• Home
  • Mp
  • Gwalior
  • एल्युमिनाई ने खोला रूम नंबर-9 का राज
--Advertisement--

एल्युमिनाई ने खोला रूम नंबर-9 का राज

हॉस्टल का रूम नंबर-9 रूम है जहां से सारी गतिविधियां संचालित की जाती थीं। कॉलेज में कुछ भी होना हो, लेकिन योजना इसी...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:35 AM IST
हॉस्टल का रूम नंबर-9 रूम है जहां से सारी गतिविधियां संचालित की जाती थीं। कॉलेज में कुछ भी होना हो, लेकिन योजना इसी रूम में बनाई जाती थी। कई बार शरारतों की प्लानिंग भी इसी रूम में होती थी। पुरानी यादों को ओल्ड स्टूडेंट्स ने रूम में पहुंचकर ताजा किया। शनिवार को आयुर्वेद कॉलेज के ओल्ड स्टूडेंट्स ने कैंपस विजिट की। सभी एल्यूमिनाई सबसे पहले प्राचार्य महेश शर्मा के कक्ष में पहुंचे और उनका सम्मान किया।

इसके बाद सभी हॉस्टल के रूम नंबर-9 में पहुंचे, जो शरारत और सांस्कृतिक गतिविधि के लिए जाना जाता रहा है। इस दौरान ओल्ड स्टूडेंट्स डॉ. बबीता शर्मा और डॉ. गीता सक्सेना ने कैंपस में बाइक चलाई। इसके बाद ओल्ड स्टूडेंट्स की एक कमेटी का गठन किया गया।

आयुर्वेद कॉलेज में 1985 से 1995 बैच के ओल्ड स्टूडेंट्स ने विजिट की

Allumini ‌Meet

कैंपस विजिट के दौरान डॉ. बबीता शर्मा और डॉ. गीता सक्सेना ने बाइक चलाई। वहीं क्लास में स्टूडेंट्स पढ़े भी।

ओल्ड टीचर्स का किया गया सम्मान

कॉलेज विजिट के बाद एल्यूमिनाई की ओर से एक होटल में कार्यक्रम कराया गया। इसमें डॉ. वैणी माधव शास्त्री, डॉ. आरएस दुबे, डाॅ. भूपेंद्र शर्मा, डॉ. केएल मिश्रा, डॉ. भटेले सहित अन्य शिक्षकों का सम्मान किया गया। कोआर्डिनेटर डॉ. नवीन ने बताया कि जो कमेटी बनाई गई है वो आगामी कार्ययोजना पर वर्क करती रहेगी। इसमें 10 ओल्ड स्टूडेंट्स को शामिल किया गया है।