Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Child Was Born With Two Heads, Survived The Charisma Of Doctors

दो सिर के साथ पैदा हुआ था बच्चा, 1 साल पहले डॉक्टरों के करिश्मे से बची जान

एक साल पहले तस्वीरों में नजर आ रहा ये बच्चा मौत से जूझ रहा था। इसके जन्म से ही दो सिर थे।

Bhaskar News | Last Modified - Jan 02, 2018, 03:14 AM IST

  • दो सिर के साथ पैदा हुआ था बच्चा, 1 साल पहले डॉक्टरों के करिश्मे से बची जान
    +2और स्लाइड देखें
    बच्चे के जन्म से ही दो सिर थे।

    ग्वालियर.एक साल पहले तस्वीरों में नजर आ रहा ये बच्चा मौत से जूझ रहा था। इसके जन्म से ही दो सिर थे। अब डॉक्टर्स ने इस बच्चे का सफल ऑपरेशन कर ट्यूमर को अलग किया। सोमवार को फॉलोअप के लिए बच्चा हॉस्पिटल भी आया। ऐसे हुआ ऑपरेशन...

    - न्यूरोसर्जरी एक्सपर्ट डॉ. एसएन अयंगर की देखरेख में एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. अवधेश शुक्ला ने इस बच्चे का ऑपरेशन किया था।

    - डॉ. शुक्ला के मुताबिक, इस नवजात शिशु के कपाल की हड्डियों के साथ दिमाग का डेवलपमेंट भी कम हुआ था।

    - इसका कारण सिर के पीछे सिर से बड़ा उसके आकार का गोला था। जो वास्तविक सिर से लगभग दोगुना बड़ा था।

    - एक से सवा घंटे चला ऑपरेशन चुनौतीपूर्ण था, इतने बड़े गोले के कारण सांस की नली में ट्यूब डालना काफी दुष्कर कार्य था।

    - एनेस्थीसिया के डॉक्टर्स ने यह काम किया। हमने बच्चे का ऑपरेशन कर मुख्य धमनियों को बचाकर गोले को अलग कर दिया।

    - सर्जरी सक्सेस हुई इसलिए बच्चा आईसीयू से कुछ ही दिनों में बाहर आ गया। बच्चा अब पूरी तरह ठीक है।

    मेनिंजियोओमा ट्यूमर के मरीजों को जेएएच में मिलता है सस्ता इलाज

    - मेनिंजियोओमा ट्यूमर में मरीजों की मृत्युदर काफी अधिक थी। न्यूरोसर्जरी के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. शुक्ला ने बताया कि इस ऑपरेशन को कराने में दिल्ली में 8 से 10 घंटे का समय लगता है और ढाई लाख से साढ़े चार लाख रुपए का खर्चा आता है।

    - जेएएच में बीपीएल कार्डधारियों का ऑपरेशन नि:शुल्क और सामान्य मरीज का अधिकतम 5 हजार तक का खर्चा आता है। यह ऑपरेशन न्यूरोसर्जरी में 2 से 3 घंटे में हो जाता है।

  • दो सिर के साथ पैदा हुआ था बच्चा, 1 साल पहले डॉक्टरों के करिश्मे से बची जान
    +2और स्लाइड देखें
    डॉक्टर्स ने इस बच्चे का ऑपरेशन कर ट्यूमर को अलग किया।
  • दो सिर के साथ पैदा हुआ था बच्चा, 1 साल पहले डॉक्टरों के करिश्मे से बची जान
    +2और स्लाइड देखें
    अब ऐसे नजर आता है ये बच्चा।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×