Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» इधर, मिस मैनेजमेंट से 15 क्षेत्रों में नहीं पहुंच रहा तिघरा का पानी

इधर, मिस मैनेजमेंट से 15 क्षेत्रों में नहीं पहुंच रहा तिघरा का पानी

शहर की एक लाख से ज्यादा आबादी गंभीर जल संकट का सामना कर रही है। 15 क्षेत्रों में गंभीर स्थिति बन चुकी है। नगर निगम...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 01:50 PM IST

शहर की एक लाख से ज्यादा आबादी गंभीर जल संकट का सामना कर रही है। 15 क्षेत्रों में गंभीर स्थिति बन चुकी है। नगर निगम (पीएचई) के अफसर खुद इसको मान रहे हैं। वे इसके लिए पानी वितरण सिस्टम का प्रबंधन गड़बड़ाने की बात कह रहे हैं। अफसरों ने प्लान किया है कि अब उन क्षेत्रों में पहले प्रेशर से पानी छोड़ा जाएगा, जहां पर वाटर लाइन का अंतिम छोर है। उसके बाद नजदीक के क्षेत्रों में पानी की सप्लाई होगी। जनसुनवाई में चूड़ियां फेंके जाने के बाद अफसरों ने जनकपुरी में 31 जनवरी बुधवार को पानी की व्यवस्था करने के लिए आश्वासन दिया था। लेकिन वहां बड़ा अफसर नहीं पहुंचा। यही स्थिति अवाड़पुरा और थाटीपुर की संतोषी माता मंदिर क्षेत्र की रही। इस बीच पीएचई के अफसरों ने शहर के विभिन्न क्षेत्रों का दौरा कर पानी की समस्या की जानकारी एकत्रित करा ली है।

ये हैं वे क्षेत्र, जहां अभी से गंभीर जल संकट

डीडी नगर (ई-सेक्टर), आदित्यपुरम के पीछे जनकपुरी काॅलोनी, छावनी क्षेत्र में बंशीपुरा सहित आस-पास का एरिया, सीपी काॅलोनी का अंतिम छोर, हुरावली, सिरोल, अवाड़पुरा, डांग वाले बाबा की पहाड़ी, हेमसिंह की परेड, डंडा वाला मोहल्ला, लुहारपुरा, लक्ष्मीपुरम आदि क्षेत्रों में फरवरी में ही गंभीर जल संकट है।

ऐसे समझें समस्या

तिघरा का पानी, वाटर लाइन से काॅलोनियों के अंतिम छोर तक कम प्रेशर से पहुंचाया रहा है। इस वजह से दूर के क्षेत्रों में पानी नहीं पहुंच पा रहा है। जो प्रेशर 7 प्लस केजी का होना चाहिए। वह 6.5 केजी का भी वाटर लाइन में नहीं आ रहा है। पानी वितरण सिस्टम को ठीक करने के लिए पीएचई के अधीक्षण यंत्री आरएलएस मौर्य ने इंजीनियरों को निर्देश दिए हैं कि पानी वितरण सिस्टम को ठीक किया जाए। सबसे पहले दूर के क्षेत्रों में फुल प्रेशर से पानी पहुंचाया जाए, जिससे वहां घरों तक पानी पहुंचेगा। इसके बाद वाटर लाइन के नजदीक के क्षेत्रों में सप्लाई को खोला जाए। इससे पर्याप्त पानी मिल सकेगा।

यहां हालात जस के तस

जनकपुरी काॅलोनी के मनीष शर्मा ने बताया, बुधवार को निगम के अफसर पानी की समस्या के निराकरण के लिए नहीं आए। शाम के वक्त दो कर्मचारी जरूर आए थे, जिन्होंने पानी खोला तो 80 मकानों में से 10 मकानों तक ही पानी पहुंच सका।

कई जगह जल संकट है

शहर में कुछ जगह पर पानी का संकट है। इनमें जनकपुरी, डीडी नगर, सीपी काॅलोनी, अवाडपुरा शामिल हैं। कल जनकपुरी जाएंगे। पानी वितरण का मिन मैनेजमेंट कारण सामने आया है। हम इसमें सुधार करा रहे हैं। आरएलएस मौर्य, अधीक्षण यंत्री पीएचई

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×