Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Godses Statue Seized By Seizing Lock Of Office

कार्यालय का ताला तोड़ जब्त की गोडसे की प्रतिमा, सामने भी नहीं आए हिमस नेता

नाथूराम गोडसे की मूर्ति स्थापना आैर मंदिर को लेकर करीब एक सप्ताह से चले आ रहे विवाद का मंगलवार को पटाक्षेप हो गया।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 22, 2017, 07:55 AM IST

कार्यालय का ताला तोड़ जब्त की गोडसे की प्रतिमा,  सामने भी नहीं आए हिमस नेता

ग्वालियर.नाथूराम गोडसे की मूर्ति स्थापना आैर मंदिर को लेकर करीब एक सप्ताह से चले आ रहे विवाद का मंगलवार को पटाक्षेप हो गया। दोपहर करीब 3 बजे कलेक्टर राहुल जैन ने हिमस नेताआें को एक घंटे में मूर्ति हटा लेने का आदेश दिया। हिमस नेताआें ने आदेश को अनसुना कर दिया। इस पर 4 बजे करीब कोतवाली पुलिस ने दौलतगंज स्थित हिमस कार्यालय पहुंचकर वहां लगा ताला तोड़ा आैर नाथूराम गोडसे की मूर्ति जब्त कर ली। मौके पर किसी भी प्रकार का विवाद न हो, इसके लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था।

- इससे पहले दोपहर को हिमस के पदाधिकारियों ने एडीएम कार्यालय में अपना पक्ष रखा। उनका कहना था कि एडीएम ने जिन धाराओं के तहत नोटिस दिया है, उनके तहत नोटिस देने का अधिकारी कलेक्टर को है। जवाब देकर लौटने के दौरान कलेक्टोरेट में ही गांधी व गोडसे समर्थकों की झड़प भी हुई।
- हिमस नेताओं ने अपने जवाब में कहा कि गोडसे की प्रतिमा की स्थापना किसी सार्वजनिक स्थान पर नहीं की गई है बल्कि वह पार्टी का कार्यालय है। यह संस्था का निजी भवन है, जाे कि सार्वजनिक स्थान की श्रेणी में नहीं आता। प्रत्येक व्यक्ति को यह अधिकार प्राप्त है कि वह अपने पूर्वज की पूजा करे।

- इस कारण प्रशासन द्वारा दिया गया नोटिस विधि के प्रावधानों के विपरीत है। एडीएम आरके वर्मा ने जवाब लेकर नेताओं से प्रतिमा हटवाने को कहा। इसके बाद कलेक्टर राहुल जैन ने दोपहर तीन बजे मध्यप्रदेश सार्वजनिक स्थान-धार्मिक भवन एवं गतिविधियों का विनियमन- अधिनियम 2001 की धारा 5 में प्राप्त अधिकारों के अनुसार एक घंटे में प्रतिमा हटाने के आदेश दिए और आदेश का पालन न किए जाने पर थाना प्रभारी कोतवाली को आदेश का पालन कराने के निर्देश दिए। कांग्रेस ने गोडसे की प्रतिमा हटाने पर प्रसन्नता व्यक्त की है।

- गांधी-गोडसे समर्थकों में झड़प- कलेक्टोरेट में हिमस के पदाधिकारियों की गांधी समर्थक वकीलों से झड़प हो गई। कांग्रेस नेता अतिसुंदर सिंह के नेतृत्व में पहुंचे वकीलों ने हिमस उपाध्यक्ष डा. जयवीर भारद्वाज से पूछा कि आप लोग शहर की शांति भंग क्यों कर रहे हैं? इस पर श्री शर्मा का सवाल था कि- आप गोडसे के बारे में जानते क्या हैं? भारद्वाज ने उन्हें बहस के लिए हिमस कार्यालय पर आमंत्रित किया।

- भाजपा के इशारे पर कांग्रेस के दबाव में हुई कार्रवाई: हिमस- हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डा. जयवीर भारद्वाज ने आरोप लगाया कि प्रशासन ने मूर्ति हटाने कार्रवाई भाजपा नेताअों के इशारे पर और कांग्रेस के दबाव में की है। प्रशासन ने हमें एक घंटे का तुगलकी फरमान जारी किया था कि हम मूर्ति हटा दें। हमने प्रशासन से समय मांगा था, लेकिन अफसरों ने एक घंटा पहले ही आकर ताला तोड़कर मूर्ति हटा दी। हिमस बुधवार से आंदोलन करेगी। साथ ही कोर्ट में जाएगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Gwalior News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: karyaaly ka taalaa toड़ jbt ki gaodse ki prtimaa, saamne bhi nahi aaye hims netaa
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×