--Advertisement--

ये गलत बात है: फोर्ट घूमने अाने वाले फिर जौहर कुंड में फेंक रहे कचरा

आज इस जौहर कुंड की हालत बेहद खराब है। यहां आने वाले सैलानी खानपान की सामग्री के रैपर, पॉलीथिन सहित अन्य सामान इसमें फेंक

Danik Bhaskar | Nov 16, 2017, 01:12 PM IST
जौहर कुंड में पड़ा कचरा। जौहर कुंड में पड़ा कचरा।

ग्वालियर। जिस कुंड में कभी 1400 से ज्यादा औरतें मुस्लिम सैनिकों से अपनी इज्जत बचाने के लिए जौहर कर के जिंदा जल गई थीं, आज वहां कचरा फेंका जा रहा है। यह जौहर कुंड ग्वालियर किले में बना हुआ है। यहां साल 1232 में अफगानिस्तान से आए इल्तुतमिश ने हमला किया था। उस समय ग्वालियर में कच्छप घाट (कछवाहा) राजवंश का शासन था। इस युद्ध में हार की खबर मिलते ही रानियों और सैनिकों की पत्नियों सहित कुल 1400 महिलाओं ने कुंड में आग लगाकर जौहर किया था।

तब से इस कुंड को जौहर कुंड कहा जाने लगा। वहीं 13वीं शताब्दी के बाद 16वीं शताब्दी में भी जौहर किए जाने की घटनाएं हुईं। आज इस जौहर कुंड की हालत बेहद खराब है। यहां आने वाले सैलानी खानपान की सामग्री के रैपर, पॉलिथीन सहित अन्य सामान इसमें फेंक देते हैं। इससे दिन-प्रतिदिन कुंड गंदा होता जा रहा है।

आगे की स्लाइड में देखें चुनिंदा फोटोज...