--Advertisement--

लाखों किसान हो रहे हैं प्रभावित

Gwalior News - ग्वालियर

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 03:10 AM IST
लाखों किसान हो रहे हैं प्रभावित
ग्वालियर
राज्य सरकार द्वारा अप्रैल माह में समर्थन मूल्य पर अनाज की खरीदी की जानी है, जिसके लिए खरीद केंद्र निर्धारित किए गए हैं। बड़ागांव की सोसायटी को 25 किमी दूर सिरोल गांव के साथ अटैच कर दिया है। अब बड़ागांव सोसायटी से जुड़े किसानों को अनाज बेचने सिरौल खरीद केंद्र पर जाना होगा।

बड़ागांव सोयायटी के सचिव अनिल शर्मा और सरपंच मुरारी ने खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति निगम के अफसरों की इस संबंध में शिकायत की है। उनका कहना है कि बड़ागांव सोसायटी सिरोल भेजने से किसानों को 25 किलोमीटर का अतिरिक्त परिवहन करना होगा, जबकि सोसायटी बड़ागांव में होती तो किसानों को नुकसान नहीं उठाना पड़ता।

तेज धूप में किसान के लिए लंबा सफर तय करके गेहूं बेचने जाना काफी कष्टदायक है। बड़ागांव सोसायटी के सचिव ने शिकायती पत्र में कहा है कि उनके क्षेत्र में 15 से अधिक गांवों के किसान परेशान होंगे। बड़ागांव, खुरैरी, सुनारपुरा, मोहनपुर, खेरिया पदमपुर, उदयपुर, बंधौली, रमौआ, नैनागिर के किसानों को अब सिरोल तक जाना होगा।

DB Star

next

डब्ल्यूडीआरए को देना थी प्राथमिकता

 किसी सोसायटी को कहां भेजना है, यह तय करना अधिकारियों का काम है। अफसरों को इसके निर्धारण में सरकार के नियमों का भी ध्यान रखना चाहिए। पहले डब्ल्यूडीआरए का लाइसेंस जिनके पास है उनको प्राथमिकता दें, लेकिन ऐसा नहीं हो रहा। किसी भी सोसायटी को कहीं भी भेज रहे हैं, इससे किसानों का ही नुकसान होगा। मंजू शर्मा, वेयर हाउस संचालिका

किसानों को होगा नुकसान

 बड़ागांव सोसायटी का खरीद केंद्र सिरोल भेज दिया है। इस निर्णय से 15 से अधिक गांव के किसानों को लगभग 25 किलोमीटर दूर जाना होगा। हमने इसकी शिकायत की है। अनिल शर्मा, सचिव बड़ागांव सोसायटी

हमने शिकायत की है

 बड़ागांव सोसायटी को नहीं बदला जाना चाहिए, इससे किसानों को अपना अनाज बेचने के लिए ज्यादा डीजल खर्च करना होगा। हम कलेक्टर से निवेदन करेंगे कि गांव के पास ही खरीद केंद्र बनाया जाए। पानी की कमी से किसान को पहले ही फसलों का नुकसान हो चुका है। अब वे इतनी दूर किसान जाएंगे तो उन्हें और नुकसान होगा। अफसरों को किसानों के हित में निर्णय लेना चाहिए। मुरारी, सरपंच, उदयपुर पंचायत

X
लाखों किसान हो रहे हैं प्रभावित
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..