Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Court Said That The Date Of Testimony Can Not Be Postponed

कोर्ट ने कहा-चुनावी व्यस्तता के कारण स्थगित नहीं कर सकते गवाही की तारीख

गुजरात चुनाव में व्यस्त होने का हवाला देते हुए केस में गवाही के लिए जनवरी में तारीख लगाने को कहा था।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 23, 2017, 07:24 AM IST

  • कोर्ट ने कहा-चुनावी व्यस्तता के कारण स्थगित नहीं कर सकते गवाही की तारीख

    ग्वालियर.सिंधिया परिवार की संपत्ति को लेकर चल रहे 27 साल पुराने विवाद में मंगलवार को अपर सत्र न्यायाधीश सचिन शर्मा की कोर्ट ने ज्योतिरादित्य सिंधिया की अर्जी निरस्त कर दी। इसमें उन्होंने खुद को पार्टी के स्टार प्रचारकों में शामिल होने के नाते 22 नवंबर से 12 दिसंबर तक गुजरात चुनाव में व्यस्त होने का हवाला देते हुए केस में गवाही के लिए जनवरी में तारीख लगाने को कहा था।

    इस पर कोर्ट ने कहा-

    -सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर हाईकोर्ट ने 10 से 20 साल पुराने मामलों को 31 दिसंबर 2017 से पहले निपटाने के आदेश दिए हैं। कोर्ट ने सिंधिया को साक्ष्य के लिए 30 नवंबर से 3 दिसंबर तक ग्वालियर में रहने को कहा है।

    चित्रांगदा के आवेदन पर यशोधरा की आपत्ति

    - इसी मामले में चित्रांगदा राजे ने कोर्ट में आवेदन देकर कहा कि यह मामले अन्य कोर्ट में भी सुनवाई में है, लिहाजा इस कोर्ट में केस की सुनवाई रोकी जाए। इस पर ऊषा राजे, वसुंधरा राजे आैर यशोधरा राजे की आेर से अधिवक्ता दीपक खोत ने इस पर आपत्ति दर्ज कराई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Gwalior News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Court Said That The Date Of Testimony Can Not Be Postponed
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×