• Home
  • Mp
  • Gwalior
  • ढकपुरा में पेयजल संकट का सामना कर रहे हैं ग्रामीण
--Advertisement--

ढकपुरा में पेयजल संकट का सामना कर रहे हैं ग्रामीण

ढकपुरा में व्याप्त पेयजल संकट को बताते हुए गामीण। गांव में हैंडपंप खराब होने की वजह से बिगड़े हालात भास्कर...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 06:15 AM IST
ढकपुरा में व्याप्त पेयजल संकट को बताते हुए गामीण।

गांव में हैंडपंप खराब होने की वजह से बिगड़े हालात

भास्कर संवाददाता | अमायन

गर्मी बढ़ने के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में पानी का संकट भी गहराने लगा है। अमायन क्षेत्र के ढकपुरा गांव में लोग पानी के लिए दूसरे गांव पर आश्रित हैं। गांव के रहवासी प्यास बुझाने के लिए डेढ़ किमी पैदल चलकर दूसरे गांव मोतीपुरा से पानी ढोने को मजूर हैं। यह समस्या इसलिए उत्पन्न हो रही है, क्योंकि गांव में लोगों की प्यास बुझाने के लिए पीएचई द्वारा लगाया गया हैंडपंप पिछले एक माह से खराब पड़ा है। ग्रामीण हैंडपंप मेंटेनेंस को लेकर सरपंच व पीएचई अधिकारियों से कई बार शिकायत कर चुके हैं, लेकिन मेंटेनेंस कार्य आज तक नहीं कराया गया है। इसके अलावा गांव में पानी का दूसरा कोई श्रोत नहीं है। ऐसी परिस्थिति में गांव के लोगों को भीषण समस्या से जूझना पड़ रहा है।

ट्यूबवेलों से बुझा रहे प्यास: गांव में रहने वाले 40 परिवारों के लिए पानी का संकट बड़ी मुसीबत बना हुआ है। ग्रामीण प्यास बुझाने के लिए दूसरे गांवों में पानी भरने जाते हैं तो कुछ लोग हार में कोसों दूर चलकर ट्यूबवेलों से पानी ढो रहे हैं। इसके साथ ही गांव में लगे कुएं भी सूख चुके हैं। जिसके बाद ग्रामीणों को अपनी प्यास बुझाने के लिए जूझना पड़ रहा है। बता दें कि ढकपुरा गांव में लगे सरकारी हैंडपंप से अचानक पानी बंद हो गया। ग्रामीणों ने मेंटेनेंस के लिए पीएचई अधिकारियों को फोन लगाए, मौखिक गुहार लगाई। मगर गांव का खराब पड़ा हैंडपंप सही नहीं कराया गया। इतना ही नहीं ग्रामीण मेंटेनेंस को लेकर कई बार सरपंच से भी मिल चुके हैं। मगर समस्या का समाधान अभी तक नहीं निकाला जा सका है। वहीं आज भी ज्यादातर गांवों में अधिकांश हैंडपंप मेंटेनेंस के अभाव में खराब पड़े हैं जो धीरे-धीरे नष्ट होते जा रहे हैं। गांव में पानी की सुविधा के लिए शुरू की गई नल-जल येाजनाएं ज्यादातर बंद पड़ी हुई हैं। जिसकी वजह से ग्रामीणों को हर दिन पानी भरने के लिए संघर्ष करना पड़ता है।

बातचीत की जाएगी