Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» डॉक्टर छुट्टी पर, स्वास्थ्य सेवाएं चरमराईं

डॉक्टर छुट्टी पर, स्वास्थ्य सेवाएं चरमराईं

भले ही सरकार स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर करने का दावा कर रही हो लेकिन हकीकत में इससे एकदम अलग है। स्थिति यह है कि कहीं...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 03:05 AM IST

भले ही सरकार स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर करने का दावा कर रही हो लेकिन हकीकत में इससे एकदम अलग है। स्थिति यह है कि कहीं डॉक्टर नहीं है तो कहीं सरकारी अस्पताल फार्मासिस्ट संभाल रहे हैं। ऐसा ही उदाहरण इन दिनों नगर के एक मात्र सरकारी अस्पताल में देखने को मिल रहा है। नगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अंतर्गत आने वाले 100 गांवों की स्वास्थ्य व्यवस्था विगत एक सप्ताह से भगवान भरोसे है। अस्पताल में पदस्थ 2 एलोपैथी डॉक्टरों में से जहां डॉ. एके मौर्य लंबी छुट्टी पर हैं। वहीं दूसरे डॉ. दीपक अर्गल भोपाल एक महीने की ट्रेनिंग पर गए हैं। जिसके चलते अस्पताल की स्वास्थ्य सेवाएं फार्मासिस्ट जीतेंद्र सिंह के हवाले है। वह मरीजों को लाल, पीली दवाएं देकर वापस कर देते हैं। नतीजतन मरीजों की बीमारी ठीक होने के बजाय बढ़ती ही जा रही है।

अस्पताल में डॉक्टर के नहीं होने से मरीजों की मरहम पट्टी के कार्य में भी वार्ड ब्वाय लापरवाही बरत रहे हैं। बीमारी ठीक न होने के चलते अब मरीजों को मजबूरी में झोलाछाप डॉक्टरों की शरण लेनी पड़ रही है। जिसके चलते उन्हें मोटी रकम खर्च करनी पड़ रही है। नगर के पूरन गुप्ता, पार्षद राजीव सिंघल का कहना है कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में अति पिछड़े इस इलाके में अगर इन दिनों रात में किसी की तबीयत खराब हो जाए तो उसे प्राथमिक उपचार मिलना भी मुश्किल हो गया है। बावजूद इसके स्वास्थ्य महकमा अस्पताल में डॉक्टर की तैनाती के लिए कोई पहल नहीं कर रहा है। सरकारी अस्पताल में डॉक्टर के नहीं होने के कारण जहां आम जनता इलाज के लिए परेशान हो रही है।

एमएलसी कराने जाना पड़ रहा है 40 किमी दूर : बैराड़ क्षेत्र में होने वाले लड़ाई झगड़े के मामलों में पीड़ित पक्षों की एमएलसी के लिए नगर से 40 किमी दूर पोहरी अस्पताल ले जाना पड़ रहा है। साथ ही पोहरी मोहना हाईवे होने के कारण वाहन दुर्घटना में घायल होने वाले लोगों को भी इलाज के लिए परेशान होना पड़ रहा है।

जल्द डॉक्टर की व्यवस्था होगी

बैराड़ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 2 डॉक्टर पदस्थ है, मेडिकल ऑफिसर डॉ. एके मौर्य छुट्टी गए हैं, वहीं डॉ. दीपक अर्गल भोपाल ट्रेनिंग में गए हुए हैं। हमने पोहरी से एक डॉक्टर को बैराड़ भेजा था। लेकिन उसका रास्ते में एक्सीडेंट हो गया। जिस कारण बैराड़ नहीं पहुंच सके। जल्दी वैकल्पिक व्यवस्था कर कर डॉक्टर की व्यवस्था की जाएगी पवन कोरकू,बीएमओ पोहरी

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×