Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» जनकगंज में आधी रात को कारोबारी के बेटे और भतीजे पर हुआ हमला

जनकगंज में आधी रात को कारोबारी के बेटे और भतीजे पर हुआ हमला

जनकगंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत शनिवार की रात दो कारोबारियों के बीच हुए झगड़े में दोनों पक्षों के तीन लोग घायल हुए...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 04:35 AM IST

जनकगंज में आधी रात को कारोबारी के बेटे और भतीजे पर हुआ हमला
जनकगंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत शनिवार की रात दो कारोबारियों के बीच हुए झगड़े में दोनों पक्षों के तीन लोग घायल हुए हैं। एक पक्ष में शहर के कारोबारी व चेंबर के पूर्व पदाधिकारी हेमंत गुप्ता का बेटा सौरभ गुप्ता और भतीजा मयंक गुप्ता शामिल हैं। जबकि दूसरे पक्ष से धर्मेन्द्र गुर्जर को चोटें आई हैं। तीनों को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस मामले में हेमंत गुप्ता की रिपोर्ट पर धर्मेन्द्र गुर्जर सहित 6 लोगों के खिलाफ देर रात एफआईआर दर्ज कराई गई।

वारदात के संबंध में हेमंत गुप्ता ने बताया कि उनका बेटा और भतीजा कर्मचारियों के साथ जनकगंज क्षेत्र में शराब की नई दुकान के लिए फर्नीचर तैयार करा रहे थे। इसी दौरान धर्मेन्द्र गुर्जर, लक्ष्मण सिंह, देवेन्द्र, रामू गुर्जर, लल्ला गुर्जर, नवल किशोर और पंजाब गुर्जर आए। इन्होंने उनकी दुकान किराए से न लेने पर धमकाया और अभद्रता करने लगे। इसका विरोध करने पर आरोपियों ने मारपीट शुरू कर दी। इतना ही नहीं आरोपियों की बिल्डिंग के गार्ड ने गोली भी चलाई। सौरभ, मयंक की लाठी, बंदूक की बंटों से मारपीट की और भाग गए। जबकि दूसरे पक्ष का कहना है कि सौरभ और मयंक ने उनकी बिल्डिंग के सामने कार लगा दी थी। इसे हटाने को कहा तो अभद्रता करने लगे। इसी पर विवाद हुआ और उन्होंने पहले हमला किया था। इसके बाद मारपीट हुई। टीआई जनकगंज संजीव नयन शर्मा ने बताया कि दोनों पक्षों से घटना की जानकारी ली है। एक पक्ष ने एफआईआर दर्ज करा दी है।

थाने में शिकायत दर्ज कराते कारोबारी।

हमले में घायल सौरभ।

पुलिस तलाशती रही

दाल बाजार के कारोबारी को धमका गया वारंटी

ग्वालियर| बहोड़ापुर पुलिस वारंटी को तलाश कर रही थी और वह दाल बाजार में कारोबारी को धमकी दे गया। घटना शनिवार को दोपहर 3.30 बजे की है। बहोड़ापुर थाने की पुलिस स्थायी वारंटी हरिमोहन शिवहरे को तलाश रही है। वह पिछले दो साल से फरार बताया जाता है। शनिवार की दोपहर लगभग 3.30 बजे दाल बाजार में शिवपुरी ट्रेडिंग कंपनी पर अरुण कुमार अग्रवाल बैठे थे, इसी दौरान हरिमोहन वहां पहुंच गया। उसने श्री अग्रवाल से कहा कि वह जमीन के चक्कर में क्यों पड़े हैं। उसने कहा कि जमीन के लिए मरेंगे और मारेंगे लेकिन जमीन नहीं देंगे। इसके बाद वह चला गया। एसपी डॉ. अाशीष का कहना है कि हरिमोहन स्थायी वारंटी है, उसे तलाश किया जा रहा है। उसकी तलाश में दबिश दिलवाई जाएगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×