--Advertisement--

भगवान को छल-कपट पसंद नहीं

ग्वालियर|संत की आज्ञा में चलने वाले व्यक्ति का कभी भी अनिष्ट नहीं हो सकता है। भगवान को छल , कपट और चालाकी पसंद नहीं...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 05:40 AM IST
भगवान को छल-कपट पसंद नहीं
ग्वालियर|संत की आज्ञा में चलने वाले व्यक्ति का कभी भी अनिष्ट नहीं हो सकता है। भगवान को छल , कपट और चालाकी पसंद नहीं है। भगवान को तो सरल हृदय भक्त ही भाता है। भगवान के यहां छोटे बालक बनकर जाओ। यह विचार संत रमेश लाल ने गुरुवार को दादाजी धाम धर्मपुरी मंदिर परिसर में चल रही श्रीराम कथा में प्रवचन के दौरान व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि यह संसार भगवान का बगीचा है जिसमें भांति-भांति के पुष्प खिले हैं। हम बगिया के पुष्प हैं और परमात्मा इसका माली। माली को अधिकार है कभी किसी भी पुष्प को तोड़ ले। जीवन रूपी बगिया का पुष्प कब टूट जाए कोई भरोसा नहीं इसलिए हमारा कर्म श्रेष्ठ होना चाहिए। कथा के अंत में राम-भरत मिलाप की झांकी भी सजाई गई।

X
भगवान को छल-कपट पसंद नहीं
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..