• Home
  • Mp
  • Gwalior
  • रिश्वत नदी दी तो सरपंच, सचिव ने हितग्राही को किया अपात्र
--Advertisement--

रिश्वत नदी दी तो सरपंच, सचिव ने हितग्राही को किया अपात्र

हितग्राही ने लगाया आरोप - 20 हजार रुपए नहीं दिए इसलिए किया अपात्र भास्कर संवाददाता|बामौरकलां बामौरकलां कस्बे...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 03:55 AM IST
हितग्राही ने लगाया आरोप - 20 हजार रुपए नहीं दिए इसलिए किया अपात्र

भास्कर संवाददाता|बामौरकलां

बामौरकलां कस्बे के एक युवक ने शपथ पत्र के माध्यम से ग्राम पंचायत के सरपंच सचिव पर प्रधानमंत्री आवास योजना मंजूर करने के नाम पर 20 रुपए मांगने के आरोप लगाए हैं। शिकायत कर्ता ने सौंप गए शपथ पत्र में बताया है कि मैं आवेदक महेश कुमार सोनी पुत्र कन्हैया लाल सोनी उम्र 45 वर्ष निवासी बामौरकलां तहसील खनियांधाना का निवासी हूं। यह की मेरा सन 2002-03 की बीपीएल सूची में क्रमांक 387 पर नाम दर्ज है। इसलिए मुझे प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास स्वीकृत हुआ था। जिसके एवज में सरपंच व सचिव ने मुझे राशि दिलाने के नाम पर 20 हजार रुपए की मांग की। जब मैंने ये राशि नहीं दी तो उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों सहित तहसीलदार से मिलकर मेरा नाम प्रधानमंत्री आवास सूची से हटवा दिया है।

महेश द्वारा यह भी लगाए आरोप कि ग्राम पंचायत बामौरकलां लगभग 90 फीसदी अपात्र लोग है। जिनके पास पक्का मकान, दुकान, जमीन, कृषिभूमि, मोटर साइकिल हैं जो बीपीएल की श्रेणी में नहीं आते हैं फिर भी रिश्वत देकर उनके बीपीएल कार्ड बनवा कर शासन की अनेक योजनाओं का लाभ ले रहे हैं। जिससे शासन को मोटी रकम का नुकसान हो रहा है। जिसमें जनपद के अधिकारी, ग्राम पंचायत के सरपंच, सचिव सहित ग्राम पटवारी लिप्त हैं।

सीएम हेल्पलाइन पर भी की शिकायत पर नहीं हुआ निराकरण

आवेदक द्वारा बताया गया है कि इस संबंध में मैंने शिकायत सीएम हेल्पलाइन पर भी दर्ज कराई है। जिसकी जांच को भी जांच कर्ता द्वारा गलत रिपोर्ट बना कर भेजा जा रहा है। अब मेरी शिकायत एल 4 पर पहुंच चुकी है। इसके बाद भी अधिकारियों द्वारा न जांच की जा रही है और न ही जांचकर्ता द्वारा मौके पर आकर कोई मेरी समस्या का समाधान किया जा रहा है। जिससे में परेशान बना हुआ हूं।

मुझे इस संबंध में जानकारी नहीं है


सीएम हेल्पलाइन में भी की शिकायत, एल फोर तक पहुंची पर नहीं हुआ कोई निराकरण