--Advertisement--

बेटे के जन्मदिन पर जल्दी लौटने की कहकर गए थे, अब हुआ ऐसा

24 अक्टूबर को एक बच्चे को भी कुचल दिया गया था।

Dainik Bhaskar

Nov 15, 2017, 07:46 AM IST
It was said to return to the sons birthday early, now it has happened
ग्वालियर. शिवपुरी लिंक रोड पर वाहनों की स्पीड लिमिट 30 किमी प्रति घंटा तय है, लेकिन मंगलवार सुबह 80 की स्पीड में जा रहे ट्रक ने बाइक सवार शिक्षक को रौंद डाला। टक्कर मारने के बाद शिक्षक को 20 फीट तक घसीटा भी। गंभीर रूप से घायल शिक्षक को जेएएच में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। हादसे के बाद ड्राइवर ट्रक को छोड़कर भाग गया। 20 दिन के भीतर ओवर स्पीड के कारण इस रोड पर यह दूसरा हादसा है। 24 अक्टूबर को एक बच्चे को भी कुचल दिया गया था।
- मामा का बाजार निवासी संजय कांत शिंदे (45) पुत्र रविकांत शिवपुरी लिंक रोड पर खड़ीखेड़ा राेड के सरकारी स्कूल में बतौर शिक्षक पदस्थ थे। संजय के दो बेटे हैं। बड़ा बेटा शुभम और छोटा बेटा सार्थक (20)। संजय सुबह घर के लिए सब्जियां खरीदने के बाद लौटे। बेटे सार्थक से मिले, उसका मंगलवार को जन्मदिन था। उन्होंने सार्थक को आशीर्वाद दिया और शाम को जल्दी घर लौटने की कहकर बाइक से स्कूल के लिए निकल गए।
- स्कूल पहुंचने के लिए वह शिवपुरी लिंक रोड के वाटरपार्क के नजदीक सड़क क्राॅस कर कर रहे थे, तभी शिवपुरी की ओर से तेज रफ्तार आ रहे ट्रक यूपी 21 एएन 9405 ने उन्हें चपेट में ले लिया। टक्कर के बाद ट्रक को लेकर भागने के फेर में आरोपी ड्राइवर ने शिक्षक को लगभग 20 फीट तक घसीटा और ट्रक छोड़कर भाग गया।
- लोगों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने गंभीर घायल शिक्षक को जेएएच पहुंचाया। डॉक्टरों के मुताबिक संजय शिंदे को मल्टीपल इंजरी थी। उसका ब्लडप्रेशर रिकॉर्डिड नहीं था और नाड़ी भी नहीं चल रही थी। उन्हेें इमरजेंसी ट्रीटमेंट देकर बचाने का प्रयास भी किया गया,लेकिन उनकी मौत हो गई।
मम्मी की तबीयत खराब थी, सुबह सब्जी बनाकर निकले थे पापा, शाम को भाई का बर्थडे मनाने पावभाजी बनाने वाले थे
- मम्मी की तबीयत ठीक नहीं थी। पापा सब्जी बनाकर स्कूल गए थे। कह गए थे खाना खा लेना। शाम को छोटे भाई सार्थक का जन्मदिन मनाना था। इसके लिए पापा पावभाजी बनाने वाले थे। उनके स्कूल के लिए जाने के कुछ देर बाद सूचना आई कि वह घायल हो गए हैं। हम लोग अस्पताल पहुंचे, दोपहर 2 बजे तक वह ठीक थे।
- उन्होंने हम लोगों से बातें भी कीं। कह रहे थे पीठ छिल गई है, उसमें दर्द हो रहा है। उन्होंने पुलिस से भी बातचीत की। इसके बाद पता नहीं अचानक क्या हुआ, उनकी सांसें उखड़ने लगीं और कुछ देर बाद ही मौत हो गई।
शुभम शिंदे, मृत शिक्षक संजय कांत शिंदे का बड़ा बेटा
स्पीड लिमिट तय कर भूले, क्रॉसिंग पर ब्रेकर नहीं, इसलिए हादसे
- शिवपुरी लिंक रोड पर 30 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड लिमिट तय है। इसकी सूचना के लिए यहां साइन बोर्ड भी लगाए गए हैं। रफ्तार की सीमा तय करने के पीछे वजह हैं रोड पर स्कूल और कॉलेजों की संख्या अधिक होना। लेकिन ज्यादातर वाहन सपाट और नई सड़क होने के कारण स्पीड लिमिट का पालन नहीं करते।
- अमूमन 70-80 की स्पीड से वाहन गुजरते हैं। इसीलिए यहां लगातार हादसे हो रहे हैं। लेकिन पुलिस, परिवहन और लोक निर्माण विभाग ने न तो यहां स्पीड लिमिट का पालन कराने के लिए कोई अमला तैनात किया और न ही क्रॉसिंग पर ब्रेकर बनाए गए हैं। सड़क भी संकरी है। 24 अक्टूबर को हुए सड़क हादसे में पुलिस की लॉरी से टक्कर लगने की वजह से एक बच्चे की मौत हो गई थी।

X
It was said to return to the sons birthday early, now it has happened
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..