--Advertisement--

शाम को जॉब का कहकर निकला था घर से, थोड़ी देर बाद आई ये बुरी खबर

बेटा पिता की हेल्प करने एक नर्सिंग होम में रिसेप्शनिस्ट के नौकरी कर रहा था।

Danik Bhaskar | Nov 25, 2017, 02:18 AM IST

ग्वालियर (मध्यप्रदेश). शहर के एक परिवार पर उस वक्त पहाड़ टूट गया जिस वक्त जवान लड़के की मौत की खबर मिली। बेटा पिता की हेल्प करने एक नर्सिंग होम में रिसेप्शनिस्ट के नौकरी कर रहा था। बेटे ने तेजाब पीकर अपनी जान दे दी। उसने ये आत्मघाती कदम नर्सिंग होम में उठाया था। पिता से जब पूछा क्यों कि तो रोेने लगे...

- दरअसल,पाटनकर बाजार पर बने नर्सिंग होम के रिसेप्शनिस्ट अमित वर्मा ने तेजाब पीकर जान दे दी।पुलिस ने रिसेप्शनिस्ट के पिता मातादीन वर्मा से पूछा आखिर उसने ऐसा क्यों किया होगा तो वह फूट-फूटकर रो पड़े।

- पुलिस सुसाइड की वजह पता कर रही है। घटना गुरुवार की रात लगभग 10 बजे की है। पुलिस ने सुसाइड की वजह जानने के लिए मृतक के फ्रेंड्स से पूछा लेकिन उनसे कुछ खास क्लू मिला नहीं।

- पुलिस के मुताबिक, कमल सिंह का बाग में रहने वाले अमित वर्मा प्राइवेट आईटीआई का स्टूडेंट था। इसके साथ ही वह पाटनकर बाजार में बने शांता नर्सिंग होम में रिसेप्शनिस्ट का काम भी करता था।

- गुरुवार की शाम 5 बजे वह नर्सिंग के लिए गया था। रात लगभग 10 बजे नर्सिंग होम से उसके पिता मातादीन के पास फोन आया कि अमित की तबीयत खराब हो गई है।

- इसके बाद वह नर्सिंग होम पहुंचे और यहां से अमित को पास ही के हॉस्पिटल लेकर गए, जहां कुछ देर इलाज के बाद तड़के 3 बजे मौत हो गई।

पुलिस ने पूछा, उसने ऐसा क्यों किया, पिता रो पड़े

- जेएएच में सुबह पोस्टमार्टम हाउस पर पुलिस भी पहुंच गई थी। यहां पर पुलिस ने जांच पड़ताल करने के साथ ही अमित के पिता मातादीन से पूछा कि उसने आखिर ऐसा कदम क्यों उठाया होगा। यह सुनते ही पिता रो पड़े।

- कुछ देर बाद संभले और पुलिसकर्मियों को बताया कि पता नहीं ऐसा क्यों किया होगा। अमित, मातादीन का इकलौता बेटा था। मातादीन टेलर हैं और अमित के अलावा उनके यहां दो बेटियां भी हैं।

- अमित के फूफा मोतीलाल का कहना है कि वह पढ़ने में होनहार था और पिता की हेल्प के लिए वह पाटनकार बाजार बने निजी नर्सिंग होम में दो महीने से नौकरी करने के लिए जाने लगा था।

आगे की स्लाइड्स में देखें खबर से जुड़ीं PHOTOS...