• Hindi News
  • Mp
  • Gwalior
  • जंगल में हो रहा था पत्थर का अवैध उत्खनन, टीम को देख भागे बदमाश
--Advertisement--

जंगल में हो रहा था पत्थर का अवैध उत्खनन, टीम को देख भागे बदमाश

लगातार मिल रही अवैध उत्खनन की सूचना पर वन विभाग की टीम ने गुरुवार को घाटीगांव के जंगलों में सर्चिंग की। इस दौरान...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 05:35 AM IST
लगातार मिल रही अवैध उत्खनन की सूचना पर वन विभाग की टीम ने गुरुवार को घाटीगांव के जंगलों में सर्चिंग की। इस दौरान टीम को दो स्थानों पर अवैध उत्खनन होता मिला। टीम को देख बदमाश मौके से फरार हो गए। टीम ने यहां पर मिला फर्शी पत्थर नष्ट कर दिया। सोन चिरैया अभयारण्य अधीक्षक जीएस जोनवार के नेतृत्व में घाटीगांव रेंजर एके त्रिपाठी, डांडा खिरक चौकी प्रभारी कालीचरण चतुर्वेदी ने घाटीगांव रेंज की महुआ खेड़ा और डांडा खिरक वन चौकी में स्थित जंगल में चेकिंग अभियान चलाया। टीम सुबह 11 बजे जंगल पहुंची अौर शाम 7 बजे तक सर्चिंग की। टीम जब महुआखेड़ा के जंगलों में सर्चिंग कर रही थी कुछ लोग दिखाई दिए। इधर टीम को देख मौके पर मौजूद बदमाश जंगलों में भाग गए। इस पर वन रक्षक वीरेंद्र शर्मा और अमरजीत जाट ने जंगल में काफी दूर तक बदमाशों का पीछा किया। लेकिन वे उन्हें पकड़ नहीं सके। यहां से टीम ने 8 घन मीटर पत्थर जब्त किया। इसके अलावा डांडा खिरक के जंगल से 5 घन मीटर फर्शी पत्थर जब्त किया गया। जब्त किए गए पत्थर की कीमत 18,200 रुपए बताई गई है। टीम ने यहां से अवैध उत्खनन में उपयोग होने वाले औजारों को भी जब्त किया है।

कार्रवाई

सूचना मिलने पर घाटीगांव के जंगल में वन विभाग की टीम गई थी

जंगल में तैनात अमला हड़ताल पर जाएगा

जंगलों में तैनात वन कर्मचारी मांगों को लेकर 17 फरवरी को हड़ताल पर जाएंगे। इससे एक दिन जंगलों की सुरक्षा प्रभावित होगी। मांगों के निराकरण के लिए मप्र वन कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों ने सीएम को भी ज्ञापन दिया था। मप्र वन कर्मचारी संघ के उपाध्यक्ष राजेंद्र शर्मा ने बताया कि सरकार वन कर्मचारियों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। श्री शर्मा ने बताया कि यदि मांगों का निराकरण नहीं किया गया तो संघ अनिश्चितकालीन हड़ताल पर भी जा सकता है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..