Hindi News »Madhya Pradesh News »Gwalior News» अहमदाबाद ट्रेन ग्वालियर और कानपुर शताब्दी इलाहाबाद तक बढ़ने की उम्मीद

अहमदाबाद ट्रेन ग्वालियर और कानपुर शताब्दी इलाहाबाद तक बढ़ने की उम्मीद

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 01:45 PM IST

गुरुवार को केंद्रीय और रेल बजट एक साथ पेश किया जाएगा। इन दोनों बजट से शहरवासियों को काफी उम्मीद है। बजट को लेकर शहर...
गुरुवार को केंद्रीय और रेल बजट एक साथ पेश किया जाएगा। इन दोनों बजट से शहरवासियों को काफी उम्मीद है। बजट को लेकर शहर के लोगों की उत्सुकता और उम्मीद क्या हैं, इसको लेकर भास्कर ने रेल यात्रियों व शहर के चार्टर्ड अकाउंटेंट्स से बातचीत कर जानने कोशिश की।

रेलवे रिपोर्टर | ग्वालियर

संसद में गुरुवार को पेश होने वाले बजट को लेकर आम आदमी को कई उम्मीदें आैर अपेक्षाएं हैं। चूंकि रेल बजट इसी के साथ आएगा, ऐसे में शहरवासियों को कुछ नई सुविधाआें की उम्मीद है। संभावना है कि बजट में सप्ताह में एक दिन चलने वाली ग्वालियर-पूना एक्सप्रेस को फेरे बढ़ने वाली ट्रेन की सूची में शामिल किया जा सकता है। इटावा ट्रैक पर ट्रेन बढ़ाने व इलाहाबाद जोन में दिल्ली से कानपुर के बीच चलने वाली शताब्दी को इलाहाबाद तक बढ़ाने के प्रस्ताव को भी हरी झंडी मिलने की संभावना है।

अहमदाबाद-आगरा ट्रेन को सप्ताह में तीन दिन ग्वालियर तक बढ़ाने का प्रस्ताव भी हाल ही में तैयार कर बोर्ड को भेजा है। बोर्ड बजट में विस्तारित ट्रेनों की सूची में जोड़े जाने की संभावना है। लगभग 3 माह पूर्व ग्वालियर सहित देश के अन्य स्टेशनों को विकसित किए जाने के आर्किटेक्टों से डिजाइन मांगे थे। इसके लिए बजट में फंड का आबंटन दिया जाएगा।

स्पीड बढ़ाने बदलेगा ट्रैक: बजट में ट्रैक को बदले जाने के लिए योजना घोषित करते हुए फंड बढ़ाया जाएगा। अधिक पुरानी पुरानी लाइन वाले क्षेत्रों की सूची और प्राथमिकता भी तय की जा रही है। ट्रैक बदलने से ट्रेनों की स्पीड भी बढ़ जाएगी और हादसों का ग्राफ भी कम हो जाएगा। थर्ड और फोर्थ लाइन के निर्माण के लिए भी अधिक फंड आवंंटन किया जाएगा। आधुनिकीकरण के तहत भिंड लाइन की इंटरलॉकिंग के लिए भी फंड का आवंटन किया जा सकता है।

पूना एक्सप्रेस के फेरे बढ़ने की संभावना

एसी में बढ़े सुविधा, महिलाओं की सुरक्षा के लिए ट्रेन स्क्वाड में महिला बल भी किया जाए शामिल

रेल बजट से महिलाओं को उम्मीद

ट्रेनों में वातानुकूलित श्रेणी में सुविधाएं काफी बिगड़ गई हैं। एसी का किराया हवाई यात्रा के समान ही होता है इसलिए इसमें सुविधाएं भी बढ़ाई जाना चाहिए। कोच अटेंडेंट भी प्रशिक्षित नहीं होते। बेडरोल की क्वालिटी व सफाई भी ठीक नहीं होती, इसमें सुधार किए जाने की बहुत जरूरत है।

ट्रेनों में महिलाओं की सुरक्षा के लिए सुरक्षा स्क्वाड में महिला बल को भी शामिल किया जाना चाहिए .

स्लीपर कोच को सुरक्षित करने के लिए लंबी दूरी की भीड़ वाली ट्रेनों में जनरल कोच की संख्या बढ़ाई जाना चाहिए ।

स्टेशन पर एसी सैकंड या फस्ट के लिए अलग वेटिंग रूम नहीं है। इसकी सुविधा मिलना चाहिए।

स्टेशन पर बनाया गया एस्कलेटर भी व्यवस्थित तरीके से सही ड्राइंग पर नहीं बनाया गया है, इसे ठीक किया जाना चाहिए। बैंगलुरू व अहमदाबाद के लिए ट्रेनें बढ़ाई जाएंं।

-जैसा कि महिला उद्यमी जीडी गोयनका स्कूल व एएस मोटर्स की संचालक अंजलि गर्ग ने दैनिक भास्कर को बताया

बढ़ सकती है नगद लेन-देन में छूट सीमा

हमने शहर के चार्टर्ड अकाउंटेंट और कर सलाहकार से बजट के संबंध में संभावनाएं जानने का प्रयास किया। चर्चा में खास संभावनाएं सामने आईं हैं

फिलहाल जमीन बेचने पर नगद लेन-देन की रकम 20 हजार है। किसानों की परेशानी को देखते हुए सरकार इसे बढ़ाकर दो लाख रुपए तक कर सकती है।

किसान सब्जी पैदा करता है लेकिन उचित कीमत नहीं मिलने से सड़कों पर फैंक दी जाती है इसे देखते हुए फूड प्रोसेसिंग में विशेष रियायत मिल सकती है।

शेयर मार्केट इस वक्त काफी मुनाफा दे रहा है। अभी एक साल से कम अवधि में शेयर बेचने से हो रहे लाभ (कैपिटल गेन) पर 15 फीसदी टैक्स है। एक साल बाद बेचने पर टैक्स नहीं है। इस अवधि को बढ़ाकर तीन साल किया जा सकता है।

आयकर की छूट सीमा ढाई लाख से बढ़ाकर 3 लाख तक की जा सकती है। यदि सरकार ऐसा नहीं करती तो सैलरी पर्सन के लिए स्टैंडर्ड डिडक्शन लागू कर सकती है।

आयकर की धारा 80सी (इन्वेस्टमेंट) में डेढ़ लाख की लिमिट को बढ़ाकर दो लाख की जा सकती है। यह इन्फ्रास्ट्रक्चर बॉड में अलग से 50 हजार की छूट के रूप में हो सकती है।

-जैसा सीए आशीष पारख ने बताया

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Gwalior News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: अहमदाबाद ट्रेन ग्वालियर और कानपुर शताब्दी इलाहाबाद तक बढ़ने की उम्मीद
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      More From Gwalior

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×