ग्वालियर

  • Home
  • Mp
  • Gwalior
  • घनश्याम तेरी बंशी पागल कर जाती है...
--Advertisement--

घनश्याम तेरी बंशी पागल कर जाती है...

सरस मेले में गुरुवार को फाग और भजन गायन हुआ। इसमें स्थानीय कलाकार मनीषा जैन ने गणेश वंदना से शुरुआत की। उन्होंने...

Danik Bhaskar

Mar 02, 2018, 03:20 AM IST
सरस मेले में गुरुवार को फाग और भजन गायन हुआ। इसमें स्थानीय कलाकार मनीषा जैन ने गणेश वंदना से शुरुआत की। उन्होंने पारंपरिक बृज के लोकगीत भर पिचकारी मारी है फाग मचायो श्याम..., होली खेलन आयो श्याम आज जाए रंग में वोरी री ..., आज बृज में होली रे रसिया ...की प्रस्तुति दी। इसी क्रम में उन्होंने परदे में बैठे बैठे यूं न मुस्कराइए ..., मेरा आपकी कृपा से सब काम हो रहा है ..., घनश्याम तेरी बंशी पागल कर जाती है ...भजन गाया। उनके साथ की बोर्ड पर योगेश जैन, तबले पर योगेंद्र सिंह सिकरवार और ऑक्टोपैड पर लोकेश कुकरेजा ने संगत की।

दूसरी प्रस्तुति में योगेश जैन ने सरस्वती वंदना से शुरुआत की। उन्होंने नारायण नारायण जय गोविंद हरे ..., राम कहो मन राम कहो..., कोई श्याम सुंदर से..., हरि सुंदर नंद मुकुंदा हरि नारायण हरि ओम..., शंकरा शिव शंकरा शिव शंभू..., भजन से समापन किया। इनके साथ की बोर्ड पर रवि गर्ग, तबले पर जगत नारायण और गिटार पर गौर शंखवार ने संगत की।

Musical ‌‌Program

कलाकारों ने दर्शकों की फरमाइश पर भजन और फाग सुनाए।

Click to listen..