• Home
  • Mp
  • Gwalior
  • Sir! My daughter was murdered, still SDOP is saying - why are all trapped
--Advertisement--

साहब! मेरी बेटी की हत्या की गई, फिर भी एसडीओपी कह रहे- सभी को क्यों फंसा रहे हो

एसपी ने एसडीओपी गोहद को मामले में कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। इस अवसर पर अन्य लोग उपस्थित थे।

Danik Bhaskar | Nov 22, 2017, 07:50 AM IST

भिंड (ग्वालियर). साहब, मेरी बेटी को ससुराल बालों ने दहेज के लिए मार डाला और एसडीओपी गोहद कह रहे हैं सभी लोगों को क्यों फंसा रहे हो। यह गुहार सिकरोदा निवासी जसवंत सिंह पुत्र महेंद्र सिंह ने मंगलवार को जनसुनवाई के दौरान एसपी प्रशांत खरे से कही। एसपी ने एसडीओपी गोहद को मामले में कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। इस अवसर पर अन्य लोग उपस्थित थे।


- शहर के वार्ड क्रमांक 21 बायपास रोड निवासी संदीप करोसिया (30) पुत्र मोहनलाल करोसिया ने एसपी को बताया कि 12 दिसंबर 2015 को उनकी शादी हिंदू रीति रिवाज से बाराहेट निवासी नीलम (22) पुत्री बादाम सिंह से हुई थी। नौ अक्टूबर को मेरे एक बेटा हुआ। इसके बाद मेरी पत्नी बच्चे को लेकर अपने मायके चली गई।

- वहीं मेरा ससुर बादाम सिंह, सास रीना तथा पत्नी का मामा प्रमोद भी मुझे धमकी दे रहे हैं। वे कहते हैं लड़की को मारकर तुम्हारे नाम एफआईआर करा देंगे। एसपी ने मामला परिवार परामर्श केंद्र में भेजने के निर्देश दिए हैं।

- वहीं बनी का पुरा निवासी महावीर पुत्र चंद्रभान सिंह कुशवाह ने बताया कि चंद्रभान सिंह की 15 मार्च को रात के समय गला दबाकर हत्या कर दी गई। गोरमी पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर लिया। लेकिन अब तक उसमें कोई कार्रवाई नहीं हुई है।
- आंगन में आकर मुझे पीटा, पावई पुलिस नहीं लिख रही रिपोर्ट: रिदौली का पुरा निवासी महाराज सिंह पुत्र छविराम जाटव ने एसपी प्रशांत खरे से शिकायत की कि सोमवार को शाम पांच- छह बजे के बीच जब वह अपने घर के आंगन में बैठकर खाना खा रहे थे। तभी मौजीराम बघेल और उनका लड़का रामराज बघेल आए। साथ ही उनके साथ मारपीट शुरू कर दी। जब वे मामले की शिकायत करने पहुंचे तो उनकी रिपोर्ट नहीं लिखी गई।

- एसपी ने मामले में कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। सुंदरपुरा निवासी बलराम पुत्र कसोले ने पुलिस को बताया कि उनके गांव में शासकीय मरघट में खड़ा नीम का पेड़ काट लिया। उन्होंने डायल-100 पर शिकायत की। इस पर गांव के चतुर सिंह व जीत सिंह झगड़ा करने को अमादा हो गए। उन्होंने मामले में कार्रवाई की मांग की है। एसपी ने एसएचओ लहार को मामले की जांच कर कार्रवाई के लिए कहा है।

मेडिकल बोर्ड से मेडिकल कराने की मांग
- मुरलीपुरा निवासी कलावती जाटव ने एसपी से शिकायत की कि उसके पति हरिशचंद्र ने उसे छोड़ दिया है। साथ ही जमीन भतीजे माधौ सिंह व प्लॉट रणवीर जाटव की पत्नी सुबिद्रा के नाम कर दी है। जब इस प्लॉट के संबंध में चर्चा हो रही थी।

- तभी रणवीर जाटव, माधौ सिंह व बलवीर मेरे भतीजे विशंभर व नाती विजय सिंह एवं राधाकृष्ण भिंड गए और भतीजे विशंभर बगैरा को कुल्हाड़ी व लाठियों से मारपीट कर चोटें पहुंचाई, जिसकी रिपोर्ट प्रार्थी के भतीजे विशंभर ने की। वहीं रणवीर ने झूठा मुकद्दमा दर्ज करा दिया।

- जबकि उसके कोई चोट नहीं आई। उन्होंने रणवीर और हरीराम जाटव का मेडिकल बोर्ड से मेडिकल कराने की मांग की है। एसपी ने मामले में कार्रवाई के लिए आश्वासन दिया है।

190 लोगों ने लगाई गुहार
- मंगलवार को कलेक्टोरेट में आयोजित जनसुनवाई में अपर कलेक्टर ने 190 लोगों की फरियाद सुनी। अपर कलेक्टर टीएन सिंह ने नागरिकों से विभिन्न प्रकार के आवेदनों पर संबंधित विभागीय अधिकारियों को भेजने की अनुशंसा की।

- उन्होंने जनसुनवाई के दौरान बीपीएल सूची में नाम जुड़वाने, राशनकार्ड, बीमारी से पीड़ित इलाज, विद्युत बिलों में सुधार, हैंडपंपो के संधारण, पेंशन, सड़क दुर्घटना सहायता, हितग्राही मूलक योजनाओं में बैंक ऋण, भूमि पर कब्जा, महिला-पुरुष के लड़ाई-झगडे -मारपीट, श्रमिक कार्ड, आदि से संबंधित आवेदनों पर गंभीरता होकर कार्रवाई करने के लिए कहा। इस अवसर पर जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी एमएस अम्ब, डीपीसी संजीव शर्मा, सहायक यंत्री विद्युत कंपनी डीआर साहू सहित विभिन्न विभागों के अफसर मौजूद थे।