Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» पवनपुत्र के दर्शन कर बल, विद्या व बुद्धि मांगी

पवनपुत्र के दर्शन कर बल, विद्या व बुद्धि मांगी

ग्वालियर| बल और बुद्धि के देवता हनुमान जी की जयंती पर शनिवार को मंदिरों पर श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। इस दौरान...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 04:35 AM IST

पवनपुत्र के दर्शन कर बल, विद्या व बुद्धि मांगी
ग्वालियर| बल और बुद्धि के देवता हनुमान जी की जयंती पर शनिवार को मंदिरों पर श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। इस दौरान मंदिरों में छप्पन भोग लगाए गए, फूल बंगला सजाने के साथ ही जगह-जगह भंडारे हुए। श्रद्धालुओं ने स्तुति कर हनुमान जी से बल और बुद्धि मांगी। तड़के से ही शहर के प्रसिद्ध हनुमान मंदिरों पर श्रद्धालुओं का तांता लगना प्रारंभ हो गया था। सुबह पांच बजे हनुमान मंदिरों पर हनुमानजी के जन्म की आरती की गई। रोकड़िया सरकार मंदिर, खेड़ापति हनुमान मंदिर, गरगज हनुमान मंदिर,संकट मोचन बालाजी धाम मंदिर, मंशापूर्ण हनुमान मंदिर, राम लला मंदिर, शकुंतलापुरी स्थित बालाजी धाम परमहंस मंदिर, द्वारिकाधीश मंदिर, कुम्हरपुरा स्थित हनुमान मंदिर सहित प्रमुख मंदिरों पर भजन कीर्तन के साथ छप्पन भोग लगे और भंडारे हुए।

गरगज हनुमान की उतारी आरती बालाजी सरकार पर सवामनी हवन

गरगज के हनुमान मंदिर में सुबह 5 बजे बैंड बाजों के साथ आरती उतारी गई। रविवार को बालाजी सरकार की पालकी निकाली जाएगी। अचलेश्वर मंदिर स्थित हनुमान मंदिर में सुबह आरती के बाद सुंदरकांड का पाठ हुआ। शाम को फूल बंगला सजाया गया। फालका बाजार स्थित राम मंदिर में भगवान राम का विशेष श्रंगार किया जाएगा। खेड़ापति महाराज व मंशापूर्ण हनुमान मंदिर में बजरंगबली का विशेष शृंगार किया गया। इस अवसर पर भंडारे का आयोजन किया गया। रेलवे स्टेशन पर रेलवे कोर्ट के सामने स्थित प्राचीन हनुमान मंदिर में अखंड रामायण का पाठ के बाद दुकानदार कल्याण एसोसिएशन की ओर से हवन एवं भंडारा हुआ।

बालाजी महाराज का अभिषेक

बहोड़ापुर बालाजी धाम में शनिवार को बालाजी सरकार का सवामनी हवन हुआ। इसके उपरांत भंडारे का आयोजन किया गया। ज्योतिषाचार्य सतीश सोनी ने बताया कि रात में बाबा की चौकी और माता का जागरण हुआ। श्री बजरंग बाल मंडल के तत्वावधान में मैना वाली गली स्थित मेंहदीपुर बालाजी सरकार का जन्मोत्सव मनाया जा रहा है। शनिवार को गौरव महाराज ने बालाजी महाराज का अभिषेक किया। आरती के उपरांत प्रसाद वितरित किया गया। 2 अप्रैल को बालाजी महाराज का चल समारोह निकलेगा। 3 अप्रैल को छप्पन भोग,फूल बंगला एवं भंडारे का आयोजन किया जाएगा।

हनुमान जन्मोत्सव समिति द्वारा निकाली गई राम- हनुमान रथयात्रा में वानर सेना के रूप में शामिल लोग।

