• Home
  • Mp
  • Gwalior
  • शूटर बंटी गिरफ्तार, कहा-राहुल ने बनाया था मर्डर का प्लान, उसके कहने पर मारी थीं गोलियां
--Advertisement--

शूटर बंटी गिरफ्तार, कहा-राहुल ने बनाया था मर्डर का प्लान, उसके कहने पर मारी थीं गोलियां

पड़ाव के तानसेन रोड पर 20 फरवरी को हुए सनसनीखेज अभिषेक तोमर मर्डर केस में पुलिस ने शूटर बंटी भदौरिया और मददगार...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 04:15 AM IST
पड़ाव के तानसेन रोड पर 20 फरवरी को हुए सनसनीखेज अभिषेक तोमर मर्डर केस में पुलिस ने शूटर बंटी भदौरिया और मददगार पृथ्वी राज चौहान की गिरफ्तारी बता दी है। बंटी ने पुलिस को बताया है कि राहुल के कहने पर उसने हत्या की थी। राहुल ने कहा था कि उसे मालामाल कर देंगे। राहुल ने भी हत्या की सुपारी ली थी, सुपारी किसने दी थी इस सवाल पर बंटी कहता है कि उसे जानकारी नहीं है। पुलिस ने बंटी के कब्जे से 9 एमएम की पिस्टल और पृथ्वीराजq से कट्टा बरामद किया है।

बंटी ने बताया है कि अभिषेक की हत्या की साजिश रचने में राहुल के अलावा छह और लोग शामिल थे। इनमें से किसी का नाम भी एफआईआर में दर्ज नहीं है। एसपी डॉ. आशीष का कहना है कि जिनके खिलाफ एफआईआर दर्ज है उन्हें क्लीन चिट नहीं दी गई है जैसे-जैसे सबूत सामने आएंगे उन पर भी शिकंजा कस दिया जाएगा।

इस मामले में चश्मदीदों ने बताए थे पुलिस को नाम

एसपी डॉ. आशीष और एडीशनल एसपी दिनेश कौशल ने बताया कि 20 फरवरी को कोर्ट पेशी से लौटते समय अभिषेक तोमर की हत्या कर दी गई थी। इस मामले में चश्मदीदाें ने पंकज सिकरवार, सोनू राठौर, ओमकार, रविंद्र सिंह, वीरु ताेमर, विजय और अमित भदौरिया के नाम पुलिस को बताए थे। पुलिस ने पड़ताल शुरू की तो पता चला कि अभिषेक को गोली बंटी भदौरिया और आनंद राठौर ने मारी है। पुलिस जब तक इन पर शिकंजा कसती यह दोनों बदमाश शहर छोड़कर भाग गए। इस बीच पुलिस को पता चला कि पृथ्वी राज उर्फ राज चौहान ने बंटी की मदद की थी। राज चौहान को पकड़कर पूछताछ शुरू की गई तो उसने बंटी के हत्या में शामिल होने की बात पुलिस के सामने स्वीकार कर ली। पुलिस ने बंंटी की घेराबंदी कर इसे गिरफ्तार कर लिया। बंटी ने पुलिस को बताया कि हत्या की योजना राहुल राजावत ने बनाई थी, उसके साथ हत्या के लिए गोलियां आनंद राठौर ने भी चलाई थीं। उसने 9 एमएम की पिस्टल से 5 फायर किए थे और आनंद ने 32 बोर की रिवॉल्वर से 3 फायर किए थे। हत्या की साजिश में विक्रम राणा, गजेंद्र उर्फ गडारा, गौरव राणा और राहुल राजावत भी शामिल थे। हत्या करवाने के लिए राहुल ने 5-5 हजार रुपए देकर कहा था कि काम करो। काम होने के बाद तुम लोगों को मालामाल कर दिया जाएगा। बंटी पुलिस को यह नहीं बता पाया कि राहुल ने अभिषेक की हत्या क्याें करवाई। एसपी डॉ. आशीष का कहना है कि पड़ताल में यह बात स्पष्ट हो गई है सुपारी देकर हत्या कराई गई है। लेकिन कितने की सुपारी दी गई और किसने दी। यह राहुल के पकड़े जाने के बाद पता चलेगा। एसपी डॉ. आशीष ने थाना प्रभारी माधौगंज विनय शर्मा, पड़ाव थाना प्रभारी संतोष सिंह सहित क्राइम ब्रांच की टीम को 10 हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा की है।

अभिषेक तोमर

पुलिस गिरफ्त में बंटी भदौरिया व पृथ्वीराज।

परमाल की हत्या करना चाहते थे पर सुरक्षा देखकर लौट आए

20 फरवरी को ही परमाल सिंह की कोर्ट में पेशी थी और अभिषेक उसकी हत्या करने के इरादे से वहां गया था। लेकिन यहां पर पुलिस की सुरक्षा और भीड़-भाड़ होने की वजह से उसे अपने काम में सफलता नहीं मिल पाई थी, इसके बाद इन लोगों ने लौटकर अभिषेक को घेर लिया ताकि परमाल की ताकत कम हो सके। सूत्रों का कहना है कि हत्या की डील 12 लाख रुपए में हुई थी हालांकि पुलिस इसकी पुष्टि नहीं कर रही है।