Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» पहली बार लड़कियां बनीं राम, लक्ष्मण पुरुषों के 6 किरदार भी उन्होंने निभाएं

पहली बार लड़कियां बनीं राम, लक्ष्मण पुरुषों के 6 किरदार भी उन्होंने निभाएं

बनारस की रामलीला में अब तक पुरुषों का ही वर्चस्व रहा है, लेकिन नाटक चित्रकूट में पहली बार पहली बार लड़कियों ने...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 02:40 AM IST

पहली बार लड़कियां बनीं राम, लक्ष्मण पुरुषों के 6 किरदार भी उन्होंने निभाएं
बनारस की रामलीला में अब तक पुरुषों का ही वर्चस्व रहा है, लेकिन नाटक चित्रकूट में पहली बार पहली बार लड़कियों ने राम-लक्ष्मण का किरदार निभाया बल्कि 6 पुरुषों का किरदार भी लड़कियों ने ही किया। राम का किरदार स्वाति और लक्ष्मण का किरदार काजोल ने निभाया। इसके पीछे नाटक के निर्देशक व्योमेश शुक्ल का तर्क है कि लड़का और लड़की के बीच का भेदभाव मिटाने उन्होंने यह प्रयोग किया है। उनके मुताबिक लड़कियां, लड़कों की तुलना में ज्यादा गंभीरता से अभिनय करती हैं। लड़कियों ने सशक्त अभिनय के माध्यम से उनके इस तर्क को सही ठहराया भी। शनिवार को आईटीएम यूनिवर्सिटी के नाद एम्फी थिएटर में रंग महोत्सव के पहले दिन गोस्वामी तुलसीदास कृत रामचरितमानस की पंक्तियों पर आधारित नाटक चित्रकूट का मंचन किया गया। इस अवसर पर शहर के रंग कर्मियों के अलावा अन्य लोग मौजूद रहे।

70 मिनट के नाटक में 13 दृश्य दिखाए गए।

नाटक में छाऊ का प्रयोग किया गया।

रावण से जटायु का युद्ध।

एक नजर में नाटक

नाट्य अवधि: एक घंटा 10 मिनट भाषा: अवधि, हिंदी

लेखक: डॉ. शकुंतला शुक्ल कलाकार: सीता- नंदिनी, हनुमान- तापस, शत्रुघ्न- साखी, सुग्रीव- विशाल, बालि- आकाश, रावण- हेमंत, यूथपति- अश्विनी, मेघनाद- नंदिनी, जयंत- जय, आकाश, मारीच- साखी, जटायु- जय।

कथासार: पहले दृश्य में राम-लक्ष्मण व सीता का उनके मंडल के साथ मंच पर प्रवेश होता है। दूसरे दृश्य में राम और लक्ष्मण सीता के लिए फूलों से गहने बनाते हैं। तीसरे दृश्य में इंद्र का बेटा जयंत कौवे का वेश रखकर आता है और सीता के पैर में चोंच मारकर उन्हें घायल कर देता है। दंडस्वरूप राम उसकी एक आंख फोड़ देते हैं। इसके बाद मारीच का आना और रावण द्वारा सीता का अपहरण होता है। तभी रास्ते में गिद्धराज जटायु रावण से युद्ध करते हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×