• Home
  • Mp
  • Gwalior
  • थ्योरी के साथ प्रैक्टिकल पर ध्यान देना होगा, तब मिलेगा फायदा
--Advertisement--

थ्योरी के साथ प्रैक्टिकल पर ध्यान देना होगा, तब मिलेगा फायदा

एक्सपर्ट ने स्पोर्ट्स मसाज का डेमोंस्ट्रेशन दिया। ग्वालियर | थ्योरी के साथ प्रैक्टिकल पर ध्यान देना होगा,...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 03:20 AM IST
एक्सपर्ट ने स्पोर्ट्स मसाज का डेमोंस्ट्रेशन दिया।

ग्वालियर | थ्योरी के साथ प्रैक्टिकल पर ध्यान देना होगा, क्योंकि स्पोर्ट्स मसाज का फील्ड प्रैक्टिकल बेस्ड है। इसकी नॉलेज के लिए इस पर ध्यान देने की जरूरत है। यह बात न्यूजीलैंड से आईं डॉ. वैशाली थमन ने कही। वे लक्ष्मीबाई नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फिजिकल एजुकेशन (एलएनआईपीई) में आयोजित वर्कशॉप में बोल रही थीं। उन्होंने कहा कि स्पोर्ट्स मसाज, खिलाड़ी के लिए काफी फायदेमंद है। लेकिन यह चोट पर निर्भर करती है कि उसे कितने दिन बाद देनी चाहिए। अगर चोट हल्की है तो 3 से 5 दिन और चोट ज्यादा है तो यह अवधि 30 से 40 दिन भी हो सकती है। इस अवसर पर प्रतिभागी मौजूद रहे।