Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Jyotiraditya Son Mahanaaryaman Is Celebrating His Birthday

इस राजघराने के प्रिंस को पसंद है राजनीति, कभी CM शिवराज को दिया था जवाब

17 नंबवर को ज्योतिरादित्य महाआर्यमान के बेटे 22 साल के हो गए हैं।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 18, 2017, 03:43 AM IST

ग्वालियर। माधवराव सिंधिया के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया और अब ग्वालियर राजपरिवार के प्रिंस महाआर्यमन भी राजनीति में आने के लिए तैयार हैं। वे अमेरिका में अपनी स्टडी कर चुके हैं। 17 नंवबर को ज्योतिरादित्य के बेटे 22 साल के हो गए। इस मौके पर DainikBhaskar.com आपको बता रहा है ग्वालियर के राजघराने के प्रिंस के बारे में। सीएम शिवराज पर ट्वीट पर दिया जवाब...

- शिवराज चौहान के सिंधिया परिवार को लेकर दिए बयान पर महाआर्यमन ने फेसबुक पर लिखा था कि मैं राजनीतिक समझ नहीं रखता, पर दूसरों पर आरोप लगाने वाले लोग पहले अपना इतिहास देख लें।
- ज्योतिरादित्य सिंधिया और प्रियदर्शिनी के बेटे महाआर्यमन की स्कूलिंग देहरादून के दून स्कूल से हुई है। उन्होंने अमेरिका के शिकागो की येल यूनिवर्सिटी से ग्रैजुएशन किया है। जब भी महाआर्यमन ग्वालियर आते हैं तो वे लोगों के बीच जाते हैं। साथ ही, पिछले चुनाव में वे प्रचार में दिखाई दिए। वे ग्वालियर की जनता के बीच काफी लोकप्रिय हैं।
- महाआर्यमन अपने मां के बेहद करीब हैं। वे अपनी सारी बातें उनसे शेयर करते हैं, वहीं पिता के साथ भी उनका दोस्ताना रिश्ता है।

बुआ दादी हैं सीएम तो दादा थे सेंट्रल मिनिस्टर

महाआर्यमन की बड़ी बुआ दादी वसुंधरा सिंधिया राजस्थान की सीएम हैं तो छोटी बुआ दादी मध्य प्रदेश यशोधरा राजे सिंधिया सरकार में मंत्री हैं। वहीं, उनकी मां बड़ौदा के गायकवाड़ राजघराने से ताल्लुक रखती हैं। ज्योतिरादित्य के साथ उनकी शादी 12 दिसंबर 1994 को ज्योतिरादित्य सिंधिया से हुआ।

कर चुके हैं चुनाव प्रचार

- 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में महाआर्यमन अपने पिता ज्योतिरादित्य के लिए चुनाव प्रचार कर चुके हैं। चुनाव प्रचार के लिए उन्होंने कई रैलियां की, साथ ही वोटिंग के लिए जनता से अपील भी की।

- चुनाव प्रचार के दौरान कई बार उन्हें जनता रोक लेती थी। ऐसे समय वे रुककर लोगों से बात करते थे। लोगों का कहना था कि वे काफी मिलनसार हैं।

आगे की स्लाइड्स में देखें फोटोज...

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×