• Hindi News
  • Mp
  • Gwalior
  • सफाईकर्मी ने फांसी लगाई, भाई का आरोप लोन निकलवाने वाले ने हड़पे 5 लाख
--Advertisement--

सफाईकर्मी ने फांसी लगाई, भाई का आरोप लोन निकलवाने वाले ने हड़पे 5 लाख

Gwalior News - गिरवाई थाना क्षेत्र के अंतर्गत नगर निगम में पदस्थ एक सफाईकर्मी ने होली के दिन फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। वह...

Dainik Bhaskar

Mar 04, 2018, 03:15 AM IST
सफाईकर्मी ने फांसी लगाई, भाई का आरोप लोन निकलवाने वाले ने हड़पे 5 लाख
गिरवाई थाना क्षेत्र के अंतर्गत नगर निगम में पदस्थ एक सफाईकर्मी ने होली के दिन फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। वह पिछले दो महीने से कर्ज की वजह से परेशान था। उसने एक दलाल के माध्यम से 5 लाख का लोन निकलवाया था, जो दलाल ने हड़प लिया। इसके बाद किस्त उसके नाम से आने लगी। मृतक के भाई ने आरोप लगाया कि उसके भाई को पैसे भी नहीं मिले और हर महीने किस्त आने लगी। किस्त न भरने पर फाइनेंस कंपनी के साथ दलाल दबाव बना रहा था। इसी के चलते उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। पोस्टमार्टम होने के बाद परिजन दोपहर करीब 3 बजे शव लेकर सिकंदर कंपू पहुंचे और बीच सड़क पर शव रखकर चक्काजाम कर दिया। परिजनों की मांग थी कि मृतक की प|ी को सरकारी नौकरी और लोन के पैसे हड़पने वाले दलाल पर एफआईआर दर्ज की जाए।

सिकंदर कंपू का रहने वाला धर्मेन्द्र पुत्र लाखन सिंह पथरौल (30) नगर निगम में सफाईकर्मी था। उसकी प|ी रजनी बच्चों के साथ मायके गई थी। शुक्रवार दोपहर में वह अपने कमरे में गया और दुपट्टे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। काफी देर तक जब वह कमरे से बाहर नहीं निकला तो छोटा भाई रोशन गया। कमरे में अंदर वह फांसी के फंदे पर झूल रहा था। इसके बाद तो चीख पुकार मच गई। सूचना मिलते ही पुलिस फोरेंसिक एक्सपर्ट डॉ. अखिलेश भार्गव के साथ मौके पर पहुंची। पूरे कमरे की तलाशी ली लेकिन सुसाइड नोट नहीं मिला। शनिवार को पोस्टमार्टम के बाद परिजन शव लेकर सिकंदर कंपू स्थित पार्क के सामने पहुंचे। यहां बीच सड़क पर शव रखकर जाम लगा दिया। करीब एक घंटे तक जाम लगाए रखा। मौके पर एसडीएम लश्कर विनोद सिंह, सीएसपी लश्कर मुनीष राजौरिया पहुंचे। एसडीएम ने नौकरी के लिए प्रस्ताव शासन को भेजने और सीएसपी ने जांच कर मामला दर्ज करने का आश्वासन दिया। 10 हजार रुपए का चेक आर्थिक सहायता के रूप में परिजनों को सौंपा। इसके बाद परिजन शव ले गए।

मकान बनाने और बहन की शादी के लिए लोन निकलवाया: धर्मेन्द्र के छोटे भाई रोशन ने बताया कि उनका घर कच्चा है। पिता की मौत के बाद घर में सबसे बड़ा धर्मेन्द्र ही था और अपने छोटे भाई-बहन की देखरेख एक पिता की तरह ही कर रहा था। उसे मकान बनवाना था और छोटी बहन की शादी भी करनी थी। इसके लिए वह पड़ोस में ही रहने वाले होतम सिंह सिकरवार के संपर्क में आया। होतम ने उसे लोन दिलाने की बात कही। उसकी पे स्लिप और अन्य दस्तावेज लगाकर आधार फाइनेंस से 5 लाख रुपए का लोन निकलवा दिया। रोशन ने बताया कि लोन का पैसा उसने धर्मेन्द्र को नहीं दिया और चालाकी से अपने अकाउंट में ट्रांसफर करा लिया। उसी महीने से लोन की किस्त आने लगी। धर्मेन्द्र ने उससे कहा कि जब उसे पैसे ही नहीं मिले तो किस्त क्यों जमा करे। इस पर वह दबाव डालने लगा। उसकी बहन और प|ी के साथ गलत काम करने की भी धमकी दी। किस्त जमा न होने पर फाइनेंस कंपनी के लोग घर के चक्कर लगाने लगे। इसके चलते वह काफी तनाव में था। रोशन ने होतम सिंह को ही बड़े भाई की मौत का जिम्मेदार बताया है। पुलिस ने बताया कि होतम घर से गायब मिला है।

धर्मेन्द्र पथरौल।

पोस्टमार्टम हाउस के बाहर खड़े गमगीन परिजन।

प|ी से झगड़ा कर उसे कमरे में बंद किया और दूसरे कमरे में जाकर लगा ली फांसी

ग्वालियर| बहोड़ापुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक निजी कंपनी में सर्वे का काम करने वाले युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। आत्महत्या का कारण पति-प|ी का विवाद बताया गया है। पुलिस का कहना है वह शराब पीकर घर आया था। इस पर उसका प|ी से झगड़ा हुआ। झगड़ा होने पर उसने प|ी को एक कमरे में बंद किया और दूसरे कमरे में जाकर खुद ने फांसी लगा ली। परिजन झगड़ा होने से इनकार कर रहे हैं। पंचशील नगर में रहने वाले ओमप्रकाश तोमर का छोटा बेटा नरेन्द्र सिंह तोमर (28) एक निजी कंपनी में काम करता था। एक साल पहले ही उसकी शादी हुई थी। गुरुवार को होलिका दहन की पूजा होनी थी। इसके चलते वह घर जल्दी आ गया। वह शराब के नशे में था। पुलिस ने बताया कि शराब पीकर आने पर प|ी प्रीति ने उसे टोका। टोकने पर दोनों के बीच झगड़ा हुआ। इसके बाद वह प|ी को पकड़कर एक कमरे में ले गया। यहां उसने उसे बंद कर बाहर से कुंदी लगा दी। खुद दूसरे कमरे में चला गया। वहां उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। प|ी ने जोर-जोर से दरवाजा खटखटाया। सभी परिजन वहां पहुंच गए। इसके बाद जिस कमरे में वह गया था, वहां पहुंचे। देखा उसका दरवाजा अंदर से बंद था तो गेट तोड़कर अंदर घुसे। अंदर वह फांसी के फंदे पर झूल रहा था। इसके बाद पुलिस वहां पहुंची। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया।

बहोड़ापुर थाना क्षेत्र के पंचशील नगर की घटना

X
सफाईकर्मी ने फांसी लगाई, भाई का आरोप लोन निकलवाने वाले ने हड़पे 5 लाख
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..