• Home
  • Mp
  • Gwalior
  • कांग्रेस में टिकट के लिए 50 हजार जमा कराने के फार्मूले का विरोध
--Advertisement--

कांग्रेस में टिकट के लिए 50 हजार जमा कराने के फार्मूले का विरोध

पॉलीटिकल रिपोर्टर | ग्वालियर आगामी विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस का टिकट चाहने वालों को 50 हजार रुपए जमा कराने...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 03:20 AM IST
पॉलीटिकल रिपोर्टर | ग्वालियर

आगामी विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस का टिकट चाहने वालों को 50 हजार रुपए जमा कराने की घोषणा को लेकर विरोध के स्वर उठने लगे हैं। पार्टी के करीबी एडवोकेट पवन सिंह रघुवंशी ने पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव आैर प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया के साथ अन्य वरिष्ठ नेताआें को लिखे पत्र में इस सवाल की वैधानिकता को लेकर ही सवाल उठाए हैं। एडवोकेट रघुवंशी ने अपने पत्र में इस तरह का सवाल उठाने के साथ ही जहां खुद को पार्टी का अंतिम कार्यकर्ता बताया है, वहीं यह भी स्पष्ट किया है कि वे 2018 के विधानसभा चुनाव में पार्टी के टिकट के दावेदार नहीं हैं।

एडवोकेट रघुवंशी ने खुद को पार्टी का विश्‍वसनीय आैर प्रतिबद्ध कार्यकर्ता बताते हुए पत्र में लिखा है कि मैं पार्टी के जमीनी कार्यकर्ताआें की आेर से इस तरह के निर्णय का विरोध करता हूं। उन्होंने इस विरोध के कारणों का उल्लेख करते हुए कहा है कि ऐसा करना कानूनी आैर नैतिक रूप से उचित नहीं है। पिछले सौ साल के इतिहास में पार्टी आैर पार्टी नेताआें ने पार्टी फंड जुटाने के लिए कभी इस तरह की प्रक्रिया नहीं अपनाई है। पार्टी कोई बहुराष्ट्रीय या कारोबारी संस्था नहीं है, जो फंड जुटाने के लिए इस तरह की मांग करे।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ ही, प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव, प्रतिपक्ष के नेता अजय सिंह, वरिष्ठ नेता कमलनाथ, दिग्विजय सिंह आैर ज्योतिरादित्य सिंधिया को भेजे गए इस पत्र में एडवोकेट रघुवंशी ने लिखा है कि हर राजनीतिक पार्टी निर्वाचन आयोग में 1951 के एक्ट की धारा 29 ए के तहत पंजीकृत होती है। इसके तहत भी इस तरह से फंड जुटाना उचित नहीं है। कोई भी व्यक्ति इस मामले को लेकर न्यायालय में चुनौती दे सकता है। ऐसी स्थिति में इस फैसले पर पुनर्विचार कर 15 दिन में नया निर्णय लेने का आग्रह पत्र में किया गया है।