• Home
  • Mp
  • Gwalior
  • स्कॉलरशिप घोटाला : 4 और शिकायतों की जांच, सामने आएगा बड़ा घोटाला
--Advertisement--

स्कॉलरशिप घोटाला : 4 और शिकायतों की जांच, सामने आएगा बड़ा घोटाला

आदिम जाति कल्याण विभाग और बैंक अफसरों की मिलीभगत से हुए 62 लाख रुपए के स्कॉलरशिप घोटाले के दोनों आरोपियों को पुलिस...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 04:15 AM IST
आदिम जाति कल्याण विभाग और बैंक अफसरों की मिलीभगत से हुए 62 लाख रुपए के स्कॉलरशिप घोटाले के दोनों आरोपियों को पुलिस ने पूछताछ के बाद जेल भेज दिया है। वहीं अजाक पुलिस के पास स्कॉलरशिप घोटाले से जुड़ी 4 और शिकायतें पहुंची हैं। इन शिकायतों की प्रारंभिक पड़ताल में पता चला है कि घोटाले में आदिम जाति कल्याण विभाग के अफसर, बैंक अफसर और कुछ कॉलेज संचालक भी शामिल हैं। पुलिस अफसरों को उम्मीद है कि घोटाले की जांच सही दिशा में गई तो 2 करोड़ रुपए से ज्यादा का घोटाला सामने आ सकता है।

अजाक पुलिस से मुरैना की छात्रा कुसुम जाटव ने शिकायत की थी कि उसकी स्कॉलरशिप किसी ने फर्जी दस्तावेज लगाकर निकाल ली है। स्कॉलरशिप 2015 में निकाली गई थी तभी से मामले की जांच चल रही थी। जांच के दौरान पता चला कि कुसुम की तरह से 45 और छात्रों के 62 लाख रुपए की स्कॉलरशिप फर्जी दस्तावेजों से निकाल ली गई है। इस मामले में पुलिस ने बैंक ऑफ इंडिया के पूर्व वरिष्ठ शाखा प्रबंधक राधेश्याम गुप्ता और आदिम जाति कल्याण विभाग के कंप्यूटर ऑपरेटर रवि माहाैर को गिरफ्तार किया था। गुरुवार काे न्यायालय में प्रस्तुत करने के बाद जेल भेज दिया गया। इसमें पूर्व वरिष्ठ शाखा प्रबंधक श्री गुप्ता ने पुलिस को बताया कि उन्होंने अपने वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर खाते खोले थे। इसके लिए वह कॉलेज भी गए थे लेकिन अब कॉलेज वाले इस बात से मुकर रहे हैं। पुलिस आदिम जाति कल्याण विभाग, बैंक और कॉलेज के बीच के लिंक में कौन-कौन शामिल था यह तलाश कर रही है। इस मामले में अभी पकड़े गए आरोपियों के अलावा छात्रवृत्ति प्रभारी ओपी शर्मा को भी तलाश कर रही है। पुलिस अफसरों का कहना है इस फर्जीवाड़े में और भी आरोपी बनाए जाएंगे।

आदिम जाति कल्याण विभाग के पास चार और छात्रों ने शिकायत की है, उनकी छात्रवृत्ति भी फर्जी दस्तावेज लगाकर निकाल ली गई थी। प्रारंभिक पड़ताल में पता चला है कि इसमें भी शिकायत 4 अलग-अलग छात्राें ने की है लेकिन फर्जी दस्तावेजों से जिन छात्रों की स्कॉलरशिप निकाली गई है वह संख्या ज्यादा है।

ईओडब्ल्यू में फर्जी दस्तावेज से स्कॉलरशिप निकाले जाने के 7 मामले, 400 से ज्यादा छात्रों की स्कॉलरशिप निकाली गई थी

फर्जी दस्तावेज से स्कॉलरशिप निकाले जाने के 7 मामलों में आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो जांच कर रहा है। एसपी ईओडब्ल्यू रघुवंश सिंह के अनुसार स्कॉलरशिप घोटाले के 7 मामलों की जांच चल रही है इसमें लगभग 400 से ज्यादा छात्रों की स्कॉलरशिप फर्जी दस्तोवजों के आधार पर निकाली गई थी। इन मामलों में अभी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

शिकायतों की जांच चल रही है