी आईटीएम यूनिवर्सिटी को दी गई है। इसमें बांग्लादेश सहित देशभर के टेक्निकल संस्थानों की 110 टीम हिस्सा लेंगी। यह एशिया की सबसे बड़ी सोलर व्हीकल चैंपियनशिप है। 27 से 31 मार्च तक होने वाली चैंपियनशिप में हर दिन अलग-अलग एक्टिविटी होंगी। इसके लिए यूनिवर्सिटी में 1.50 किमी लंबा ट्रैक तैयार किया जा रहा है, जिस पर चैंपियनशिप के आखिरी दिन सोलर व्हीकल दौड़ाए जाएंगे। प्रत्येक टीम में 25 मेंबर होंगी, इस तरह देशभर से 2500 स्टूडेंट्स आएंगे।

कॉम्पटीशन में 5 दिन होंगी अलग-अलग एक्टिविटी

इस चैंपियनशिप के अंतर्गत 27 मार्च से लेकर 31 मार्च तक पांच दिन अलग-अलग एक्टिविटी होंगी। इसमें टेक्निकल इंस्पेक्शन, एक्सीलरेटर और ब्रेक टेस्ट के अलावा आखिरी दिन एंड्यूरेंस राउंड होगा। इसमें सभी टीमों को व्हीकल ट्रैक पर दौड़ाने होंगे और लैप लगानी होगी। जो सबसे ज्यादा लैप पूरी करेगा उसी आधार पर विनर चुना जाएगा। इसके लिए टेक्निकल और ऑटोमोबाइल से जुड़े सदस्यों की कमेटी भी रहेगी।

आईटीएम यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स ने इस कॉम्पटीशन के सोलर व्हीकल की डिजाइन तैयार करना शुरू कर दिया है।

व्हीकल रेस के लिए यूनिवर्सिटी में तैयार किया गया रेसिंग ट्रैक।

ड्राइवर के हेलमेट में होगा कैमरा, टीम सबकुछ देख सकेगी

आईटीएम यूनिवर्सिटी मैकेनिकल डिपार्टमेंट के स्टूडेंट्स ने व्हीकल बनाने की शुरुआत कर दी है। इसमें कई इनोवेशन किए जा रहे हैं। इसमें फ़र्स्ट व्यू पर्सन और डिजिटल वीडियो रिकॉर्डिंग सिस्टम होगा। इसमें कैमरा ड्राइवर के हेलमेट पर होगा। इसके जरिए पिट में बैठे टीम मेंबर ट्रैक देख सकेंगे। साथ ही कार के बैटरी केस को लिक्विड कूल बनाया जा रहा है। व्हीकल का वजन 170 किलोग्राम होगा और यह 120 की टॉप स्पीड से दौड़ सकेगी। इसमें 8 सोलर पैनल रहेंगे।

ईएसवीसी की शुरुआत

इस चैंपियनशिप की शुरुआत 2013 से हुई है। यह इसका 5वां सीजन है। इस पूरे आयोजन पर लगभग 30 लाख रुपए खर्च होंगे। वर्चुअल राउंड क्लियर करने वाली 110 टीम इसमें हिस्सा लेंगी।

फार्मूला-1 की तरह पिट

चैंपियनशिप में फार्मूला-1 की तर्ज पर पिट बनाए जाएंगे। प्रत्येक पिट पर टीम मेंबर अपने व्हीकल के साथ मौजूद रहेंगे।

इनका होगा इम्प्लीमेंट

फैकल्टी कोआर्डिनेटर अरुण सिंह कुशवाह और आरएस राजपूत ने बताया कि चैंपियनशिप में कई कंपनियों के इंजीनियर्स आएंगे और इंस्पेक्शन करेंगे। इस दौरान बेस्ट इनोवेशन देखा जाएगा।

फैक्ट फाइल




X
पहली बार हमारे यहां होगी इलेक्ट्रिक सोलर व्हीकल चैंपियनशिप, आएंगी 110 टीमें
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..