--Advertisement--

कोर्ट ने कहा-चुनावी व्यस्तता के कारण स्थगित नहीं कर सकते गवाही की तारीख

गुजरात चुनाव में व्यस्त होने का हवाला देते हुए केस में गवाही के लिए जनवरी में तारीख लगाने को कहा था।

Dainik Bhaskar

Nov 23, 2017, 07:24 AM IST
court said that the date of testimony can not be postponed

ग्वालियर. सिंधिया परिवार की संपत्ति को लेकर चल रहे 27 साल पुराने विवाद में मंगलवार को अपर सत्र न्यायाधीश सचिन शर्मा की कोर्ट ने ज्योतिरादित्य सिंधिया की अर्जी निरस्त कर दी। इसमें उन्होंने खुद को पार्टी के स्टार प्रचारकों में शामिल होने के नाते 22 नवंबर से 12 दिसंबर तक गुजरात चुनाव में व्यस्त होने का हवाला देते हुए केस में गवाही के लिए जनवरी में तारीख लगाने को कहा था।

इस पर कोर्ट ने कहा-

- सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर हाईकोर्ट ने 10 से 20 साल पुराने मामलों को 31 दिसंबर 2017 से पहले निपटाने के आदेश दिए हैं। कोर्ट ने सिंधिया को साक्ष्य के लिए 30 नवंबर से 3 दिसंबर तक ग्वालियर में रहने को कहा है।

चित्रांगदा के आवेदन पर यशोधरा की आपत्ति

- इसी मामले में चित्रांगदा राजे ने कोर्ट में आवेदन देकर कहा कि यह मामले अन्य कोर्ट में भी सुनवाई में है, लिहाजा इस कोर्ट में केस की सुनवाई रोकी जाए। इस पर ऊषा राजे, वसुंधरा राजे आैर यशोधरा राजे की आेर से अधिवक्ता दीपक खोत ने इस पर आपत्ति दर्ज कराई।

X
court said that the date of testimony can not be postponed
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..