Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» बच्चों ने पिचकारियों से छोड़े रंग तो बड़ों ने उड़ाया गुलाल, फूलों से भी खेली होली

बच्चों ने पिचकारियों से छोड़े रंग तो बड़ों ने उड़ाया गुलाल, फूलों से भी खेली होली

होली पर इस बार लोगों ने रंग और पानी की जगह गुलाल ज्यादा लगाया। वहीं बच्चों ने पिचकारियों से खूब रंग बिखेरे। लाल...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 04, 2018, 03:20 AM IST

बच्चों ने पिचकारियों से छोड़े रंग तो बड़ों ने उड़ाया गुलाल, फूलों से भी खेली होली
होली पर इस बार लोगों ने रंग और पानी की जगह गुलाल ज्यादा लगाया। वहीं बच्चों ने पिचकारियों से खूब रंग बिखेरे। लाल टिपारा स्थित गौशाला में जहां गोबर और गुलाल की होली खेली गई। वहीं कई जगह यहां की पंरपरागत कपड़े फाड़ होली भी खेली गई। वहीं होली के रसियाओं की मंडलियों ने घर-घर जाकर फाग सुनाया,गुजिया खाईं और होली की शुभकामनाएं दी। होली पर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर,मंत्री माया सिंह,मंत्री जयभान सिंह पवैया, नारायण सिंह कुशवाह और महापौर विवेक नारायण शेजवलकर ने आमजन को पानी बचाने व सूखी होली खेलने का संदेश दिया। गौशाला में संतों ने गोबर और गुलाल की होली खेली।

आज यहां होली मिलन समारोह

युवा भृगु भार्गव समाज ग्वालियर का होली मिलन समारोह 4 मार्च को अपराह्न 3 बजे से हनुमान मंदिर (टेकरी सरकार) झांसी रोड थाना में आयोजित किया गया है। समाज से मिली जानकारी के मुताबिक इसमें समाज के हित में चर्चा के अलावा कुरीतियों को दूर करने का संकल्प भी लिया जाएगा।

कान्यकुब्ज ब्राह्मण सभा का होली मिलन 4 मार्च को कंपू स्थित शिवाजी भवन में अपराह्न तीन बजे से होगा। अध्यक्ष आरके शुक्ला ने बताया कि इस दौरान फाग गीत व अन्य मनोरंजक कार्यक्रम भी होंगे। वहीं आदि गौड़ ब्राह्मण समाज का होली मिलन रविवार को शाम 4 बजे द्वारिकाधीश मंदिर थाटीपुर पर आयोजित किया गया है। महामंत्री अशोक शर्मा ने बताया कि इस दौरान होलीगीत, भजन व सामूहिक भोज भी रखा गया है।

अखिल भारतीय अग्रवाल परिचय सम्मेलन का होलीमिलन रविवार 4 मार्च को शाम 5 बजे सिटी प्लाजा शिंदे की छावनी पर होगा। राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश ऐरन के मुताबिक इसमें परिचय सम्मेलन के अगले कार्यक्रम पर भी बात होगी। श्री कुलश्रेष्ठ सभा ग्वालियर का होली मिलन समारोह 4 मार्च को सुबह 11 बजे से सामुदायिक भवन द्वारिकापुरी प्रेमनगर में होगा। यह जानकारी अध्यक्ष नारायणस्वरूप कुलश्रेष्ठ ने दी। चित्रांश भटनागर समाज का होली मिलन रविवार को शाम 5 बजे राष्ट्रोत्थान भवन नई सड़क पर होगा। यह जानकारी भटनागर महासभा के सचिव वीरेंद्र कुमार भटनागर ने दी।

फूलों के संग होली की मस्ती

शुक्रवार को होली का पर्व अलग अंदाज में मनाया गया। इस दौरान शहर की सोसाइटी ने गुलाल के साथ फूलों से होली खेली गई। फोटो: भास्कर

ब्रह्मभट्ट ब्राह्मण समाज का होली मिलन आज

ब्रह्मभट्ट ब्राह्मण समाज (रजि.) का सपरिवार होली मिलन समारोह बालाजी मैरिज गार्डन यूनिवर्सिटी चौराहे के पास थाटीपुर में 4 मार्च को दोपहर 12 से 4 बजे तक आयोजित किया जाएगा। समाज के अध्यक्ष जगदीश प्रसाद शर्मा, मंत्री मुन्नालाल शर्मा, सदस्यगण कमल किशोर आर्य, नरेश शर्मा ज्योतिर्विद, रवि शर्मा ने सभी से अधिक से अधिक संख्या में पहुंच कर सिर्फ गुलाल की होली खेलने का आग्रह किया है।

भृगु ब्राह्मण समाज: मूर्ति प्रतिष्ठा का संकल्प

भृगु (भार्गव) ब्राह्मण समाज का होली मिलन समारोह जिंसी नाला स्थित भृगु भवन पर आयोजित हुआ। इसमें भगवान परशुराम एवं भृगु ऋषि की पूजा-अर्चना की। इस अवसर पर अध्यक्ष अरूण शर्मा,महामंत्री राजेश मिश्रा,कोषाध्यक्ष लोकेन्द्र भार्गव आदि ने समाज के लोगों को गुलाल लगाकर शुभकामनाएं दीं। साथ ही भवन निर्माण, मूर्ति प्रतिष्ठा, परिचय सम्मेलन आदि सामाजिक कार्य करने का संकल्प लिया।

चौरसिया समाज: वरिष्ठजनों का सम्मान किया

चौरसिया समाज विकास संघ ने गुढ़ा स्थित समाज के भवन में होली मिलन समारोह मनाया। इस अवसर पर समाज के बुजुर्गों का सम्मान एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम हुए। बाद में सभी सदस्यों ने फूल एवं गुलाल से होली खेली। इस अवसर पर राष्ट्रीय महामंत्री रमेश चौरसिया, संगठन मंत्री श्रीलाल चौरसिया, मनोज चौरसिया, संतोष चौरसिया आदि मौजूद थे। संघ के संतोष चौरसिया ने कहा कि पानी की कमी के कारण सभी ने सूखी होली खेली।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Gwalior News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: बच्चों ने पिचकारियों से छोड़े रंग तो बड़ों ने उड़ाया गुलाल, फूलों से भी खेली होली
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×