Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Two Brothers In Jail For Two Years Will Be Released

रेप पीड़िता की बेटी का नहीं मिला डीएनए सैम्पल, 2 साल से जेल में बंद दो भाई होंगे रिहा

दुष्कर्म के केस में दो साल से जेल में बंद दो भाइयों को न्यायाधीश एके त्रिपाठी ने सोमवार को बरी कर दिया।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 14, 2017, 07:31 AM IST

रेप पीड़िता की बेटी का नहीं मिला डीएनए सैम्पल, 2 साल से जेल में बंद दो भाई होंगे रिहा
शिवपुरी(ग्वालियर). दुष्कर्म के केस में दो साल से जेल में बंद दो भाइयों को न्यायाधीश एके त्रिपाठी ने सोमवार को बरी कर दिया। कोर्ट ने यह फैसला आरोप लगाने वाली महिला की बच्ची के डीएनए टेस्ट की रिपोर्ट का मिलान दोनों भाइयों के डीएनए से न होने के आधार पर सुनाया।
- दो साल पहले एक महिला ने अतर सिंह उर्फ बंटी रावत आैर गजेंद्र रावत पर दुष्कर्म का अारोप लगाया था। महिला का कहना था कि वह दुष्कर्म के कारण गर्भवती हुई थी। जो बेटी पैदा हुई है वह इन्हीं दोनों से किसी की है।
- जानकारी के अनुसार अक्टूबर-2015 को एक महिला ने अतर सिंह उर्फ बंटी रावत और गजेंद्र रावत दोनों पुत्र मेघ सिंह रावत के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया था।
दुष्कर्म पीड़िता की बेटी का नहीं मिला डीएनए सैम्पल, 2 साल से जेल में बंद दो भाई होंगे रिहा...
पुलिस ने दोनों भाइयों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया, तभी से दोनों युवक जेल में बंद थे। इसके बाद उस महिला ने एक बच्ची का जन्म दिया। डीएनए जांच भिन्न होने पर न्यायालय ने अतर सिंह और गजेंद्र दोनों को दोषमुक्त कर बरी कर दिया।
कोर्ट रूम लाइव-पीड़िता को क्यों भटकाया गया...
पुलिसकर्मियों- डॉक्टरों पर सख्ती
पूछा... पीड़िता को एक थाने से दूसरे थाने तक क्यों भटकाया

हाईकोर्ट ने सरकार को उन पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की स्टेटस रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए जिन्होंने पीड़िता की शिकायत पर एफआईआर नहीं दर्ज की। उसे एक थाने से दूसरे थाने तक भटकाया। कोर्ट ने सरकार को इस मामले में दो सप्ताह में रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए। हाईकोर्ट ने उन डॉक्टर्स के खिलाफ की कई कार्रवाई की रिपोर्ट भी पेश करने के निर्देश दिए जिन्होंने पीड़िता की जांच रिपोर्ट तैयार करने लापरवाही बरती। अगली सुनवाई 27 नवंबर को होगी।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×