• Home
  • Mp
  • Gwalior
  • मेडिकल की पढ़ाई करते-करते स्कैच देखकर की पेंटिंग बनाने की शुरुआत
--Advertisement--

मेडिकल की पढ़ाई करते-करते स्कैच देखकर की पेंटिंग बनाने की शुरुआत

डॉ. मोहन शर्मा ने अधिकतर पेंटिंग नेचर थीम पर बनाई हैं। तानसेन कला वीथिका में नेचर पर आधारित दो दिवसीय एक्जीबिशन...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:35 AM IST
डॉ. मोहन शर्मा ने अधिकतर पेंटिंग नेचर थीम पर बनाई हैं।

तानसेन कला वीथिका में नेचर पर आधारित दो दिवसीय एक्जीबिशन की शुरुआत शनिवार से हुई

Painting ‌Exhibition

सिटी रिपोर्टर | ग्वालियर

पेशे से सर्जन और शौक नेचर थीम पर फोटो खींचना और पेंटिंग बनाना। मेडिकल की पढ़ाई के दौरान बुक्स पर जो स्कैच देखे उन्हें कैनवास पर बनाने की प्रैक्टिस शुरू कर दी। इसके बाद पेंटिंग बनाने में ऐसी रुचि बढ़ी कि आज डॉ. मोहन शर्मा के पास 3 हजार से ज्यादा खुद की बनाई पेंटिंग और खींचे गए फोटो का कलेक्शन है। शनिवार से कला वीथिका में शुरू हुई एक्जीबिशन में उनके द्वारा खींचे गए 20 फोटो और 13 पेंटिंग देखी जा सकती हैं। उनके साथ डॉ. अनुराधा बरोलिया की पेंटिंग भी प्रदर्शित की गई हैं।

प|ी की प्रेरणा काम आई

डॉ. मोहन शर्मा ने बताया कि मेडिकल बुक्स में स्कैच को कैनवास पर बनाने की प्रैक्टिस शुरू हो चुकी थी। लेकिन नेचर पर पेंटिंग बनाने की प्रेरणा प|ी डॉ. अनुराधा से मिली। एक दिन उन्होंने मुझे कैनवास लाकर दिया, कुछ दिन तक मैं सोचता रहा। एक दिन जलविहार में टहलते समय इंद्रधनुष नजर आया जिसे मैंने कैनवास पर साकार किया। इस पेंटिंग को घर पर लगाया और इसे काफी सराहना मिली।

फोटोग्राफ में डहेलिया, सनफ्लॉवर

फोटोग्राफ में डहेलिया, गुड़हल, कनेर, गेंदा, चमेली, रातरानी, रोज और सनफ्लॉवर प्रदर्शित किए गए हैं। इसके अलावा हिमाचल प्रदेश के फॉरेस्ट भी उनके फोटोग्राफ में शामिल हैं। एक्जीबिशन का समापन रविवार शाम 6 बजे से होगा।