• Home
  • Mp
  • Gwalior
  • पहली बार लड़कियां बनीं राम, लक्ष्मण पुरुषों के 6 किरदार भी उन्होंने निभाएं
--Advertisement--

पहली बार लड़कियां बनीं राम, लक्ष्मण पुरुषों के 6 किरदार भी उन्होंने निभाएं

बनारस की रामलीला में अब तक पुरुषों का ही वर्चस्व रहा है, लेकिन नाटक चित्रकूट में पहली बार पहली बार लड़कियों ने...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:40 AM IST
बनारस की रामलीला में अब तक पुरुषों का ही वर्चस्व रहा है, लेकिन नाटक चित्रकूट में पहली बार पहली बार लड़कियों ने राम-लक्ष्मण का किरदार निभाया बल्कि 6 पुरुषों का किरदार भी लड़कियों ने ही किया। राम का किरदार स्वाति और लक्ष्मण का किरदार काजोल ने निभाया। इसके पीछे नाटक के निर्देशक व्योमेश शुक्ल का तर्क है कि लड़का और लड़की के बीच का भेदभाव मिटाने उन्होंने यह प्रयोग किया है। उनके मुताबिक लड़कियां, लड़कों की तुलना में ज्यादा गंभीरता से अभिनय करती हैं। लड़कियों ने सशक्त अभिनय के माध्यम से उनके इस तर्क को सही ठहराया भी। शनिवार को आईटीएम यूनिवर्सिटी के नाद एम्फी थिएटर में रंग महोत्सव के पहले दिन गोस्वामी तुलसीदास कृत रामचरितमानस की पंक्तियों पर आधारित नाटक चित्रकूट का मंचन किया गया। इस अवसर पर शहर के रंग कर्मियों के अलावा अन्य लोग मौजूद रहे।

70 मिनट के नाटक में 13 दृश्य दिखाए गए।

नाटक में छाऊ का प्रयोग किया गया।

रावण से जटायु का युद्ध।

एक नजर में नाटक