जल संकट दूर करने की प्रार्थना, निकाली राम हनुमान रथयात्रा

हनुमंत जन्मोत्सव समिति के तत्वावधान में शहर को जल संकट से निजात दिलाने की कामना से आयोजित 31 दिवसीय उत्सव के तहत शनिवार को सुबह 4 बजे संकट मोचन मंदिर पर जगवीर सिंह तोमर ने बालाजी सरकार का अभिषेक कर शृंगार किया। तदुपरांत फूल बंगला सजाया गया। दोपहर 3 बजे कोटेश्वर महादेव मंदिर से ग्वालियर में जल संकट समाप्त करने की प्रार्थना के साथ राम हनुमान रथयात्रा निकाली गई। रथयात्रा में आगे-आगे प्रभु बालाजी सरकार अपने 11 रूपों के साथ और उनके पीछे हाथों में सोटे लिए श्रद्धालु जयश्री राम की जयघोष करते हुए चल रहे थे। रथयात्रा में मां अंबे एवं प्रभु श्रीराम, राम दरबार की झांकी थी। आयोजन समिति के जगवीर सिंह तोमर एवं मीडिया प्रभारी दीपक श्रीवास्तव ने बताया कि शाम 7 बजे बालाजी सरकार को 121 प्रकार के व्यंजनों का भोग लगाए गए। उत्सव के तहत 1 अप्रैल को भंडारा होगा।

बजरंग दल ने निकाली शोभायात्रा

बजरंग दल द्वारा छत्री मंडी से हनुमान जी और राम दरबार की झांकियों के साथ चल समारोह निकाला गया। विश्व हिंदू परिषद के प्रांत सहमंत्री पप्पू वर्मा,मनोज रजक सहित अन्य कार्यकर्ताओं ने रोकड़िया सरकार के दरबार में ध्वज पूजन किया। इसके बाद ध्वज चल समारोह प्रारंभ हुआ। यह चल समारोह छत्री मंडी, जनकगंज रोड, दौलतगंज, माधौगंज चौराहा होते हुए महाराज बाडा स्थित हनुमान मंदिर पर पहुंचा जहां हनुमान मंदिर पर ध्वज चढ़ाया गया। हिंदू सेना के तत्वावधान में अचलेश्वर महादेव मंदिर से चल समारोह निकाला गया। यह चल समारोह जयेंद्रगंज चौराहा, ऊंट पुल, पाटनकर बाजार होते हुए महाराज बाड़ा पहुंचा। चल समारोह का जगह-जगह भव्य स्वागत किया गया। अखिल भारत हिंदू महासभा ने भी हनुमान जयंती मनाई।

धुआं हनुमान मंदिर पर हुआ दंगल

घाटीगांव स्थित धुआं के हनुमान मंदिर पर दंगल का आयोजन किया गया। इसमें ग्वालियर के अलावा मुरैना, भिंड, शिवपुरी, गुना, अशोकनगर एवं घाटीगांव के पहलवानों ने हिस्सा लिया।

महाराष्ट्र के बैंड और पंजाब के ढोल ताशे वालों ने दी रामधुन की प्रस्तुति

हनुमान जयंती पर रोकड़िया सरकार के दरबार में वैदिक मंत्रोच्चार के साथ विशेष पूजा की गई। तदुपरांत हनुमान जी की रथ यात्रा निकाली गई। 20 फुट ऊंची हनुमानजी की प्रतिमा सराफा बाजार, डीडवाना ओली, डिलाइट टॉकीज, पाटनकर बाजार, दौलतगंज होते हुए रामलीला मैदान छत्री बाजार पहुंची। महाराष्ट्र के सतारा से आए 80 सदस्यों का बैंड और पंजाब से आए ढोल ताशे वालों ने रामधुन की प्रस्तुति दी। मुंबई और कोलकाता से आए सनातन धर्म के प्रचारक ने भगवान की लीलाओं की प्रस्तुति दी। शिवाजी पार्क स्थित मां चामुण्डा देवी बालाजी मंदिर में शनिवार को चोला चढ़ाने उपरांत फूलबंगला सजाया गया। भजन कीर्तन के बाद सुंदरकांड का सामूहिक पाठ हुआ। वहीं हिंदू महासभा के कार्यकर्ताओं ने हनुमान रथयात्रा निकाली। इसके अलावा शहर भर में अनेक कार्यक्रम आयोजित किए गए।

रोकड़िया सरकार की रथयात्रा में सजी झांकी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×