Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» The VC Removed The Car, The Registrar Came From Rikshi, One-Way Relief

वीसी ने गाड़ी छीनी तो रिक्शे से आए रजिस्ट्रार, एक तरफा किया रिलीव

राजामान सिंह तोमर संगीत एवं कला विवि की कुलपति प्रो. लवली शर्मा के बीच विवाद और गहरा गया है।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 11, 2017, 07:32 AM IST

वीसी ने गाड़ी छीनी तो रिक्शे से आए रजिस्ट्रार, एक तरफा किया रिलीव
ग्वालियर.राजामान सिंह तोमर संगीत एवं कला विवि की कुलपति प्रो. लवली शर्मा के बीच विवाद और गहरा गया है। रजिस्ट्रार राकेश चौहान द्वारा गुरुवार को संस्कृति विभाग के पीएस को परीक्षा प्रभारी के खिलाफ वित्तीय अनियमितता को लेकर पत्र लिखा था। रजिस्ट्रार ने पत्र में लिखा था कि रिटायर्ड अधिकारी को परीक्षा प्रभारी का चार्ज दिए जाने पर वित्तीय गड़बड़ी की आशंका है। इस बात से नाराज होकर कुलपति ने शुक्रवार को रजिस्ट्रार की गाड़ी छिनवा ली।
- इससे रजिस्ट्रार राकेश चौहान सुबह विवि ई-रिक्शा से विवि पहुंचे। इसके बाद वह सीधे कुलपति के चेंबर में पहुंचे। विवि द्वारा दी गई गाड़ी को छीनने पर दोनों के बीच कहा सुनी हो गई। इस बात से नाराज कुलपति ने रजिस्ट्रार को एक तरफा रिलीव कर दिया।
- वीसी ने कहा बिना अनुमोदन के कैसे भेजे पत्र: रजिस्ट्रार की वीसी से बहस सुबह के समय हुई जब वह ई-रिक्शा से विवि पहुंचे। रजिस्ट्रार कुलपति के चेंबर में पहुंच गए। यहां वित्त नियंत्रक अजय शर्मा व परीक्षा प्रभारी उमाशंकर कुलश्रेष्ठ मौजूद थे।
- रजिस्ट्रार से कुलपति ने कहा कि बिना उनकी अनुमति के शासन को बार-बार पत्र क्यों लिख रहे हो। रजिस्ट्रार का कहना था कि विवि में होने वाली गड़बड़ियों से शासन को अवगत कराना उनकी जिम्मेदारी है। वीसी ने कर्मचारी से पत्र टाइप कराकर रजिस्ट्रार को एक तरफा रिलीव करने के आदेश जारी कर दिए।
- गौरतलब है कि दो साल पहले जेयू की कुलपति प्रो. संगीता शुक्ला व डीआर सरिता चौहान के बीच विवाद होने पर कुलपति ने एक तरफा कर दिया था।
छात्र बोले- विवि को अफसरों ने बना दिया है अखाड़ा
- संगीत विवि की कुलपति व रजिस्ट्रार के बीच पिछले तीन माह से चल रहे विवाद से आहत हैं। छात्रों का कहना है कि दोनों अफसरों की लड़ाई से संगीत विवि अखाड़ा बन गया है। यहां अब संगीत के सुर कम लड़ाई के ज्यादा सुनाई देते हैं।
- अफसरों के बीच इस तरह विवाद होने से प्रोफेसर व कर्मचारी भी डरे सहमे हुए हैं। क्योंकि कर्मचारी व प्रोफेसरों पर गुटबाजी के आरोप लग रहे हैं। छात्रों का कहना है कि विवि का माहौल खराब होने के कारण विवि की छवि धूमिल हुई है।
रिलीव का अधिकार नहीं
- रजिस्ट्रार की नियोक्ता शासन है इसलिए शासन को ही रिलीव करने का अधिकार है। कुलपति रिलीव करने के लिए अनुशंसा कर सकती हैं। कुलपति के पास इसका अधिकार नहीं है।
डॉ. डीएस चंदेल, पूर्व रजिस्ट्रार, संगीत विवि
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×