Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» निगम ने पिछले साल से 1.30 करोड़ ज्यादा वसूला संपत्तिकर फिर भी टारगेट से पीछे

निगम ने पिछले साल से 1.30 करोड़ ज्यादा वसूला संपत्तिकर फिर भी टारगेट से पीछे

नगर निगम का संपत्तिकर वसूली अभियान मार्च माह के आखिरी दिन शनिवार देर शाम तक चलता रहा। टीम का शहर के साथ-साथ ग्रामीण...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 04:35 AM IST

नगर निगम का संपत्तिकर वसूली अभियान मार्च माह के आखिरी दिन शनिवार देर शाम तक चलता रहा। टीम का शहर के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों पर ज्यादा ध्यान रहा। वहां से टीम को दोपहर 3 बजे से अच्छी वसूली मिली। आखिरी वक्त में लोग पांच से दस लाख रुपए के चेक लेकर जमा करने के लिए पहुंचे। इस वित्तीय वर्ष में नगर निगम को संपत्तिकर 51 करोड़ 71 लाख रुपए मिला। जो पिछले साल से 1.30 करोड़ रुपए ज्यादा है। इस साल एक लाख आठ हजार लोगों से टैक्स की वसूली की गई है। निगम का टारगेट 75 करोड़ रखा गया था। वहीं जल कर 20 करोड़ रुपए आखिरी दिन तक जमा हो चुका है।

अपर आयुक्त रिकेंश वैश्य और उपायुक्त जगदीश अरोरा ने बताया, आखिरी दिन टीमों ग्रामीण क्षेत्रों से अच्छा राजस्व मिला है। शनिवार शाम तक करीब 52 लाख रुपए की राशि आ चुकी थी। रात में भी बाजारों में टीमें गईं हैं। जिन्होंने संपत्तिकर जमा नहीं किया है, उनसे वसूली चल रही है। शनिवार रात 12 बजे तक लोग आनॅलाइन भी संपत्तिकर जमा करेंगे। उसका आंकड़ा अगले दिन मिल पाएगा। पिछले साल नगर निगम ने 50 करोड़ 41 लाख रुपए का संपत्तिकर वसूला था। इस साल यह आंकड़ा 51.71 करोड़ पहुंच गया है। शहर में कुल संपत्तिधारक 2.32 लाख हैं।

रजिस्ट्रार कार्यालय: आखिरी दिन हुईं 200 रजिस्ट्री

वित्तीय वर्ष के अंतिम दिन रजिस्ट्रार कार्यालय में 200 लोगों ने रजिस्ट्री कराईं। इसके साथ ही विभाग ने अपने 325 करोड़ के टारगेट को पीछे छोड़ते हुए 326 करोड़ रुपए की वसूली की। पिछले साल की तुलना में इस बार 15 फीसदी रजिस्ट्री ज्यादा हुई थीं। पिछले वर्ष रजिस्ट्री का आंकड़ा 31 हजार 200 था, जो इस बार बढ़कर 35 हजार 600 हो गया। विभागीय अधिकारियों के अनुसार ग्वालियर कार्यालय ने राजस्व वसूली में प्रदेश में सर्वाधिक 135 फीसदी बढ़ोतरी हासिल की है। हालांकि एक अप्रैल से नई गाइड लाइन लागू न हो पाने के कारण अंतिम दिन ज्यादा भीड़ नहीं रही।

20 करोड़ का जल कर जमा: पिछले साल नगर निगम ने 19 करोड़ 82 लाख रुपए का जल कर वसूला था। नोडल अधिकारी आरके शुक्ला ने बताया 20 करोड़ रुपए के करीब जल कर अंतिम दिन तक आ चुका है। अभी आॅनलाइन का फिगर भी इसमें शामिल करना होगा। शहर में सवा लाख के करीब जल कर उपभोक्ता हैं।

बिजली कंपनी

पिछले साल से 3 करोड़ अधिक की हुई वसूली पिछले साल की अपेक्षा इस साल बिजली कंपनी के अधिकारियों ने बिजली के बिलों की रिकॉर्ड वसूली की है। इस साल मार्च में पिछले साल की अपेक्षा चार करोड़ रुपए के बिजली बिलों की वसूली हुई है। पिछले साल मार्च में 39 करोड़ रुपए की वसूली हुई थी। वहीं इस साल 42 करोड़ रुपए की वसूली अधिकारियों ने की है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×