• Home
  • Mp
  • Gwalior
  • Kolhapur farmer special train ran on Gwalior track rather than Ratlam
--Advertisement--

रतलाम के बजाय ग्वालियर ट्रैक पर दौड़ा दी कोल्हापुर किसान स्पेशल ट्रेन

किसानों ने दो घंटे तक हंगामा किया। किसानों का कहना था कि ट्रेन को गलत ट्रैक पर ले जाया जा रहा है।

Danik Bhaskar | Nov 23, 2017, 07:48 AM IST

मुरैना (ग्वालियर). नई दिल्ली से कोल्हापुर केे लिए 2500 से अधिक किसानों को लेकर रवाना हुई ट्रेन को मथुरा-कोटा-रतलाम ट्रैक के बजाय आगरा होते हुए ग्वालियर-भोपाल ट्रैक पर दौड़ा दिया। ट्रेन जब मुरैना से 20 किमी दूर बानमोर स्टेशन पर पहुंची तो इसमें सवार किसानों ने दो घंटे तक हंगामा किया। किसानों का कहना था कि ट्रेन को गलत ट्रैक पर ले जाया जा रहा है।

- इसके बाद ट्रेन को गलत ट्रैक पर दौड़ाने की बात तेजी से फैल गई। किसानों को समझाकर ट्रेन को भोपाल-इटारसी रूट से कोल्हापुर रवाना किया गया। इस संबंध में भास्कर ने झांसी रेल मंडल के सीपीआरआई प्रदीप सुडेले से बात की तो उन्होंने इस पूरे मामले में आगरा मंडल की चूक मानी।

- उधर शाम तक मामला बढ़ता देख रेल मंत्रालय केे प्रवक्ता अनिल कुमार सक्सेना ने सफाई देते हुए कहा कि-कोई गलती नहीं हुई है, सोच-समझकर ही इस ट्रेन का रूट बदला गया है।

160 किमी और 13 स्टेशन के बाद पता चला, मथुरा में रात को अचानक बदला था ट्रैक
- दिल्ली से रैली में शामिल 2500 से अधिक किसानों को कोल्हापुर ले जाने के लिए रवाना हुई स्पेशल ट्रेन रात 2.30 बजे मथुरा पहुंची। 2.55 मिनट पर रेलवे केे अधिकारियों ने बिना सूचना दिए ट्रेन का रास्ता बदलकर ग्वालियर के लिए रवाना कर दिया।

- 13 छोटे-बड़े स्टेशनों के बीच 160 किमी चलने के बाद ट्रेन सुबह 6.10 बजे बानमोर पहुंची। इसके बाद झांसी मंडल में बैठे कंट्रोलर से जब सिग्नल नहीं मिला तो ट्रेन को लूप लाइन में खड़ा कर दिया गया।

- सुबह जब किसान जागे तो उन्होंने नीचे उतरकर हंगामा शुरू कर दिया। तकरीबन दो घंटे तक किसान ऊधम मचाते रहे। इस दौरान ट्रैक को बाधित करने का प्रयास भी किया। आरपीएफ-जीआरपी जवानों ने उन्हें समझा-बुझाकर ट्रेन ग्वालियर से भोपाल-इटारसी होते हुए कोल्हापुर के लिए रवाना की गई।

- रेलवे प्रशासन ने उपलब्ध रूट के हिसाब से बेस्ट रूट चुना। इसमें कोई लापरवाही या सिग्नल की चूक नहीं है। किसान जिस रूट से आए थे, वह बदलने से गलतफहमी हो गई। इसके बाद अफवाह उड़ गई कि ट्रेन गलत ट्रैक पर चला दी गई। इस ट्रेन के लिए महाराष्ट्र के मिराज, करद, मनमाड़ व कोल्हापुर स्टेशन की डिमांड की गई थी। भोपाल-इटारसी वाले ट्रैक से जाने पर भी यह स्टेशन पड़ते हैं।
-अनिल कुमार सक्सेना, प्रवक्ता रेलवे बोर्ड

- कोल्हापुर जा रही स्पेशल ट्रेन को मथुरा से कोटा-रतलाम ट्रैक पर डायवर्ट करना था लेकिन आगरा मंडल की गलती से ट्रेन बानमोर तक आ गई। इसके बाद ट्रेन को बीना ट्रैक से कोल्हापुर के लिए रवाना किया गया।
-प्रदीप सुडेले, सीनियर पीआरआई झांसी मंडल