ग्वालियर

  • Home
  • Mp
  • Gwalior
  • बोर्ड और इंटरनल मिलाकर लाने होंगे 33 प्रतिशत नंबर
--Advertisement--

बोर्ड और इंटरनल मिलाकर लाने होंगे 33 प्रतिशत नंबर

सीबीएसई के स्टूडेंट्स को अब कक्षा दसवीं की बोर्ड परीक्षा में पास होना आसान हो गया है। स्टूडेंट्स यदि इंटरनल...

Danik Bhaskar

Mar 02, 2018, 03:20 AM IST
सीबीएसई के स्टूडेंट्स को अब कक्षा दसवीं की बोर्ड परीक्षा में पास होना आसान हो गया है। स्टूडेंट्स यदि इंटरनल असेसमेंट में अच्छी तैयारी कर लेते हैं, तो उन्हें बोर्ड एक्जाम में थोड़ी राहत मिलेगी। वे इंटरनल असेसमेंट के दम पर ही कक्षा दसवीं की परीक्षा पास कर सकते हैं। हाल ही में सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन ने बोर्ड परीक्षा के मार्किंग पैटर्न और पासिंग क्राइटेरिया में बदलाव किया है। नए आदेश में कहा है कि इस साल की बोर्ड परीक्षा में स्टूडेंट्स को इंटरनल असेसमेंट और बोर्ड एक्जाम दोनों को मिलाकर 33 फीसदी मार्क्स लाने होंगे। जबकि इससे पहले उन्हें इन दोनों ही एक्जाम में अलग-अलग 33 फीसदी मार्क्स लाने पड़ते थे।

सीबीएसई कक्षा 10वीं की परीक्षा 5 मार्च से शुरू होने वाली हैं, इसमें कुछ बदलाव हुए हैं

Cbse ‌‌Update

केवल पांच सब्जेक्ट के लिए होगा बदलाव

सीबीएसई ने अपने आदेश में स्पष्ट कहा है कि पासिंग क्राइटेरिया का यह मापदंड केवल पांच सब्जेक्ट के लिए रखा गया है। यानि इसे पांच विषयों में लागू किया जाएगा। यदि कोई स्टूडेंट एक्स्ट्रा सब्जेक्ट के तौर पर छठवां या सातवां सब्जेक्ट लेता है, तो उन विषयों में पास होने का क्राइटेरिया भी अन्य पांच सब्जेक्ट की तरह होगा।

Click to listen..