Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» सिलाई सीखकर कमाने लगेंगी महिलाएं

सिलाई सीखकर कमाने लगेंगी महिलाएं

भास्कर संवाददाता | गिरधरपुर ट्राइबल ब्लॉक की ग्राम पंचायत हीरापुर में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 02:45 AM IST

सिलाई सीखकर कमाने लगेंगी महिलाएं
भास्कर संवाददाता | गिरधरपुर

ट्राइबल ब्लॉक की ग्राम पंचायत हीरापुर में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत सभी कमजोर लक्षित परिवारों को स्वसहायता समूहों से जोडने के बाद अब उन्हें रोजगार के लिए दक्ष बनाया जाएगा। इसमें महिलाएं सिर्फ 20 दिन में सिलाई का हुनर सिखकर कमाना शुरू कर देगी। यह बात एनआरएलएम के प्रतिनिधि बंटी ओड़ ने ग्राम हीरापुर में नि%शुल्क सिलाई प्रशिक्षण केंद्र की शुरुआत के मौके पर कही। इस केंद्र पर पहले दिन सिलाई सीखने के लिए 8 महिलाओं ने रुचि दिखाई। प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद महिलाएं अपने घर बैठे कपड़ों की सिलाई का काम शुरू करके परिवार के लिए अतिरिक्त आमदनी कर सकेगी।

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की ओर से हीरापुर में सिलाई प्रशिक्षण केंद्र शुरू होने से स्वसहायता समूह की महिलाएं खुश है। बंटी ओड़ ने बताया कि आजीविका मिशन के तहत हीरापुर पंचायत क्षेत्र के अलग-अलग गांव में जाकर लक्षित परिवारों की महिलाओं को सिलाई का प्रशिक्षण लेने के लिए प्रेरित किया गया है। स्वसहायता समूह की अवधारणा से जुडकर सामाजिक एवं आर्थिक बदलाव के प्रति जागरूक किया। जिले के कराहल में एनआरएलएम अंतर्गत स्वसहायता समूह के गठन एवं इसके माध्यम से आजीविका वृद्धि हेतु कार्य किए जा रहे है। गांव गांव में समूह का गठन किया है। वहीं आदर्श विकासखंड कराहल एवं इंटेनसिव ब्लॉक विजयपुर में आंतरिक सीआरपी (स्थानीय महिलाएं) के माध्यम से रोजगार कौशल का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

हीरापुर में एनआरएलएम का नि:शुल्क सिलाई प्रशिक्षण केंद्र शुरू

हीरापुर में एनआरएलएम की ओर से प्रारंभ प्रशिक्षण केंद्र पर सिलाई सीखने आई महिलाएं।

महिलाओं ने पहले दिन सीखी नाप लेने और कपड़ा काटने की कला

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा हीरापुर में प्रारंभ 20 दिवसीय सिलाई प्रशिक्षण केंद्र पर महिलाओं को कटिंग एवं सिलाई की ट्रेनिंग बंटी ओड़ दे रहे हैं। केंद्र पर पहले दिन महिलाओं के ब्लाउज का नाप लेने तथा कपड़े की कटिंग का नमूना दिखाया गया। मास्टर ट्रेनर बंटी ओड़ ने बताया कि केंद्र पर महिलाओं को 20 दिन में ब्लाउज कटिंग एवं सिलाई में निपुण किया जाएगा। गरीब परिवारों की महिलाओं को प्रशिक्षण के बाद सिलाई मशीन उपलब्ध कराने में ग्रामीण आजीविका मिशन मदद करेगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×