Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» मेरिट लिस्ट के इंतजार में प्रदेश के हजारों आवेदक

मेरिट लिस्ट के इंतजार में प्रदेश के हजारों आवेदक

आवेदकों ने सुनाई डीबी स्टार को अपनी व्यथा। पीईबी द्वारा नौ माह पहले आयोजित की गई वन रक्षक व जेल प्रहरी के फिजीकल...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 03:10 AM IST

आवेदकों ने सुनाई डीबी स्टार को अपनी व्यथा।

पीईबी द्वारा नौ माह पहले आयोजित की गई वन रक्षक व जेल प्रहरी के फिजीकल टेस्ट के बाद मेरिट लिस्ट अब तक अपलोड नहीं की गई है। इससे प्रदेशभर के हजारों आवेदक परेशान हो रहे हैं।

ग्वालियर डीबी स्टार

प्रोफेशनल एक्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) द्वारा 1400 वनरक्षक व 962 जेल प्रहरी की भर्ती के लिए मार्च 2017 में आवेदन मांगे गए थे। जुलाई 2017 में आयोजित इस परीक्षा में प्रदेशभर के पांच लाख से अिधक आवेदक शामिल हुुए थे। परीक्षा का रिजल्ट दिसंबर 2017 में आया और सफल आवेदकों का जनवरी 2018 में फिजीकल हुआ। फिजीकल टेस्ट के बाद आवेदकों को बताया गया था कि 15 दिन में मेरिट लिस्ट अपलोड कर दी जाएगाी लेकिन आज तक लिस्ट जारी नहीं की गई है। आवेदक जब पीईबी के अफसरों से बात करते हैं तो वे कोई संतोषजनक जवाब नहीं देते।

बाद में हुई परीक्षाओं की मेरिट जारी

वनरक्षक और जेल प्रहरी परीक्षा होने के बाद पीईबी द्वारा पुलिस आरक्षक, एसआई, पटवारी, सूबेदार स्टेनोग्राफर के पदों के लिए परीक्षाएं कराई थीं। इन परीक्षओं में सफल आवेदकों की नियुक्ति भी शुरू हो गई है लेकिन जेल प्रहरी और वनरक्षक परीक्षा की मेरिट लिस्ट आज तक अधर में लटकी है।

विभागों से पूरी जानकारी नहीं आई है

 अभी विभागों से सफल आवेदकों की पूरी जानकारी हमारे पास नहीं आई है। जिसके कारण भर्ती परीक्षाओं का रिजल्ट घोषित नहीं किया गया है। जानकारी आते ही रिजल्ट घोषित कर दिया जाएगा। एसकेएस भदौरिया, परीक्षा नियंत्रक पीईबी

मेरिट लिस्ट जारी न होने से परेशान हैं

 जेल प्रहरी और वन रक्षक भर्ती परीक्षा का नोटिफिकेशन मार्च 2017 में निकला था। जनवरी 2018 तक फिजीकल टेस्ट हो गए। फिजीकल हो जाने के बाद 15 दिन के अंदर मेरिट लिस्ट जारी होती है। लेकिन अभी तक यह जारी नहीं की है। धर्मेन्द्र सिंह भदौरिया, आवेदक

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×