Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» 13 साल बाद फिर एजी राजस्थान को हरा दोहराया इतिहास, एजी एमपी बनी चैंपियन

13 साल बाद फिर एजी राजस्थान को हरा दोहराया इतिहास, एजी एमपी बनी चैंपियन

फाइनल मैच के दौरान खिलाड़ी आपस में मुंहवाद करते हुए। एजी राजस्थान की टीम पिछले 13 वर्षों से लगातार जीत रही थी यह...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 01:45 PM IST

फाइनल मैच के दौरान खिलाड़ी आपस में मुंहवाद करते हुए।

एजी राजस्थान की टीम पिछले 13 वर्षों से लगातार जीत रही थी यह प्रतियोगिता

स्पोर्ट्स रिपोर्टर | ग्वालियर

पिछले 13 वर्ष से लगातार पश्चिम क्षेत्रीय हॉकी प्रतियोगिता जीतती आ रही एजी राजस्थान टीम को इस साल करारी हार का सामना करना पड़ा। बुधवार को खेले गए फाइनल मुकाबले में एजी एमपी ने उसे 7-0 से शिकस्त देकर विजेता बनने का गौरव हासिल किया। प्रतियोगिता के समापन अवसर पर राजीव पांडे , एजी आडिट और विकास कुमार, डीएजी एडमिन ने विजेता एवं उप-विजेता टीम को ट्रॉफी प्रदान की। इस अवसर पर अंतरराष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी अरमान कुरैशी व हसरत कुरैशी विशेष रूप से उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन सुजीत माइकल ने किया। मप्र महिला हॉकी अकादमी में आयोजित दो दिवसीय प्रतियोगिता के फाइनल मुकाबले में एजी एमपी ने आक्रामक खेल का प्रदर्शन करते हुए पहले ही हॉफ में 3-0 की बढ़त बनाई। वहीं दूसरे हॉफ में भी विजेता टीम ने चार और गोल दागकर 7-0 से मैच अपने नाम किया। एजी एमपी की ओर से आजम बेग और एसएस भदौरिया ने 2-2 जबकि निक्की कौशल, अक्षय शर्मा, नवनीत स्वर्णकार ने 1-1 गोल ठोका। अब एजी एमपी व एजी राजस्थान की टीम 9 से 11 फरवरी तक चंडीगढ़ में होने जा रही अंतर क्षेत्रीय प्रतियोगिता में शिरकत करेगी।



















Hockey Tournament

भोपाल में 3-0 से दी थी शिकस्त

2003-04 में आयोजित पश्चिम क्षेत्रीय हॉकी प्रतियोगिता में एजी एमपी ने एजी राजस्थान को पटकनी दी थी। भोपाल में आयोजित प्रतियोगिता के फाइनल मुकाबले में एजी एमपी ने 3-0 से मैच जीतकर ट्रॉफी पर कब्जा जमाया था। हालांकि इसके बाद एजी एमपी को इस ट्रॉफी पर कब्जा जमाने के लिए 13 साल का लंबा इंतजार करना पड़ा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×